खत्म होगी अखिलेश और राजभर के बीच की दूरी? 16 जुलाई को हो सकता है फैसला

0
181

विधानसभा चुनाव में पराजय को लेकर परस्पर अनबन के बीच समाजवादी पार्टी (सपा) के सहयोगी दल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) ने कहा कि वह अगले हफ्ते होने वाले राष्ट्रपति चुनाव पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव से मुलाकात के बाद 16 जुलाई को फैसला करेगी। हालांकि इसी बीच, सपा के प्रवक्ता उदयवीर सिंह ने पार्टी अध्यक्ष और सुभासपा के नेताओं के बीच ऐसी कोई भी मुलाकात तय नहीं होने का दावा कर दोनों दलों के बीच पैदा हुई दूरियां खत्म होने की अटकलों का पटाक्षेप कर दिया। सुभासपा के मुख्य प्रवक्ता अरुण राजभर ने बताया, सुभासपा प्रमुख ओम प्रकाश राजभर जल्द (सपा प्रमुख) अखिलेश यादव से मिलेंगे। आज (मंगलवार) की प्रेस कॉन्फ्रेंस रद्द कर दी गई है।

प्रवक्ता ने बताया, सपा के वरिष्ठ नेता उदयवीर सिंह ने कहा था कि अखिलेश यादव एक-दो दिनों में उनसे मिलेंगे। लेकिन, अचानक मुलायम सिंह यादव की पत्नी साधना यादव के निधन के बाद सपा प्रमुख की पारिवारिक व्यस्तता की वजह से मुलाकात नहीं हुई, इसलिए प्रेस कॉन्फ्रेंस रद्द कर दी गई। उन्होंने कहा, राष्ट्रपति चुनाव को लेकर अखिलेश यादव के साथ बैठक करने के बाद 16 जुलाई को लखनऊ में संवाददाता सम्मेलन होगा।” हालांकि, अरुण राजभर जिन उदयवीर सिंह का नाम लेकर यह दावा कर रहे थे, उन्होंने ही ट्वीट कर ऐसी किसी भी मुलाकात तय होने से इनकार किया है।

सिंह ने कहा, ना ऐसी कोई मुलाकात तय हुई है। ना ही सुभासपा की तरफ से समाजवादी पार्टी से या मुझसे मुलाकात के लिए वक्त मांगने की कोई बात हुई है। गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव और हाल में हुए रामपुर तथा आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में सपा की पराजय के बाद सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव पर तल्खी भरी टिप्पणियां की थीं और उन्हें एयर कंडीशनर कमरे में रहकर राजनीति करने वाला वाला नेता बताया था। इसके बाद, यादव ने भी कड़ा रुख अपनाते हुए कहा था कि सपा को किसी की सलाह की जरूरत नहीं है। राजभर पिछले दिनों राष्ट्रपति पद के चुनाव में विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के लखनऊ दौरे के दौरान हुई संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में भी नहीं दिखाई दिए थे। हालांकि, राजभर ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के लखनऊ दौरे के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा आयोजित रात्रि भोज में शिरकत की थी। बहरहाल, सुभासपा प्रमुख के पुत्र और पार्टी प्रवक्ता अरुण राजभर ने कहा, सुभासपा सपा के साथ है और भविष्य में भी साथ रहेगी।

बलिया से प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक मंगलवार को रसड़ा में हुई पार्टी की बैठक के बारे में पूछे जाने पर अरुण राजभर ने कहा, ”पार्टी, संगठन के विस्तार पर चर्चा हुई और सुभासपा प्रमुख ने कहा कि 16 जुलाई तक (अखिलेश यादव के साथ) बैठक होगी, जिसके बाद हम यह स्पष्ट करेंगे कि राष्ट्रपति चुनाव में किसे वोट दिया जाएगा। सुभासपा के अध्यक्ष ने सोमवार को कहा था कि वह सपा प्रमुख अखिलेश यादव से मुलाकात करके पूछेंगे कि विपक्षी दलों के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के कार्यक्रम में उन्हें आमंत्रित क्यों नहीं किया गया।

राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव 18 जुलाई को होना है। मतदान में सुभासपा की भूमिका को लेकर असमंजस बना हुआ है क्योंकि पार्टी प्रमुख ने अब तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं।सुभासपा अध्यक्ष राजभर ने सोमवार को ‘पीटीआई-भाषा’ से बातचीत में कहा था कि वह अखिलेश यादव से मुलाकात करना चाहते हैं जिसके लिए उन्होंने सपा नेता उदयवीर सिंह (अखिलेश यादव के करीबी) से फोन पर बात की और उन्हें अखिलेश से मुलाकात व बातचीत की अपनी मंशा से अवगत कराया। राजभर ने कहा कि वह सपा प्रमुख से मिलकर यह जानना चाहते हैं कि आखिरकार उन्हें विपक्षी दलों के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के कार्यक्रम में आमंत्रित क्यों नहीं किया गया। उन्होंने दावा किया था कि वह 12 जुलाई तक अखिलेश के रुख का इंतजार करेंगे और फिर अपने निर्णय की घोषणा करेंगे।

Previous articleअखिलेश से पूछेंगे कि यशवंत सिन्हा के कार्यक्रम में हमें क्यों नहीं बुलाया : राजभर
Next articleयोगी के जनसंख्या नियंत्रण वाले बयान पर मायावती का बड़ा बयान, जानें क्या बोलीं बसपा प्रमुख

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here