UP Assembly Election: हस्तिनापुर पहुंची प्रियंका गांधी और सचिन पायलट, वोटरों से की यूपी में कांग्रेस की सरकार बनाने की अपील

0
218
priyanka meerut
priyanka meerut

मेरठ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले चरण के प्रचार के अंतिम दिन कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाद्रा और राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट मेरठ के हस्तिनापुर पहुंचे और लोगों से राज्य में कांग्रेस की सरकार बनाने की अपील की। सबसे पहले प्रियंका व सचिन पायलट ने जैन साध्वी ज्ञानमती माताजी का आशीर्वाद लिया। साध्वी ने प्रियंका को बताया कि जवाहर लाल नेहरू‚ राजीव गांधी व इंदिरा गांधी का हस्तिनापुर से विशेष लगाव था और हस्तिनापुर को पुनः बसाने के लिए इसकी नींव भी नेहरू ने ही रखी थी। इसके बाद साध्वी ने उन्हें जंबूद्वीप की प्रतिकृति व श्रीफल भेंट कर उनका सम्मान किया। वहीं, उन्होंने सचिन पायलट को भी तिलक लगाकर व अंगवस्त्र पहनाकर उनका स्वागत किया।

यहां से उनका काफिला मवाना में तहसील रोड स्थित मिहिरभोज प्रतिमा स्थल के पास रुका जहां मौजूद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नारे लगाए। गाड़ी रुकने के बाद प्रियंका गांधी और सचिन पायलट प्रतिमा स्थल के पास खड़े ट्रैक्टर पर सवार हो गए और जनसंपर्क शुरू कर दिया। ट्रैक्टर में प्रियंका के साथ सचिन पायलट और कांग्रेस प्रत्याशी अर्चना गौतम भी बैठीं। इस दौरान करीब दो किलोमीटर लंबे रोड शो में जगह-जगह लोगों ने फूल बरसाकर उनका स्वागत किया। प्रियंका ने कभी हाथ हिलाकर तो कभी लोगों से हाथ मिलाकर कांग्रेस प्रत्याशी के लिए वोट मांगे। इस दौरान ‘लड़की हूँ लड़ सकती हूं…’ गाने के बीच समर्थकों ने प्रियंका गांधी और सचिन पायलट के पक्ष में नारे लगाए।

इस दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने अपने संक्षिप्त संबोधन में लोंगो से मतदान की ताकत से प्रदेश की सत्ता और सियासत में बदलाव लाने की अपील की। ट्रैक्टर में उनके सुभाष चौक पहुंचने पर भीड़ ने नारे लगाकर स्वागत किया। सुभाष चौक से आगे कुछ दूर प्रियंका और सचिन पायलट ट्रैक्टर से उतरकर फिर कार में सवार हो गए। अपराह्न करीब एक बजे जनसंपर्क समाप्त कर वे हस्तिनापुर जंबूद्वीप हेलीपैड के लिए रवाना हो गए।

Previous articleUP Assembly Election: शशि थरूर ने नोएडा में कांग्रेस प्रत्याशी के लिए मांगे वोट, बोले- ‘कुशासन’ को नकारने के लिए डालें वोट
Next articleदिल्ली में इस क्षेत्र की बुधवार और गुरुवार को बंद रहेंगी शराब की दुकानें, जानें वजह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here