भाई संग सपा विधायक इरफान सोलंकी ने कानपुर कमिश्नर के सामने किया सरेंडर

0
169

समाजवादी पार्टी के विधायक इरफान सोलंकी और उनके छोटे भाई ने 24 दिनों के बाद शुक्रवार की सुबह यहां पुलिस आयुक्त के कैंप कार्यालय में आत्मसमर्पण कर दिया, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफतार कर लिया गया। एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि आत्मसमर्पण के समय उनके साथ आर्य नगर और कानपुर कैंट के सपा विधायक क्रमशः अमिताभ बाजपेयी और मोहम्मद हसन उर्फ रूमी और उनके परिवार के सदस्य मौजूद थे। पुलिस आयुक्त बीपी जोगदंड ने पीटीआई-भाषा को बताया कि सोलंकी और उनके भाई रिजवान सोलंकी ने उनके कैंप कार्यालय में उनके समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया उसके बाद पुलिस ने दोनों भाइयों को गिरफ्तार कर लिया।

जोगदंड ने कहा कि सीसामऊ (कानपुर) से सपा विधायक और उनके भाई को आज एक अदालत में पेश किया जाएगा। अधिकारी ने बताया, अगर जरूरत पड़ी तो हम पुलिस हिरासत की मांग करेंगे। पत्रकारों से बात करते हुए, पुलिस उपायुक्त (अपराध) सलमानताज जफरताज पाटिल ने कहा कि पुलिस को विधायक तथा उनके भाई की तलाश थी, क्योंकि इन दोनों के खिलाफ गत आठ नवंबर को जमीन पर कब्जे को लेकर विवाद में नजीर फातिमा नामक महिला के घर में तोड़फोड़ और आगजनी के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया था। उपायुक्त ने कहा, हमने करीब एक पखवाड़े पहले उनके खिलाफ गैर-जमानती वारंट हासिल किया था। उन्हें अदालत में पेश करने और उनके ठिकानों और हमदर्दों के बारे में जानकारी जुटाने के लिए पुलिस हिरासत की मांग करने का फैसला किया गया है। अधिकारी ने बताय, हम सपा विधायक और उनके भाई द्वारा दी गई सभी जानकारियों को केस डायरी में डालेंगे, जिसे अदालत में भी पेश किया जाएगा।

Previous articleसपा मीडिया सेल के ट्विटर खाते से संघ के प्रति अभद्र टिप्पणी, मुकदमा दर्ज
Next article10 बार विधायक रहे आजम खां ने मुसलमानों के प्यार को समझा गुलामी : आकाश सक्सेना

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here