दैनिक यूपी ब्यूरो
06/10/2021  :  21:12 HH:MM
सारे पापों का निवारण मात्र प्रभु का नाम है : कर्म योगी परमहंस
Total View  645

क्षेत्र के श्री जटाधारी महादेव भुवाकला खपरहां में पित्रविसर्जन के अवसर पर बुधवार को श्री राम कथा का आयोजन किया गया। इस दौरान भारी संख्या में श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ आया। वहीं, श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कर्म योगी बाबा परमहंस स्वामी ने भगवान के नाम का मार्मिक वर्णन करते हुए कहा कि संसार में पाप ज्यादा हो गया, पर वह भगवान का नाम लेने मात्र से ही कट जाएंगे। इस पाप को खत्म करने के लिए कलियुग में प्रभु का नाम लेने के सिवाय कोई और उपाय भी नहीं है।

मछली शहर, (दैनिक यूपी ब्यूरो)। क्षेत्र के श्री जटाधारी महादेव भुवाकला खपरहां में पित्रविसर्जन के अवसर पर बुधवार को श्री राम कथा का आयोजन किया गया। इस दौरान भारी संख्या में श्रद्धालुओं का हुजूम उमड़ आया। वहीं, श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कर्म योगी बाबा परमहंस स्वामी ने भगवान के नाम का मार्मिक वर्णन करते हुए कहा कि संसार में पाप ज्यादा हो गया, पर वह भगवान का नाम लेने मात्र से ही कट जाएंगे। इस पाप को खत्म करने के लिए कलियुग में प्रभु का नाम लेने के सिवाय कोई और उपाय भी नहीं है।

उन्होंने आगे कहा, नाम में भी एक भ्रम यह है कि अयोध्या वासी सीता-राम के गुण गायेंगे ,वृन्दावन वासी कृष्ण के गुण गायेंगे, काशी वाले शंकर के गुण गायेंगे तब जिज्ञासु भ्रम में पड़ जाता है कि किसका नाम ठीक है? किसका गुण गाया जाए? वे तो सब अपनी -अपनी जगह ठीक ही गुण गाते हैं, जो नाम आपको प्यारा लगे, उसी एक को पकड़ विश्वास कर लीजिए। पर सभी जगह मन को मत भटकाईये। एक पर ही मन को पूरा एकाग्र कर लीजिये।कलि केवल मल मूल मलीना पाप पायोनिधि जन मन मीना यानी मनुष्यों का मन मछली है और यह संसार पाप का समुद्र है जैसे मछली जल के बिना नहीं रह सकती, उसी प्रकार मनुष्य भी पाप किए बिना नहीं रहता है। इसलिये भगवान के नाम की महिमा कलियुग के लिये विशेष बताई गई है। पर अन्दर में भाव होना चाहिए। इस अवसर पर यज्ञाचार्य क्रोधानंद महाराज, (अयोध्याधाम),  सांन्तानंद महाराज (ऋषिकेश धाम) रमापत शास्त्री महाराज  ,हृदय नारायण उपाध्याय महाराज,संत सेवक बाबा, विशाल यजमान राजनाथ चौबे सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   395200
 
     
Related Links :-
देवोत्थान एकादशी आज : मांगलिक कार्य शुरू, चार माह से लगी थी रोक
13 को कनाडा से लखनऊ आएगी प्राचीन मां अन्‍नपूर्णा देवी की मूर्त‍ि, सौ साल पहले वाराणसी से हुई थी चोरी
छठ पूजा : सूर्य उपासना के महापर्व पर अस्तांचलगामी सूर्य को आज अर्घ्य देंगी व्रती महिलाएं
हस्तलिखित व 800 साल पुराना जैन धर्म ग्रंथ होगा संरक्षित, अभी लखनऊ के आशियाना जैन मंदिर में है सुरक्षित
छठ पूजा: नहाय खाय के साथ शुरू हुआ विधान, 36 घंटे का निर्जला व्रत कल से
छठ महापर्व के दौरान जरूरी है कोरोना का उचित व्यवहार
जानिए, दीपावली के सुबह से रात तक पूजन के मुहूर्त : शाम 5.19 बजे से 7.53 बजे तक रहेगा प्रदोष काल
कोरोना महामारी से छाया मंदी का बादल छंटा, धनतेरस पर बाजारों में हुई धनवर्षा
करवा चौथ : अखंड सौभाग्य के लिए महिलाएं रखेंगी व्रत, करवे के लिए सजे बाजार
अयोध्‍या : एक नवंबर से शुरू होगा दीपोत्‍सव, ड्रोन कैमरों से दिखाई जाएगी रामलीला
 
CopyRight 2016 DanikUp.com