हमले के बाद दूसरी गाड़ी से दिल्ली गए असुद्दीन ओवैसी, ट्वीट कर दी सुरक्षित होने की जानकारी

0
216

गाजियाबाद। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल-मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) प्रमुख एवं लोकसभा सदस्य असदुद्दीन ओवैसी की कार पर हापुड़ जिले में कथित तौर पर गोलीबारी की गई। यह घटना उस वक्त हुई, जब वह पश्चिमी उत्तर प्रदेश में चुनाव से जुड़े कार्यक्रमों में शरीक होने के बाद लौट रहे थे। उन्होंने कहा कि उनकी कार राष्ट्रीय राजमार्ग 24 के हापुड़-गाजियाबाद खंड पर छिजारसी टोल प्लाजा के करीब थी, तभी शाम करीब छह बजे यह घटना हुई। उन्होंने कहा कि इस घटना में कोई घायल नहीं हुआ। उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा कि घटना के संबंध में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है और उसके पास से एक पिस्तौल बरामद की गई है।

हापुड़ पुलिस ने कहा कि मामले की जांच कई टीमें कर रही हैं और मेरठ जोन के पुलिस महानिरीक्षक की निगरानी में जांच की जा रही है। एआईएमआईएम सांसद ने एक ट्वीट में कहा, कुछ देर पहले छिजारसी टोल गेट पर मेरी गाड़ी पर गोलियाँ चलाई गयी। चार गोली चलाई गई। (गोलीबारी करने वाले) 3-4 लोग थे, सब के सब भाग गए और हथियार वहीं छोड़ गए। मेरी गाड़ी पंक्चर हो गयी, लेकिन मैं दूसरी गाड़ी में बैठ कर वहाँ से निकल गया। हम सब महफ़ूज़ हैं। तेलंगाना के हैदराबाद से सांसद ओवैसी ने कहा कि वह मेरठ और किठौर में चुनाव से जुड़े कार्यक्रमों के लिए सुबह में दिल्ली से रवाना हुए थे। इन कार्यक्रमों में उन्होंने दोपहर साढ़े तीन बजे पैदल मार्च किया था।

ओवैसी ने बताया कि उनके काफिले में चार वाहन थे। उन्होंने बाद में संवाददाताओं से कहा, हम टोल गेट पर थे और जब हमने अचानक तीन-चार गोलियां चलने की आवाज सुनी तो वाहन की गति धीमी कर दी। मेरी कार पर भी कुछ निशान बने हैं और एक टायर पंक्चर हो गया। उन्होंने कहा, मैंने चुनाव आयोग से घटना की स्वतंत्र जांच कराने का अनुरोध किया है। यह अवश्य पता चलना चाहिए कि इस घटना के पीछे किसका हाथ था। यह (नरेंद्र) मोदी सरकार और योगी (आदित्यनाथ) सरकार से भी एक अपील है।” लखनऊ में एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा कि ओवैसी के ट्वीट करने के तुरंत बाद स्थानीय पुलिस ने कार्रवाई की।

एडीजी प्रशांत कुमार ने लखनऊ में कहा, पुलिस ने घटनास्थल से कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। वीडियो फुटेज को भी सुरक्षित कर लिया गया है। ऐसा लगता है कि दो लोगों ने गोली चलाई और उनमें से एक को गिरफ्तार किया गया है। उसकी पहचान सचिन के रूप में की गई है जो गौतम बुद्ध नगर जिले के बादलपुर इलाके का रहने वाला है। उसके पास से एक अवैध पिस्तौल भी बरामद की गई है। उन्होंने कहा, “संतोषजनक बात यह है कि पुलिस ने तत्काल कार्रवाई की और एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया तथा वीडियो फुटेज से पता चलता है कि वह वारदात में शामिल था। उसके साथी की तलाश की जा रही है। मेरठ के आईजी घटनास्थल पर मौजूद हैं। हापुड़ के पुलिस अधीक्षक दीपक भूकर ने भी बताया कि घटना में संलिप्त एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और पुलिस अन्य के ब्योरे की पुष्टि कर रही है। उन्होंने कहा कि पुलिस हमलवारों के मकसद का भी पता लगाने की कोशिश कर रही है।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, हम यह भी पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि उन्होंने इसकी (गोलीबारी) की साजिश कैसे रची। चूंकि घटना टोल प्लाजा पर हुई, इसलिए हम वहां उपलब्ध सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रहे हैं। पुलिस की कई टीम तैनात की गई है और बहुत जल्द प्रकरण में संलिप्त अन्य को भी पकड़ लिया जाएगा। अधिकारी ने कहा कि जांच शुरूआती चरण में है और अन्य तथ्य एवं ब्योरा उपलब्ध होने पर साझा किया जाएगा। इस बीच, जिले के वरिष्ठ प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी घटना स्थल पर पहुंचे, जहां गोलीबारी के बाद एआईएमआईएम के कई कार्यकर्ता एवं समर्थकों का जुटना शुरू हो गया था।

Previous articleUP Election 2022: जानें भाजपा प्रत्याशी के लिए वोट मांगने पहुंची अर्पणा यादव के सामने क्यों लगे अखिलेश जिंदाबाद के नारे
Next articleUP Election: आज जालौन और कानपुर देहात में आएंगे जेपी नड्डा, भाजपा प्रत्याशियों के लिए करेंगे प्रचार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here