शीर्ष नेतृत्व तक पहुंची जेब में टिकट लेकर चलने वाली बात, वायरल वीडियो से मुसीबत में पड़ सकते हैं बीजेपी सांसद देवेंद्र सिंह भोले

0
15

लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा ने अभी प्रत्याशियों के नामों का ऐलान भले ही न किया हो लेकिन टिकट को लेकर सुगबुगाहट शुरू हो गई। भाजपा इस बार कई सांसदों का टिकट काट भी सकती है। ऐसे समय में जब खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने सभी सांसदों को विवादास्पद और बेतुके बयानों से दूर रहने की सलाह दी है तो उनकी इस चेतावनी के बाद भी अकबरपुर लोकसभा क्षेत्र से सांसद देवेंद्र सिंह भोले ने पत्रकारों से कह दिया है टिकट तो उनकी जेब में है, वह चुनाव के लिए तैयार हैं. देवेंद्र सिंह भोले का यह बयान कुछ ही देर में सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. हालांकि इसके अगले दिन सांसद ने अपने इस बयान पर सफाई भी दी. लेकिन इससे पहले अकबरपुर लोकसभा से टिकट के अन्य दावेदारों ने उनके बयान का वीडियो भाजपा के शीर्ष नेतृत्व पर पहुंचा दिया. भाजपा सूत्रों के मुताबिक पार्टी ने उनके इस बयान को काफी गंभीरता से लिया है. चर्चा है कि पार्टी इसे अनुसानहीनता मान रही है. जब अभी तक टिकट की कोई बात ही नहीं हुई तो कैसे कोई सांसद यह कह सकता है कि टिकट तो मेरी जेब में है.

मेरी तैयारी मजबूत: सांसद देवेंद्र सिंह

बुधवार को वह कानपुर देहात में दिशा की बैठक में शामिल होने माती स्थित कलेक्ट्रेट पहुंचे थे। बैठक में शामिल होने के बाद वह बाहर निकले तो पत्रकारों से बात की। सांसद देवेंद्र सिंह भोले का जो वीडियो सोशल मीडिया में वायरल है उसमें वह कह रहे हैं कि लोकसभा का टिकट उनकी जेब में पड़ा है। चुनाव के लिए तो वह हमेशा ही तैयार रहे हैं। बूथ स्तर पर उनकी तैयारी मजबूत है। उन्होंने यहां तक कह दिया था कि वोटिंग हो जाए तो भी उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है। सांसद के इस बयान के बाद टिकट को लेकर सपना देख रहे अन्य उम्मीदवारों में खलबली मच गई। सूत्रों के अनुसार सांसद भोले का यह बयान स्थानीय नेताओं ने शीर्ष नेतृत्व तक पहुंचा दिया है।

परिवारवाद से घिरे हुए हैं सांसद देवेंद्र सिंह भोले

एक तरफ भाजपा परिवारवाद को लेकर विपक्ष पर लगातार हमला बोलती रहती है तो वहीं उनके ही कुछ नेता परिवारवाद को पूरी तरह से बढ़ावा देते रहे हैं। भाजपा के एक ऐसे ही सांसद हैं देवेंद्र सिंह भोले, जिनके पूरे परिवार का राजनीति में पूरा दखल हो रखा है। सांसद देवेंद्र सिंह भोले अकबरपुर लोकसभा से लगातार दो बार सांसद चुने गए हैं। करीब 70 साल सांसद भोले की राजनीति में अच्छी पकड़ है। देवेंद्र सिंह के भाई चेयरमैन तो बहू जिला पंचायत अध्यक्ष हैं। भाई राजेंद्र सिंह राजू कचौसी नगर पंचायत से चेयरमैन है,उनकी बहू राजेंद्र सिंह की पत्नी नीरज रानी जिला पंचायत अध्यक्ष हैं। भतीजे राजेंद्र सिंह का बेटा आकाश सिंह सहार से ब्लॉक प्रमुख हैं। वहीं सांसद का बेटा विकास सिंह भी सक्रिय राजनीति में है.

अभिजीत सांगा से मिलती है सांसद को टक्कर

लोकसभा चुनाव में भाजपा से टिकट के लिए अकबरपुर सीट में लाइन काफी लंबी है। जो नाम चर्चा में रहते हैं, उनकी बात की जाए तो देवेंद्र सिंह भोले के अलावा बिठूर से विधायक अभिजीत सिंह सांगा, पूर्व सांसद अनिल शुक्ला वारसी, अरूण तिवारी बाबा, पूर्व जिलाध्यक्ष राजेंद्र सिंह चौहान, पूर्व विधायक विक्रम सिंह सेंगर, लाल सिंह तोमर, धर्मपाल भदौरिया समेत कई दावेदार हैं। ये अपनी टिकट पक्की होने की बात अपने समर्थकों से कह रहे हैं। हालांकि कई बाहरी नामों की चर्चा भी बीच में होती रहती है। फिलहाल सांसद देवेंद्र सिहं भोले ने टिकट जेब में पड़े होने की जो बात कही है ये कितनी सच साबित होती ये वक्त तय करेगा।

Previous articleमहायोजना लागू करने में अब देर न हो : योगी आदित्यनाथ
Next articleजेब के लोकसभा चुनाव का टिकट लेकर घूमने की बात कहने वाले बीजेपी सांसद का भाई चेयरमैन, बहू जिला पंचायत अध्यक्ष और भतीजा ब्लॉक प्रमुख तो बेटा भी राजनीति में

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here