भाईचारा बनाम भाजपा का है मौजूदा विधानसभा चुनाव : अखिलेश यादव

0
212

शामली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर नकारात्मक राजनीति करने का आरोप लगाते हुये समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को कहा कि मौजूदा विधानसभा चुनाव भाईचारा बनाम भाजपा का है जिसमें सपा-रालोद गठबंधन जनता की उम्मीदों पर खरा उतरेगा। राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) अध्यक्ष जयंत चौधरी के साथ बुधवार को यहां संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुये अखिलेश ने कहा कि किसान,नौजवान नकारात्मक सोच की राजनीति करने वाली भाजपा को हटाना चाहते है। जनता के आक्रोश का सामना जगह जगह भाजपा उम्मीदवारों और विधायकों को करना पड़ रहा है। कई गांव में भाजपा के नेताओं को सत्कार की जगह तिरस्कार झेलना पड़ा है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार ने लोगों को डरा कर रखा है जबकि जनता सपा गठबंधन की ओर उम्मीद से देख रही है। इस नाते यह डर और उम्मीद के बीच का भी चुनाव है जिसमें जीत जनता की उम्मीदों की होगी। भाजपा सरकार के उत्पीड़न के शिकार किसान इस बार गठबंधन का समर्थन कर रहा है। यह किसानों के मान सम्मान का चुनाव है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की भाषा शैली पर कटाक्ष करते हुए सपा अध्यक्ष ने कहा कि चुनाव आयोग मुख्यमंत्री की भाषा का नोटिस ले। उनका हलफनामा देखे कि उन पर कितनी आपराधिक धारायें लगी है। अब तो भाजपा नेतृत्व को भी लगने लगा है कि उन्होने उन्हे मुख्यमंत्री बना कर गलती तो नहीं कर दी। यही कारण है कि योगी को उनकी पसंद का टिकट नहीं दिया गया। उनको घर वापसी का टिकट दे दिया। वास्तव में योगी का कोई दल नहीं है। वह बेदल है इसलिए भाजपा उन्हे पैदल चला रही है और यही कारण है कि उनकी भाषा बदल गयी है।

संसद में मंगलवार को पेश आम बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए अखिलेश ने कहा कि भाजपा सरकार कहती है कि यह अमृत बजट है तो इसका मतलब यह है कि इससे पहले के बजट जहर थे क्या। भाजपा वाले सोचते हैं कि शब्दों से वे जनता को भ्रमित कर सकते हैं। बजट में हीरे और जूते चप्पल सस्ते किए। गरीबों को हीरे से क्या काम और रोजगार के लिए तो युवाओं के जूते तक खिस गए। भाजपा जनता की एक भी परेशानी का निराकरण नहीं कर सकी। उन्होंने कहा कि सपा गठबंधन की सरकार में किसी को कानून व्यवस्था से खिलवाड़ करने की अनुमति नहीं दी जायेगी। कानून व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिये डायल 112 के वाहनों की संख्या अगर दोगुनी करनी पड़ेगी तो की जायेगी ताकि पुलिस का रिस्पांस टाइम कम हो सके।

अखिलेश ने कहा कि रालोद को सरकार बनने का बाद पूरा सम्मान दिया जायेगा। उनकी और रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी के बीच मजबूत केमिस्ट्री को देख कर भाजपा के तोते उड़े हुए है। उन्होंने कहा कि सपा गठबंधन अपने सभी वादे पूरा करेगा। किसाों को सिचाई के लिए बिजली मुफ्त दी जाएगी। भाजपा सरकार ने अपने कार्यकाल में बिजली उत्पादन बढाने की दिशा में कोई काम नहीं किया बल्कि बिजली के बिल बढ़ाकर लोगों की परेशानियों में इजाफा किया। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों की पुरानी पेंशन बहाल की जाएंगी। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के टीकाकरण को लेकर दिये गये बयान के जवाब में उन्होने कहा कि उन्होने कभी टीके का विरोध नहीं किया। वे तो चाहते है कि केशव उन्हे जीत का टीका लगाने जरूर आयें।

Previous articleबजट का जोर गरीब, मध्यम वर्ग, युवाओं को आय के स्थायी समाधानों से जोड़ने पर: मोदी
Next articleसमाजवादी पार्टी ने सरोजनीनगर सीट से पूर्व मंत्री अभिषेक मिश्रा को दिया टिकट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here