Breaking News
सरकार ने लोकसभा में कहा एनआरसी लागू करने की अभी कोई योजना नही  |   शाहीन बाग में गोली चलाने वाले कपिल गुर्जर की आप नेताओ के साथ फोटो  |   भारत लाये गए चीनी युवक पूरी तरह सुरक्षित कोई संक्रमण नही  |   दिल्ली चुनाव प्रचार में प्रधानमंत्री मोदी भी उतरे  |   जनार्दन द्विवेदी के बेटे समीर भाजपा में हुए शामिल  |  
हमारा प्रदेश
»»
*नि:शुल्क बोरिंग के साथ जरूरी होगा ड्रिप या स्प्रिंकलर: मुख्यमंत्री
नि:शुल्क बोरिंग के साथ जरूरी होगा ड्रिप या स्प्रिंकलर: मुख्यमंत्री* *सरफेस वाटर से होने वाली सिंचाई में भी ड्रिप एवं स्प्रिंकलर को दें बढ़ावा : योगी* *सीएम ने दिया सिंचाई की इन दक्ष विधाओं का लक्ष्य चौगुना करने का निर्देश* *07 जनवरी, लखनऊ* : अगर आपको नि:शुल्क बोरिंग योजना का लाभ लेना है तो साथ में ड्रिप या स्प्रिंकलर सिंचाई की शर्त भी पूरी करनी होगी। यह भी संभव है कि कृषि और उद्यान विभाग जो डिमांस्ट्रेशन करता है उसमें भी यह एक अनिवार्य शर्त हो। सरकार शीघ्र ही कैबिनेट में इस बाबत प्रस्ताव ला सकती है। मंगलवार को यहां लोकभवन में ड्रिप और स्प्रिंकलर सिंचाई योजना के प्रस्तुतीकरण के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भूगर्भ जलस्तर को बढ़ाने और अपनी नदियों को सदानीरा बनाने के लिए जलसंरक्षण समय की मांग है। ताजे पानी का अधिकांश हिस्सा फसलों की सिंचाई में खर्च होता है। सिंचाई की परंपरागत विधा की जगह अगर सिंचाई की इन दक्ष विधाओं का प्रयोग किया जाए तो कई लाभ होंगे। मसलन पानी बचेगा, सिंचाई की लागत घटेगी, समान रूप से नमी मिलने पर पौधों का जमता, बढ़वार और उपज बढ़ेगी। इससे किसानों की आय में वृद्धि होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि ड्रिप और स्प्रिंकलर को सिर्फ बोरिंग के साथ ही नहीं, सरफेस वाटर से होने वाली सिंचाई से भी जोड़ें। अभी जो 55 हजार हेक्टेयर का लक्ष्य है उसे बढ़ाकर दो लाख कर दें। जरूरत पड़ी तो प्रदेश सरकार भी इसके लिए पैसा देगी।
खरी खरी
समझ आया बजट?
समझ आया बजट? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार की महिला वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने आम बजट पेश किया तो कई तरह के सवाल थे? दशक का पहला बजट किसको राहत देगा? आम आदमी को? बड़े घरानों को, उद्योग जगत को? या फिर अर्थव्यवस्था को? करीब पौने तीन घंटे बाद वित्तमंत्री जब स्वास्थ्य की वजह से कुछ असहज हुईं तो लगा निर्मला बजट से सहानुभूति तो हो सकती है। कोई उत्साह नही हो सकता। शेयर बाजार इसी सेंटिमेंट की वजह से लुढ़का। हां ये सुकून जरूर कि टैक्स का और बोझ नही बढ़ा। राहत के नाम पर विकल्प मिला है। टटोलने के लिए। मोदी सरकार ने मुख्यत: तीन बातों पर फोकस किया है। वित्त मंत्री ने खुद कहा आकांछा का भारत, आर्थिक विकास और केअरिंग सोसाइटी। लेकिन बजट में इसका ठोस मॉडल नही दिखता। विपक्ष ने इसे लिप सर्विस बजट कहा। किसी ने इसे ड्रीम बजट कहा। सत्ता पक्ष ने इसकी सराहना की। लेकिन ज्यादातर लोगों का सवाल यही है बजट समझ आया। दरअसल आंकड़ों की बाजीगरी गजब होती है। जैसा चाहिए व्याख्या कीजिये
»»
सियासी हलचल
»»
एनयूजेआई-डीजेए की मांग, नेशनल जर्नलिस्ट्स रजिस्टर बनाए केंद्र सरकार
