दैनिक यूपी ब्यूरो
14/09/2021  :  10:20 HH:MM
कोर्ट की अवमानना: कोतवाल व तहसीलदार को चार घंटे तक रखा खड़ा, फिर सुनाई सजा
Total View  15

एक स्थगनादेश की अवमानना मामले की सुनवाई के दौरान दोषी पाए गए नगर कोतवाल और नायब तहसीलदार को जूनियर डिवीजन के सिविल जज खान जिशान मसूद के आदेश पर अभिरक्षा में ले लिया गया। करीब साढ़े चार बजे जज ने कोतवाल को तीन दिन का कारावास व 66 रुपये का अर्थदंड व नायब तहसीलदार को एक माह कारागार व 120 रुपये के अर्थदंड की सजा सुना दी।

बाराबंकी,(दैनिक यूपी ब्यूरो)। एक स्थगनादेश की अवमानना मामले की सुनवाई के दौरान दोषी पाए गए नगर कोतवाल और नायब तहसीलदार को जूनियर डिवीजन के सिविल जज खान जिशान मसूद के आदेश पर अभिरक्षा में ले लिया गया। करीब साढ़े चार बजे जज ने कोतवाल को तीन दिन का कारावास व 66 रुपये का अर्थदंड व नायब तहसीलदार को एक माह कारागार व 120 रुपये के अर्थदंड की सजा सुना दी।

हालांकि, इस आदेश के खिलाफ अपर सत्र न्यायाधीश प्रथम नित्यानंद श्रीनेत्र की कोर्ट में अपील की गई, जिस पर उन्होंने स्थगनादेश दे दिया। इससे पहले दोनों को जेल भेजने की पूरी तैयारी की जा चुकी थी, जिसके तहत कोतवाल के स्टार, बेल्ट, बैच व सर्विस रिवाल्वर उतरवा लिए गए थे। साथ ही उनके मोबाइल फोन जमा करा लिए गए। इसके बाद वह करीब चार घंटे तक अकेले कटघरे में रहे। इसके बाद न्यायालय पहुंचे नायब तहसीलदार केशव प्रसाद सिंह को भी हिरासत में ले लिया गया।  

कोतवाली नगर के आलापुर गांव के मोहम्मद आलम व मुसम्मात मुबीन आदि में गांव की ही एक जमीन पर कब्जेदारी का विवाद था। मोहम्मद आलम व उनके भाई शकील की ओर से अधिवक्ता संदीप सिंह ने सिविल जज जूनियर डिवीजन कोर्ट संख्या-13 में वाद दायर किया था। एक जुलाई को न्यायालय ने मो. आलम के पक्ष में स्थगनादेश दे दिया था। जानकारी के बावजूद पांच अगस्त को विपक्षी मुबीन, मोहसिना, सलमान, रिजवान, गुफरान, मुख्तार अहमद, दाउद के साथ नगर कोतवाल अमर सिंह ने विवादित जमीन पर पहुंचकर दखल किया। छह अगस्त को विपक्षियों ने बिना पैमाइश के खूंटे गड़वा दिए और नौ अगस्त की रात दीवार गिरा दी थी।

एसडीएम के आदेश पर रोका काम : कोर्ट को भेजी आख्या में कोतवाल ने एसडीएम नवाबगंज के मौखिक आदेश पर विवादित जमीन पर वादीजन का निर्माण कार्य रोकने की बात लिखी है। अवमानना के तहत दायर किए गए वाद में नगर कोतवाल अमर सिंह, एसडीएम नवाबगंज, लेखपाल प्रह्लाद नरायन तिवारी और नायब तहसीलदार केशव प्रसाद सिंह को भी आरोपित बनाया गया था। सोमवार को न्यायालय ने नायब तहसीलदार व कोतवाल को तलब किया था।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6968216
 
     
Related Links :-
प्रयागराज में दुष्‍कर्म के बाद मां-बेटी की हत्‍या, मृतका के परिजनों ने किसी से कोई रंजिश होने से किया इनकार
रिटायर अधिकारी को नौकरी दिलाने का झांसा देकर ठगे 7 लाख रुपए
थाने में खड़े ट्रक से बरामद हुआ एक क्विंटल गांजा
मौलाना कलीम सिद्दीकी को यूपी एटीएस ने किया गिरफ्तार, धर्मांतरण के लिए हवाला फंडिंग का आरोप
दुपट्टे के सहारे लटकता मिला विवाहिता का शव
विवाहिता से दुष्कर्म : वीडियो बनाकर कर रहा था ब्लैकमेल, पुलिस ने दबोचा
युवक - युवती की गाेली मारकर हत्या, युवक के परिजनों ने लगाया आनर किलिंग का आराेप
ट्रक हेल्पर की हत्या करने वाले बदमाश पुलिस से मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार, एक को लगी गोली
आतंकियों के स्लीपिंग सेल का अहम सदस्य था आमिर, खजूर बेचने के बहाने करता था रेकी
कोर्ट की अवमानना: कोतवाल व तहसीलदार को चार घंटे तक रखा खड़ा, फिर सुनाई सजा
 
CopyRight 2016 DanikUp.com