यूपी की 13 लोकसभा सीट के लिए तीन बजे तक 48.41 प्रतिशत मतदान

0
5

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के चौथे चरण के तहत 13 सीट के लिए दोपहर तीन बजे तक 48.41 फीसदी मतदान दर्ज किया गया। लोकसभा चुनाव के चौथे चरण के तहत प्रदेश की 13 सीट और एक विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए मतदान सोमवार सुबह सात बजे शुरू हुआ। वोट शाम छह बजे तक पड़ेंगे। इस चरण में सबसे ज्यादा ध्यान कन्नौज सीट पर है, जहां से समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव चुनाव लड़ रहे हैं। इस दौर में मैदान में उतरे अन्य प्रमुख उम्मीदवारों में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी भी हैं जो खीरी से चुनाव लड़ रहे हैं।

निर्वाचन आयोग के अनुसार, दोपहर तीन बजे तक अकबरपुर में 46.36 प्रतिशत, बहराईच में 49.10 प्रतिशत, धौरहरा में 54.05 प्रतिशत, इटावा में 46.19 प्रतिशत, फर्रुखाबाद में 49.17 प्रतिशत, हरदोई में 47.99 प्रतिशत, कन्‍नौज में 53.73 प्रतिशत, कानपुर में 41.44 प्रतिशत, खीरी में 53.87 प्रतिशत, मिश्रिख में 47.01 प्रतिशत, शाहजहांपुर में 44.21 प्रतिशत, सीतापुर में 52.87 प्रतिशत और उन्‍नाव में 46.56 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले हैं। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय से प्राप्त जानकारी के मुताबिक मतदान शांतिपूर्ण ढंग से जारी है। शाहजहांपुर से मिली खबर के अनुसार जिले में हो रहे लोकसभा चुनाव में कई गांव में लोगों ने मतदान का बहिष्कार किया है। ग्रामीण क्षेत्रों के लोग बहिष्कार का कारण सड़क तथा विकास नहीं होना बता रहे हैं। जलालाबाद तहसील के गांव औरंगाबाद में बूथ संख्या 181 पर ग्रामीणों ने मतदान का बहिष्कार किया है और मतदान केंद्र सूना पड़ा है।

गांव के प्रधान वीरेंद्र वर्मा ने पत्रकारों को बताया कि हमारे गांव में सड़क न होने से ग्रामीणों में रोष है और उन्होंने इसीलिए मतदान का बहिष्कार कर रखा है। बहराइच सुरक्षित सीट पर पहला वोट दिव्यांग मतदाता से डलवाकर मतदान की शुरुआत की गयी। जिला निर्वाचन अधिकारी मोनिका रानी ने बताया कि “बहराइच का पहला वोट दिव्यांग मतदाता ने डाला। उसके बाद हम सभी प्रशासनिक अधिकारियों ने अपने मताधिकार का उपयोग किया।” उन्होंने बताया कि आज दिव्यांग मतदाताओं के साथ-साथ बड़ी संख्या में थारू जनजाति के और ट्रांसजेंडर मतदाता भी मतदान कर रहे हैं। लखीमपुर खीरी से मिली जानकारी के अनुसार, बारिश के बावजूद यहां सुबह से ही मतदाताओं में मतदान के लिये भारी उत्साह देखा गया। चौथे चरण के तहत 13 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों के लिए 130 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। इन उम्मीदवारों की चुनावी तकदीर का फैसला दो करोड़ 46 लाख से अधिक मतदाता करेंगे।

इस चरण के साथ ददरौल विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए मतदान भी हो रहा है। यह सीट भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक मानवेंद्र सिंह के निधन के कारण रिक्त हुई है। यहां भाजपा ने दिवंगत विधायक के पुत्र अरविंद सिंह और सपा ने पूर्व मंत्री अवधेश वर्मा को उम्मीदवार बनाया है। ददरौल में दोपहर एक बजे तक 38.45 प्रतिशत मतदान हुआ। प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी नवदीप रिणवा ने बताया कि इस चरण में मतदान के लिए कुल 16 हजार 334 मतदान केंद्र और 26 हजार 588 मतदेय स्थल बनाए गये हैं। मतदान के लिए 33,149 ईवीएम की कन्ट्रोल यूनिट, 33,149 बैलट यूनिट तथा 35,644 वीवीपैट मशीन की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि चुनाव को शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिये पर्याप्त अर्द्ध सैनिक बलों की तैनाती की गई है।

चौथे चरण के चुनाव में कन्नौज में सपा प्रमुख अखिलेश यादव और मौजूदा भाजपा सांसद सुब्रत पाठक के बीच कड़ी टक्कर है, जबकि उन्नाव में मौजूदा भाजपा सांसद साक्षी महाराज (स्वामी सच्चिदानंद हरि साक्षी) का मुकाबला सपा की अन्नू टंडन से है। भाजपा के चार उम्मीदवार केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी (खीरी), रेखा वर्मा (धौरहरा), मुकेश राजपूत (फर्रुखाबाद) और देवेन्द्र सिंह उर्फ भोले (अकबरपुर) जीत की ‘हैट्रिक’ लगाने के लिये मैदान में हैं, जबकि राजेश वर्मा सीतापुर से पांचवीं बार जीतने का प्रयास कर रहे हैं। चौथे चरण के चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी, मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव, बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री मायावती समेत राजनीतिक दलों के दिग्गज स्‍टार प्रचारकों ने अपने उम्मीदवारों के समर्थन में जनसभाएं और रोड शो करके वोट मांगें।

Previous articleदेश में बदलाव की बयार, राजस्थान में दोहरे अंक में होंगी कांग्रेस की लोकसभा सीटें: गहलोत
Next articleप्रभु श्रीराम की इच्छा है कि उनका भक्त फिर बने देश का प्रधानमंत्री : योगी आदित्यनाथ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here