एनयूजेआई-डीजेए की मांग, नेशनल जर्नलिस्ट्स रजिस्टर बनाए केंद्र सरकार नई दिल्ली। नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स इंडिया की राष्ट्रीय कार्य समिति की जयपुर बैठक में केंद्र सरकार से नेशनल जर्नलिस्ट्स रजिस्टर बनाने की जोरदार मांग की गई। इस बैठक में एनयूजेआई के पूर्व अध्यक्ष रास बिहारी ने केंद्र सरकार से नेशनल जर्नलिस्ट्स रजिस्टर बनाने की मांग करते हुए कहा कि इससे कानूनी तौर पर पत्रकार की परिभाषा तय हो सकेगी। उन्होंने कहा कि नेशनल जर्नलिस्ट्स रजिस्टर बनने से सभी पत्रकारों का रिकॉर्ड बन जायेगा और किसी पत्रकार द्वारा फर्जीवाड़ा करने की सूरत में उसे बाहर निकाला जा सकेगा।
गोरखपुर के साथ-साथ पूर्वांचल के विकास का बैकबोन बनेगा लिंक एक्सप्रेसवे : योगी आदित्यनाथ
गोरखपुर के साथ-साथ पूर्वांचल के विकास का बैकबोन बनेगा लिंक एक्सप्रेसवे : योगी आदित्यनाथ* • *मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे के लिए जमीन देने वाले किसानों को सम्मानित किया* • *सीएम ने कहा - दो साल पहले गोरखपुर में एयर कनेक्टिविटी नहीं थी, आज 8 फ्लाइट उड़ रही हैं* • *मुख्यमंत्री ने आभार जताते हुए कहा कि जमीन देने वाले किसानों के पूर्वजों की आत्मा को भी शांति मिलेगी* • *योगी आदित्यनाथ ने कहा कि समाज का हर व्यक्ति जब सकारात्मकता से आगे आएगा तो विकास होगा* *गोरखपुर, 18 जनवरी।* मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से गोरखपुर को जोड़ने वाले लिंक एक्सप्रेस-वे के लिए जमीन देने वाले किसानों को सम्मानित करते हुए कहा कि यह लिंक एक्सप्रेसवे गोरखपुर के साथ-साथ पूर्वांचल के विकास का बैकबोन बनेगा। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के निर्माण का कार्य भी युद्ध स्तर पर जारी है। इसी साल के आखिर में मुख्य मार्ग को यातायात के लिए खोल दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि 2 साल पहले गोरखपुर में एयर कनेक्टिविटी तक नहीं थी, आज 8 हवाई जहाज यहां से उड़ान भर रहे हैं।
साक्षात्कार
मैं सख्त हूं, अनुशासित हूं, पर मैं किसी को नीचा दिखाकर काम नहीं करता : मोदी
नई दिल्ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार के साथ अनौपचारिक बातचीत में कई दिल के राज खोले। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने बचपन की यादों से लेकर गुस्से पर नियंत्रण पाने, पारिवारिक रिश्तों और जिंदगी के फलसफे पर दिल खोलकर बातें की। पीएम मोदी ने बताया कि राजनीति में आने और फिर प्रधानमंत्री बन जाने का सपना उन्होंने कभी नहीं देखा था। उन्होंने कहा मैं ऐसे परिवार से आता हूं कि मुझे छोटी-मोटी कोई नौकरी मिल जाती तो भी मेरी मां सबको गुड़ खिला देती। मैं कभी-कभी आश्चर्य करता हूं कि देश ने मुझे इतना ह्रश्वयार कैसे दिया। पीएम मोदी ने अपने पढऩे के शौक और सेना में जाने के सवाल पर कहा बचपन में मुझे किताबें पढऩे का शौक था, गांव की लाइब्रेरी में जाकर पढ़ता था।
इंस्पेक्टर बनना चाहती थी सपना
स्टेज कार्यक्रमों से शुरूआत करने वाली सपना चौधरी आज किसी पहचान की मोहताज नहीं हैं। सपना के पास स्टारडम है, पैसा है, फैन फॉलोइंग है। बॉलीवुड से लेकर भोजपुरी सिनेमा तक सपना की चर्चा है पिछले तीन साल में उन्होंने जो कुछ हासिल किया है वह किसी सपने से कम भी नहीं है।
»»
कारोबार / गैजेट्स
» »
पर्यावरण
»»
पर्यावरण संरक्षण हेतु जनभागीदारी अति महत्वपूर्ण है: लोक सभा अध्यक्ष
नई दिल्ली, 5 अक्टूबर 2019 : आज लोक सभा अध्यक्ष श्री ओम बिरला ने नई दिल्ली स्थित कांस्टीट्यूशन क्लब में रोटरी क्लब ऑफ़ दिल्ली हेरिटेज द्वारा आयोजित 'Save Earth' कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर भाग लिया। श्री बिरला ने अपने अभिभाषण में कहा कि विश्व पर्यावरण संरक्षण हेतु भारत ने व्यापक प्रयास किये है और रोटरी क्लब ऑफ़ दिल्ली हेरिटेज द्वारा भी स्वच्छता और पर्यावरण संरक्षण को ध्यान रखते हुए सिंगल यूस प्लास्टिक को प्रतिबंधित करना और “जूट के थैलों” के उपयोग की पहल करना अत्यंत सराहनीय है।
