भ्रष्टाचार करना और तुष्टीकरण की राजनीति करना यही है कांग्रेस का असली काम : पीएम मोदी

0
466

देहरादून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कांग्रेस के चारधाम, चार काम नारे पर तंज कसते हुए कहा कि उसके चार काम परिवार सेवा, भ्रष्टाचार, तुष्टीकरण और परियोजनाओं को लटकाने के हैं। प्रदेश में आगामी 14 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पक्ष में वर्चुअल प्रचार करते हुए प्रधानमंत्री ने उत्तराखंड से लोगों के पलायन का ठीकरा कांग्रेस पर फोड़ते हुए कहा कि जब दिल्ली और उत्तर प्रदेश में वर्षों तक इनकी (कांग्रेस) सरकारें रहीं तो इन्हें चारधामों की कभी याद नहीं आई। उन्होंने कहा, ये (कांग्रेस) सही कह रहे हैं कि इन्हें केवल चार काम आते हैं…पहला काम, जो भी करेंगे एक परिवार के हित के लिए करेंगे। दूसरा काम, जो भी करेंगे, उसमें भ्रष्टाचार होगा ही होगा। तीसरा काम, ये तुष्टीकरण की राजनीति करेंगे।

मोदी ने कहा, कांग्रेस चौथा काम देश को टुकड़ों में बांटने के षड्यंत्र का खेल खेलना, वोट बैंक के लिए योजनाओं में भेदभाव करना और परियोजनाओं को लंबे समय तक लटकाकर रखना है जिससे कि अपनी जेब भर सकें। उन्होंने कहा कि दशकों तक दिल्ली और उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की सरकारें रहीं लेकिन तब इनके नेता यहां सैर सपाटे के लिए आते रहे लेकिन तब इन्हें न तो उत्तराखंड की याद आई और न ही इसके तीर्थ क्षेत्रों या चार धामों की याद आई। उन्होंने कहा, ”इतने सालों तक इन्हें केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री की याद कभी नहीं आई।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस को कभी समझ में नहीं आया कि आवागमन की सुविधा के अभाव में प्रदेश के लोगों को कितनी मुश्किल होती है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड से पूरे के पूरे परिवार पलायन कर गए, गांव के गांव खाली हो गए लेकिन कांग्रेस को उनका ध्यान नहीं आया। उन्होंने भाजपा सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि ‘डबल इंजन’ की सरकार चार धामों को दिव्य और भव्य रूप प्रदान कर रही है और लोगों के लिए कनेक्टिविटी बढ़ा रही है।

मोदी ने कहा कि पार्टी संगठन में रहते हुए और गुजरात का मुख्यमंत्री बनने से पहले से उनका उत्तराखंड की धरती से एक विशेष नाता रहा है। उन्होंने कहा, मैं आपके बीच में रहा हूं। आप मुझे अच्छी तरह जानते हैं, मैं आपको जानता हूं… तो आपका जब कोई यहां बैठा है तो आपके लिए जिएगा या नहीं। आपके लिए काम करेगा या नहीं। प्रधानमंत्री ने लोगों से कहा कि वे उत्तराखंड के विकास और उज्ज्वल भविष्य की राह में रोडे़ अटकाने वालों को सत्ता सौंपने की गलती न करें और भाजपा की डबल इंजन वाली सरकार को दोबारा वोट दें।

कांग्रेस नेता हरीश रावत का नाम लिए बिना मोदी ने कहा कि जब वह केंद्र में रसूखदार मंत्री हुआ करते थे तब प्रदेश में सड़कें बनाने के लिए केंद्र से 2,800 करोड़ रुपये मिले जबकि पिछले सात साल के भाजपा सरकार के कार्यकाल में केंद्र से दस गुना ज्यादा यानी 33,000 करोड़ रुपये दिए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना में संप्रग के 10 साल कार्यकाल में बनाई गईं 3,800 किलोमीटर सड़कों के मुकाबले पिछले सात साल में भाजपा सरकार के समय 13,500 किलोमीटर सड़कें बन चुकी हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, ”चारधाम की याद इन्हें आज तब आ रही है जब डबल इंजन की सरकार चारधाम सड़कों के लिए 12,000 करोड़ रुपये दे चुकी है और 90 प्रतिशत से ज्यादा काम पूरा कर चुकी है।

उन्होंने कांग्रेस पर नकारात्मक राजनीति करने का आरोप भी लगाया और कहा कि यह दुर्भाग्य की बात है कि जितनी ताकत से वह 21वीं सदी की ओर बढ़ना चाहते हैं, कांग्रेस उतनी ही ताकत से देश को 20 वीं सदी की ओर पीछे धकेलने की कोशिश कर रही है। प्रदेश में मुस्लिम विश्वविद्यालय बनाने की कथित घोषणा पर कांग्रेस को आडे़ हाथ लेते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह उसकी तुष्टीकरण की राजनीति का जीता जागता सबूत है। उन्होंने कहा, जहां कांग्रेस ने तुष्टीकरण की राजनीति को हवा दी है, वहां जहर बोया है। कश्मीर का हाल इन्होंने क्या करके रखा। हम उत्तराखंड को तबाह नहीं होने देंगे।

उन्होंने कहा कि इसके विपरीत उनकी सरकार ने देश के हर वर्ग और संप्रदाय के लिए पहली राष्ट्रीय डिजिटल यूनिवर्सिटी खोलने की घोषणा की है। मोदी ने कहा कि जब अच्छे संकल्प से यज्ञ होता है तो कुछ ”छल-छलावे” वाली शक्तियां उसमें बाधा डालने की फिराक में रहती हैं। उन्होंने कहा, ”इनके मंसूबों को हमें पूरा नहीं होने देना है। हमें उत्तराखंड के विकास का यह यज्ञ पूर्ण सिद्धि तक ले जाना है।

Previous articleदिल्ली में इस क्षेत्र की बुधवार और गुरुवार को बंद रहेंगी शराब की दुकानें, जानें वजह
Next articleUP Chunav: जानें लखनऊ पहुंची ममता बनर्जी ने क्यों कहा, पहले भाजपा देश से माफी मांगे फिर वोट मांगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here