दैनिक यूपी ब्यूरो
08/10/2021  :  12:02 HH:MM
योगी सरकार कृषियंत्र खरीदने वाले किसानों को देगी अनुदान, 2850 केंद्रों के माध्यम से किराये पर भी देगी यंत्र
Total View  643

उत्तर प्रदेश में छोटे किसानों और छोटी कृषि भूमि पर खेती करने वालों की सुविधा के लिए योगी सरकार ने अनूठी योजना बनाई है। जिसके तहत उन्हें न सिर्फ खेतीबाड़ी में काम आने वाले महंगे कृषियंत्रों की खरीद फरोख्त में आसानी होगी। बल्कि वे अत्याधुनिक यंत्रों को किराये पर लेकर भी खेतीबाड़ी कर सकेंगे। इसके लिए योगी सरकार ने कस्टम हायरिंग सेंटर व कृषि यंत्र बैंक खोलने की योजना पर काम शुरु कर दिया है ताकि ज्यादा से ज्यादा किसान कृषि यंत्रों का उपयोग कर सकें और अधिक अन्न उपजा सकें।

लखनऊ, (दैनिक यूपी ब्यूरो)। उत्तर प्रदेश में छोटे किसानों और छोटी कृषि भूमि पर खेती करने वालों की सुविधा के लिए योगी सरकार ने अनूठी योजना बनाई है। जिसके तहत उन्हें न सिर्फ खेतीबाड़ी में काम आने वाले महंगे कृषियंत्रों की खरीद फरोख्त में आसानी होगी। बल्कि वे अत्याधुनिक यंत्रों को किराये पर लेकर भी खेतीबाड़ी कर सकेंगे। इसके लिए योगी सरकार ने कस्टम हायरिंग सेंटर व कृषि यंत्र बैंक खोलने की योजना पर काम शुरु कर दिया है ताकि ज्यादा से ज्यादा किसान कृषि यंत्रों का उपयोग कर सकें और अधिक अन्न उपजा सकें। 


इस योजना के तहत सरकार किसान, उद्यमी, पंजीकृत किसान समिति, सहकारी समिति से लेकर ग्राम पंचायत तक को इसके लिए अनुदान दे रही है। इस वर्ष तीन अलग-अलग योजनाओं में 2850 केंद्र खोले जाने हैं। इनमें 1800 केंद्रों का चयन लगभग पूरा हो चुका है, अन्य के लिए आवेदन लिए जा रहे हैं। प्रदेश में करीब 92 प्रतिशत किसान लघु व सीमांत हैं, जमीन कम है और उनकी आर्थिक स्थिति भी ऐसी नहीं है कि वे महंगे कृषि यंत्र खरीद सकें। उनके लिए कस्टम हायरिंग सेंटर व कृषि यंत्र बैंक खोले जा रहे हैं। राज्य सरकार व जिला स्तरीय समिति कृषि यंत्रों का किराया तय कर चुकी है। कृषि निदेशक विवेक कुमार सिंह ने बताया कि जल्द ही कुछ केंद्र शुरू हो जाएंगे।

कस्टम हायरिंग सेंटरः प्रदेश भर में 1050 सेंटर खोले जाने का लक्ष्य तय किया गया है। इसमें किसान, उद्यमी, एफपीओ (किसान उत्पादक संगठन), पंजीकृत किसान समिति व पंजीकृत राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की महिला समूह आवेदन कर सकते हैं। कुल दस लाख रुपये की योजना में किसान, उद्यमी या समिति को 40 प्रतिशत का अनुदान मिलेगा। पांच लाख रुपये के फसल अवशेष प्रबंधन के लिए यंत्र लेना अनिवार्य है। इसके लिए पोर्टल पर आवेदन शुरू हो गए हैं, पहले आओ पहले पाओ के तहत मंडलवार आवेदन 21 अक्टूबर तक लिए जाएंगे। इसके बाद चिन्हितों के सेंटर खोलने की प्रक्रिया पूरी कराई जाएगी।

फार्म मशीनरी बैंकः फार्म मशीनरी बैंक खोलने के लिए एफपीओ (किसान उत्पादक संगठन), पंजीकृत किसान समिति व पंजीकृत राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की महिला समूह से ही आवेदन लिए गए हैं। कुल 15 लाख रुपये की परियोजना में 12 लाख रुपये यानी 80 प्रतिशत अनुदान मिलेगा। इसमें 900 लोगों का लक्ष्य है और 1800 आवेदन हुए हैं करीब 700 लोगों ने कृषि यंत्र खरीद करके पोर्टल पर अपलोड कर दिया है। तैयारी है कि करीब 150 बैंक और खोले जाएं।


फार्म मशीनरी बैंक फसल अवशेष प्रबंधन योजनाः इस योजना के तहत 900 केंद्र खोलने का लक्ष्य है। इसमें गन्ना समिति, सहकारी समित, औद्यानिक समिति व ग्राम पंचायतें को ही चिन्हित किया गया है। पांच लाख रुपये की योजना में चार लाख रुपये यानी 80 फीसद अनुदान दिया जा रहा है। इसमें फसल अवशेष प्रबंधन के यंत्र रखे जाने हैं। इस योजना का लाभ उन जिलों के किसान ले सकेंगे जहां पराली जलाने की घटनाएं होती रही हैं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   7557764
 
     
Related Links :-
यूपी पावर कारपोरेशन तय मानकों के साथ 28 लाख से ज्यादा घरों में लगाएगा स्मार्ट मीटर
रेलवे पहली बार लखनऊ से गोवा रवाना करेगा स्पेशल ट्रेन, 27 नवंबर को होगा ट्रायल
लखनऊ में मुलायम सिंह यादव से मिले कुंडा के विधायक राजा भैया, भेंट के बाद दी सफाई
यूपी में सरकार बनी तो आंदोलन में शहीद किसानों के परिजनों को देंगे 25 लाख रुपये : अखिलेश यादव
यूपी में पुलिस के वाहन चलाएंगी महिला होमगार्ड, एक माह के प्रशिक्षण के दौरान मिलेगा दैनिक भत्ता
कोरोना की जांच ही उपचार को लेकर सरकार सख्त, यूपी के शेष 15 जिलों में भी खुलेंगी कोरोना जांच लैब
56वें आल इंडिया डीजीपी कांफ्रेंस को संबोधित करेंगे पीएम मोदी, कई गंभीर मुद्दों पर होगी चर्चा
अब किसान खुद जांच सकेंगे जमीन की गुणवत्ता, उत्पादन के साथ बढ़ा सकेंगे आय; मोबाइल एप से मिलेगी जानकारी
बसपा सुप्रीमो मायावती के घर पहुंची राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मां के निधन पर जताया शोक
यूपी में जुटेंगे देशभर के राज्यों के पुलिस प्रमुख, अमित शाह रहेंगे मौजूद;पीएम मोदी करेंगे संबोधित
 
CopyRight 2016 DanikUp.com