यूपी में लड़कियों की तसकरी के मामले में 5 आरोपित गिरफ्तार, शादी का झांसा देकर करते फसाते थे लड़कियों को

0
349

शादी का झूठा झांसा देकर महिला को बेचने की कोशिश में लगे पांच मानव तस्करों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपितों में लखीमपुर व श्रावस्ती जिला निवासी महिलाएं भी शामिल है। आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें न्यायालय रवाना कर दिया गया। पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी ने बताया कि सूचना मिली थी देहात कोतवाली इलाके की रहने वाली महिला को मानव तस्कर गिरोह शादी कराने का झांसा देकर उसे बेचने की फिराक में हैं।

मामले को गंभीरता से लेकर अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अशोक कुमार को मानव तस्करों को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए गए। देहात संस्था की ह्यूमन प्रोटेक्शन अधिकारी हसन फिराेज का इस अभियान में सहयोग रहा, जबकि नीरज श्रीवास्तव को ग्राहक बनाकर मानव तस्कर के पास भेजा गया था। अपर पुलिस अधीक्षक ने सीओ नानपारा जंग बहादुर यादव व कोतवाल नानपारा भानू प्रताप सिंह, एसआई रवि यादव, आरक्षी प्रमोद कुमार, देहात संस्था व एसएसबी 42 वी वाहनी के जवानों के साथ टीम गठित कर मुखबिरों का जाल बिछाया गया। सहादत इंटर कालेज के पास गिरोह में शामिल लोगों के मौजूद होने की सूचना पर टीम ने घेराबंदी कर छापामारी की। महिला का सौदा 70 हजार रुपये में तय हुआ।

मौके पर लखीमपुर जिले के पलिया थाना क्षेत्र के नौरंगपुर निवासी ऊष देवी, श्रावस्ती जिले के गिलौला थाना क्षेत्र के जोधपुरवा निवासी सुधा, देहात कोतवाली के बेरिया की रहने वाली कुसुमा, रूपईडीहा के मक्कनपुरवा निवासी लक्ष्मी उर्फ शांति व कोतवाली नानपारा के अगैया निवासी रामादल यादव को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि वे सीधी साधी महिलाओं को शादी का झांसा देकर उन्हें बेचने का काम करते हैं। गिरोह में शामिल लोग इसके लिए इलाके में ऐसी महिलाओं की तलाश करते हैं, जिन्हें अपने जाल में फंसाया जा सके। इसके बाद सभी मिलकर उसे जाल में फंसाते हैं। आरोपितों के गिरोह में कुल कितने लोग शामिल हैं, इसकी जांच पुलिस कर रही है।

Previous articleसपा अध्यक्ष अखिलेश से मुलाकात करेंगे रीता बहुगुणा के बेटे मयंक बहुगुणा, लखनऊ सीट से मिल सकता है टिकट
Next articleदहेज़ न दे सकी तो देवर ने किया दुष्कर्म, मौके से फरार हुए ससुराल वाले

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here