दैनिक यूपी ब्यूरो
13/10/2021  :  11:45 HH:MM
यूपी की सौ मुस्लिम बहुल विधानसभा सीटों पर भाजपा की नजर, बनाई खास रणनीति
Total View  644

उत्तर प्रदेश की मुस्लिम बहुल 100 सीटों के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी ने खास रणनीति तैयार की है। भाजपा के रणनीतिकारों के मुताबिक फतवे और फरमानों की बंदिशों से निकलकर मुस्लिम समाज की सोच अब करवट ले रही है। अर्से पुरानी कुप्रथा को 'तीन तलाक' देकर आधी आबादी ने बुर्के की ओट से भाजपा को निहारना पहले ही शुरू कर दिया है। अब सरकार से मिले आवास, रसोई गैस, बिजली कनेक्शन, अनुदान आदि ने 'सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास' की नीति के जरिये मुस्लिम समाज में भाजपा के प्रति विश्वास बढ़ता दिखाई दे रहा है।

लखनऊ , (दैनिक यूपी ब्यूरो)। उत्तर प्रदेश की मुस्लिम बहुल 100 सीटों के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी ने खास रणनीति तैयार की है। भाजपा के रणनीतिकारों के मुताबिक फतवे और फरमानों की बंदिशों से निकलकर मुस्लिम समाज की सोच अब करवट ले रही है। अर्से पुरानी कुप्रथा को 'तीन तलाक' देकर आधी आबादी ने बुर्के की ओट से भाजपा को निहारना पहले ही शुरू कर दिया है। अब सरकार से मिले आवास, रसोई गैस, बिजली कनेक्शन, अनुदान आदि ने 'सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास' की नीति के जरिये मुस्लिम समाज में भाजपा के प्रति विश्वास बढ़ता दिखाई दे रहा है।

ऐसे मुस्लिमों को भारतीय जनता पार्टी के रणनीतिकार 'मोदी-फाइड' मुस्लिम मान रहे हैं। इन्हीं के सहारे अल्पसंख्यक वर्ग के प्रभाव वाली सौ सीटों के समीकरण साधने की तैयारी की जा रही है। यूपी मिशन 2022 की तैयारी में जुटी भाजपा जीत दोहराने के लिए समीकरणों पर पैनी नजर जमाए है। रणनीति एक-एक विधानसभा क्षेत्र के लिए है, लेकिन इस बार पार्टी ने मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में भी कमल खिलाने की आस लगाई है। दरअसल, यह उम्मीद विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों की उस सूची ने जगाई है, जिसमें बिना भेदभाव के इस इस वर्ग को प्रधानमंत्री आवास योजना से आवास, मुख्यमंत्री आवास योजना के आवास, उज्जवला योजना से गैस, सौभाग्य योजना से बिजली कनेक्शन, छात्रों को छात्रवृत्ति और 51-51 हजार रुपये शादी अनुदान मिला है। मदरसों का आधुनिकीकरण हुआ है।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह दावा करते हैं कि मोदी-योगी सरकार ने हर योजना बिना भेदभाव के लागू की है। उसी का परिणाम है कि लगभग हर योजना में 30-35 फीसद लाभार्थी अल्पसंख्यक वर्ग के हैं। इसी आधार पर अब भाजपा ने आगामी विधानसभा चुनाव के लिए रणनीति तय कर उसकी जिम्मेदारी अपने अल्पसंख्यक मोर्चा को सौंपी है।

भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष कुंवर बासित अली ने बताया कि लगभग सौ विधानसभा सीटें ऐसी हैं, जहां मुस्लिमों का अधिक प्रभाव है। मुस्लिम बहुल करीब 40 हजार बूथ हैं। इनके लिए रणनीति बनाते हुए तय किया है कि यहां अल्पसंख्यक बुद्धिजीवी सम्मेलन और युवा सम्मेलन कर केंद्र और प्रदेश सरकार की योजनाओं पर चर्चा की जाएगी। उनसे सुझाव भी लिए जाएंगे। छोटे-छोटे समूहों में लाभार्थियों से संवाद होगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश के सभी 1918 मंडलों तक अल्पसंख्यक मोर्चा की 21-21 सदस्यीय टीम बना दी गई है। 80 फीसद बूथों पर मोर्चा का संगठन तैनात है। जल्द ही हर बूथ पर मोर्चाबंदी हो जाएगी।


इसलिए मजबूत है भरोसा : विकास की आधुनिक सोच के साथ जुड़कर मुस्लिम कैसे 'मोदी-फाइड' हो सकते हैं, इसके पीछे बासित अली के पास एक अनुभव है। उन्होंने बताया कि गुजरात में पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान उन्हें पार्टी ने कच्छ स्थित मांडवी विधानसभा क्षेत्र में लगाया। वहां लगभग दो लाख मतदाताओं में से करीब एक लाख 40 हजार मुस्लिम थे। अन्य दलों ने मुस्लिम प्रत्याशी उतारे, जबकि भाजपा ने हिंदू। आखिरकार जीत भाजपा की हुई। परिणाम की समीक्षा पर पाया कि यहां मुस्लिम विकास से प्रभावित होकर 'मोदी-फाइड' हुआ है और तीस फीसद वोट भाजपा को गया। यही भरोसा यूपी चुनाव को लेकर भी है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3427691
 
     
Related Links :-
यूपी पावर कारपोरेशन तय मानकों के साथ 28 लाख से ज्यादा घरों में लगाएगा स्मार्ट मीटर
रेलवे पहली बार लखनऊ से गोवा रवाना करेगा स्पेशल ट्रेन, 27 नवंबर को होगा ट्रायल
लखनऊ में मुलायम सिंह यादव से मिले कुंडा के विधायक राजा भैया, भेंट के बाद दी सफाई
यूपी में सरकार बनी तो आंदोलन में शहीद किसानों के परिजनों को देंगे 25 लाख रुपये : अखिलेश यादव
यूपी में पुलिस के वाहन चलाएंगी महिला होमगार्ड, एक माह के प्रशिक्षण के दौरान मिलेगा दैनिक भत्ता
कोरोना की जांच ही उपचार को लेकर सरकार सख्त, यूपी के शेष 15 जिलों में भी खुलेंगी कोरोना जांच लैब
56वें आल इंडिया डीजीपी कांफ्रेंस को संबोधित करेंगे पीएम मोदी, कई गंभीर मुद्दों पर होगी चर्चा
अब किसान खुद जांच सकेंगे जमीन की गुणवत्ता, उत्पादन के साथ बढ़ा सकेंगे आय; मोबाइल एप से मिलेगी जानकारी
बसपा सुप्रीमो मायावती के घर पहुंची राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मां के निधन पर जताया शोक
यूपी में जुटेंगे देशभर के राज्यों के पुलिस प्रमुख, अमित शाह रहेंगे मौजूद;पीएम मोदी करेंगे संबोधित
 
CopyRight 2016 DanikUp.com