कानपुर हिंसा मामले में 38 गिरफ्तार, चस्पा किये गये शहर में दंगाइयों के पोस्टर

0
282

यूपी के कानपुर जिले के थाना बेकनगंज में गत 03 जून को हिंसा के मामले में पुलिस ने अभी तक 04 मुकदमे दर्ज कर लगभग 38 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। कानपुर के पुलिस आयुक्त विजय सिंह मीणा ने बताया कि शहर के बेकनगंज इलाके में गत सप्ताह शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद हुयी हिंसा की वारदात में शामिल रहे नौ अन्य की गिरफ्तारी सोमवार को होने के साथ अब तक गिरफ्तार हुए संदिग्ध अभियुक्तों की कुल संख्या 38 हो गयी है। उन्होंने बताया कि हिंसा भड़काने की घटना में 36 लोगों पर नामजद मुकदमा दर्ज किये जाने के साथ 1000 हजार अज्ञात लोगों के खिलाफ कुल 04 एफआईआर दर्ज की गई हैं। पुलिस ने इस वारदात के मास्टर माइंड हयात जफर हाशमी सहित 29 लोगों को रविवार तक पकड़ लिया था। इन सभी को जेल भेजा जा चुका है।

मीणा ने बताया कि सीसीटीवी से चिह्नित हो रहे उपद्रवियों की गिरफ्तारी के लिए कई टीमें लगातार दबिश दे रही हैं। इस बीच पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज से चिह्नित पत्थरबाजों के पोस्टर शहर के सार्वजनिक स्थानों पर चस्पा कर स्थानीय लोगों से इनकी पहचान कर इनकी गिरफ्तारी कराने में मदद करने की अपील की है। पुलिस ने इलाके के उस पेट्रोल पंप का भी छह दिन के लिये लाइसेंस निलंबित कर दिया है जिससे हिंसा की वारदात से पहले उपद्रवियों को बोतल में पेट्रोल देने की बात सामने आयी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कानपुर हिंसा मामले में सीसीटीवी फुटेज के आधार पर डिप्टी पड़ाव पेट्रोल पंप को हिंसा में प्रयुक्त पेट्रोल बम के इस्तेमाल के लिये उपद्रवियों को बोतल में पेट्रोल देने के लिये चिह्नित किया गया है। उन्होंने बताया कि कानपुर हिंसा मामले की नष्पिक्ष जांच के लिए पुलिस की 04 एसआईटी टीमें गठित हुई हैं। चारों टीमों को वारदात के अलग अलग पहलुओं की जांच करने को कहा गया है। इस बीच पुलिस प्रशासन ने घटना वाले क्षेत्र के सीसीटीवी फुटेज और सोशल मीडिया पर साझा की गयी जानकारियों को खंगाल कर दंगाइयों की पहचान करके सार्वजनिक स्थलों पर उनके पोस्टर भी चस्पा कराये दिये हैं।

पुलिस ने स्थानीय लोगों से पोस्टरों में दर्शाये गये संदिग्धों की सूचना बेकनगंज इंस्पेक्टर के मोबाइल फोन नंबर (9454403715) पर देने की अपील की है। पुलिस ने सूचना देने वालों का नाम गुप्त रखने का ऐलान किया है। इस बीच कानपुर के संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी और वारदात के बाद कानपुर तैनात किये गये पुलिस अधिकारी अजयपाल शर्मा, लगातार इलाके में शांति व्यवस्था कायम करने के लिए भारी पुलिस बल व आरएएफ जवानों के साथ पैदल मार्च कर रहे हैं। इसके साथ ही ड्रोन के जरिए बेकनगंज, चमनगंज, बजरिया, अनवरगंज, कर्नलगंज इलाकों में सतत निगरानी रखी जा रही है।

Previous articleरामपुर और आजमगढ़ लोकसभा सीट के उपचुनाव में उम्मीदवार नहीं उतारेगी कांग्रेस
Next articleज्ञानवापी परिसर का सर्वे कराने वाले जज को मिला धमकी भरा लेटर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here