UP Assembly Election: फ्री बिजली, फ्री स्मार्टफोन और लैपटॉप…जानें किसके घोषणा पत्र में कितना लॉलीपॉप

0
290

लखनऊ। किसानों को मुफ्त बिजली, स्कूटी, स्मार्टफोन और लैपटॉप के अलावा लाखों नौकरियां, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में विभिन्न राजनीतिक दलों ने सत्ता में आने पर आम जनता को उपरोक्त सभी चीजें देने का वादा किया है। पिछले दिनों भाजपा और समाजवादी पार्टी द्वारा घोषणापत्र जारी किए जाने के बाद कांग्रेस बुधवार को अपने चुनावी वादों के साथ मैदान में आई। बसपा अध्यक्ष मायावती पहले ही घोषणा कर चुकी हैं कि वे पहले की तरह कोई घोषणापत्र जारी नहीं करेंगी और पार्टी की पिछली सरकारों की उपलब्धियों को लेकर लोगों के पास जाएंगी।

यह दिखाने के लिए कि घोषणापत्र कागज का टुकड़ा मात्र नहीं है, भाजपा ने इसे लोक कल्याण संकल्प पत्र नाम दिया है, जबकि अखिलेश यादव ने इसे समाजवादी वचन पत्र” और कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र को उन्नति विधान- जन घोषणा पत्र का नाम दिया है। चुनावी आश्वासनों पर भरोसा दिलान के लिए संबंधित दलों के शीर्ष नेताओं ने घोषणापत्र जारी किए। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 2022 के चुनावों के लिए भाजपा का घोषणापत्र जारी किया, वहीं सपा के लिए अखिलेश यादव और सबसे पुरानी पार्टी के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने घोषणा पत्र जारी किया।

सभी पार्टियों के चुनावी वादों में किसानों, युवाओं, महिलाओं और समाज के अन्य वर्गों के लिए बहुत कुछ कहा गया है। सत्ता में वापसी के लिए भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में अगले पांच वर्षों तक किसानों को सिंचाई के लिए मुफ्त बिजली उपलब्ध कराने, गन्ना किसानों को 14 दिन के अंदर भुगतान करने और देर से होने वाले भुगतान के लिए मिलों से ब्याज वसूल करके किसानों को ब्याज समेत भुगतान कराने, 5,000 करोड़ रुपये की लागत से गन्ना मिलों के नवीनीकरण मिशन के तहत चीनी मिलों का नवीनीकरण और आधुनिकीकरण करने, प्रदेश में छह मेगा फूड पार्क और छह औद्योगिक पार्क विकसित करने और निषाद राज बोर्ड सब्सिडी योजना शुरू करके मछुआरों को एक लाख रुपए तक की नाव 40फीसदी सब्सिडी पर उपलब्ध कराने का वादा किया है। इसके अलावा मेधावी छात्राओं को रानी लक्ष्मीबाई योजना के तहत मुफ्त स्कूटी देने, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के तहत दी जाने वाली सहायता राशि को 15,000 से बढ़ाकर 25,000 रुपए करने का वादा किया गया है। साथ ही प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के सभी लाभार्थियों को होली और दीपावली पर घरेलू गैस के दो सिलेंडर मुफ्त देने, 60 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं को सार्वजनिक परिवहन में मुफ्त यात्रा की सुविधा देने, विधवा और निराश्रित महिलाओं की पेंशन को बढ़ाकर डेढ़ हजार रुपए प्रतिमाह करने भी वादा किया गया है।

राज्य की सत्ता से भाजपा को हटाने और सपा को विकल्प के रूप में पेश करने का प्रयास करते हुए पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने चुनावी घोषणापत्र में कहा है, ”सभी फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य तय किया जाएगा, गन्ना किसानों को 15 दिन के अंदर भुगतान सुनिश्चित किया जाएगा। इसके लिए अगर फार्मर्स कॉरपस फंड बनाने की जरूरत होगी तो बनाया जाएगा। सभी किसानों को 2025 तक कर्ज मुक्त बनाया जायेगा। ऋण मुक्ति कानून बनाकर अत्यंत गरीब किसानों को लाभ पहुंचाया जाएगा। प्रियंका गांधी वाद्रा ने कांग्रेस के सत्ता में आने के 10 दिनों के भीतर किसानों का कर्ज माफ करने की घोषणा की है।

युवाओं के लिए लगभग सभी पार्टियों ने बड़ी योजनाओं की घोषणा की है। भाजपा ने प्रत्येक परिवार को कम से कम एक नौकरी/नौकरी का अवसर प्रदान करने का वादा किया। सपा ने कहा कि वह आईटी क्षेत्र में 22 लाख रोजगार/नौकरियों के अवसर पैदा करेगी और पुलिस सहित सभी सरकारी नौकरियों में महिलाओं के लिए 33 प्रतिशत सीटें आरक्षित करने का भी वादा किया है। भाजपा ने कॉलेज जाने वाली मेधावी लड़कियों को मुफ्त स्कूटी और छात्रों को दो करोड़ टैबलेट और स्मार्टफोन उपलब्ध कराने का वादा किया है। अखिलेश ने वादा किया कि वे पिछली सरकार की तरह लैपटॉप उपलब्ध कराएंगे।

कांग्रेस ने 10वीं और 12वीं में पढ़ने वाली लड़कियों को स्मार्टफोन और स्नातक करने वाली छात्राओं को इलेक्ट्रिक स्कूटी देने का वादा किया है। भाजपा और सपा ने वादा किया है कि वे राज्य भर में कैंटीनों से गरीबों को रियायती दर पर भोजन उपलब्ध कराएंगे। भाजपा ने कहा है कि वह माँ अन्नपूर्णा कैंटीन शुरू करेगी, जबकि अखिलेश ने समाजवादी कैंटीन से 10 रुपये में भोजन उपलब्ध कराने का वादा किया है। भाजपा ने कहा है कि वह लव जिहाद के दोषियों के लिए कम से कम 10 साल की सजा और एक लाख रुपये के जुर्माने का प्रावधान करेगी। पार्टी ने यह भी कहा है कि अगले पांच वर्षों में देवबंद में आतंकवाद विरोधी कमांडो सेंटर की स्थापना का काम पूरा किया जाएगा और इसी तरह के केंद्र मेरठ, रामपुर, आजमगढ़, कानपुर और बहराइच में बनाए जाएंगे।

अखिलेश ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन के दौरान मारे गए लोगों को 25 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने का वादा किया। भाजपा ने कहा कि वह वाराणसी, गोरखपुर, बरेली, झांसी और प्रयागराज में मेट्रो परियोजनाएं शुरू करेगी। वहीं, सपा ने आगरा, प्रयागराज और अन्य शहरों में मेट्रो सेवा शुरू करने का वादा किया है। भाजपा ने घोषणा की कि वह लता मंगेशकर परफॉर्मिंग आर्ट्स अकादमी की स्थापना करेगी।

Previous articleUP Elecion 2022: मेरठ, मुजफ्फरनगर में वोटिंग के बीच सहारनपुर से योगी सरकार की खूबियां गिनाएंगे पीएम मोदी
Next articleयूपी विधानसभा चुनाव: दूसरे चरण में 854 उम्मीदवार आजमा रहे दांव, एक चौथाई लोगों पर आपराधिक मामले दर्ज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here