*वन, पर्यटन, सांस्कृतिक समेत सम्बंधित विभाग मिलकर कार्य करें तो वन्य जीवों के संरक्षण में महत्वपूर्ण योगदान हो सकता है : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*
वन, पर्यटन, सांस्कृतिक समेत सम्बंधित विभाग मिलकर कार्य करें तो वन्य जीवों के संरक्षण में महत्वपूर्ण योगदान हो सकता है : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ* • *मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वन्यजीव संरक्षण जागरूकता मोबाइल ऐप का शुभारंभ किया* • *योगी ने कहा - प्राचीन भारतीय परंपरा ने सदैव ही जैव विविधता को सम्मान दिया है* *4 अक्टूबर, लखनऊ।* मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को लखनऊ के इन्दिरा गाँधी प्रतिष्ठान में वन्यजीव संरक्षण जागरूकता मोबाइल ऐप का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि अगर वन विभाग, पर्यटन विभाग, सांस्कृतिक विभाग समेत सभी सम्बंधित विभाग आपस में मिलकर के कार्य करेंगे तो जैव विविधता और वन्य जीवों के संरक्षण में एक महत्वपूर्ण योगदान हो सकता है। इस मौके पर वन्य जीव सप्ताह- 2019 के विजेताओं को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सम्मानित भी किया।
लाइफस्टाइल
»»
गुरुग्राम विवि में ‘फिट इंडिया’ कैंपेन का लाइव प्रसारण
गुरुग्राम विश्वविद्यालय में यूजीसी के निर्देश के मुताबिक राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर फिट इंडिया कैंपेन की जागरूकता के लिये कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान जगह-जगह फिट इंडिया अभियान के बैनर और पोस्टर लगाये गये।
हृदय रोगियों के लिए ट्रांसकेथेटर एरोटिक वाल्व रिह्रश्वलेसमेंट लाभप्रद : डॉ. सिंह
गुरुग्राम आंकड़ें बताते हैं कि एरोटिक स्टेनोसिस के आधे मरीज समय पर उपचार के अभाव में दो वर्ष से अधिक नहीं जी पाते हैं। क्रिटिकल एरोटिक स्टेनोसिस के मरीजों में कार्डियेक अरेस्ट की संभावना भी बढ़ जाती है और मात्र तीन प्रतिशत मरीज ही पांच वर्ष जी पाते हैं। अध्ययन बताते हैं कि ट्रांसकेथेटर एरोटिक वाल्व रिह्रश्वलेसमेंट इस दिशा में एक नई उम्मीद के रूप में उभरा है।
अपराध
» »
कमलेश तिवारी हत्याकांड: योगी से मिला परिवार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से रविवार को उनके सीएम आवास पर मुलाकात के बाद कमलेश तिवारी के परिवार ने नाखुशी जाहिर की। कमलेश तिवारी की मां कुसुम तिवारी, पत्नी किरण तिवारी और दोनों बेटों के साथ ही हिन्दू समाज पार्टी के एक प्रतिनिधि को उनके पैतृक गांव सीतापुर से मुख्यमंत्री से मुलाकात के लिए दोपहर बाद लाया गया। कुसुम तिवारी ने सीतापुर में मीडिया से कहा- “मैं वहां पर उनसे (सीएम) यह पूछने गई थी कि क्यों मेरे बेटे की हत्या की गई? क्यों उनकी सुरक्षाC घटाई गई? उन्होंने यह जवाब दिया कि वे जिस वक्त ये घटना हुई, यहां पर नहीं थे।
पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद मामले में गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) ने बुधवार को कथित पीड़िता का चिकित्सीय परीक्षण कराया।
आस्था से जुड़े नीम की पेड़ की डाल काटी पेड़ की डाल काटने पर दो समुदायों में तनाव ताजियादारों के डाल काटने पर हुई झड़प सीओ समेत भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा दोनों पक्षों को समझाकर मामला शांत कराया कोखराज के भरवारी नगर पालिका का मामला
CopyRight 2016 DanikUp.com
Back to top