18/08/2021  :  11:32 HH:MM
विधानसभा में चर्चा के दौरान सोने पर सपा ने सीएम योगी पर कसा तंज -निद्रा नहीं, चिंतन में लीन थे ‘माननीय’
Total View  644

समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो अखिलेश यादव ने नाम लिए बगैर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तंज कसा है। इसके लिए उन्होंने बुधवार को एक ट्वीट किया और लिखा कि ‘माननीय’ सदन में निद्रा में लीन नहीं थे, बल्कि वह इस चिंतन में लीन थे कि उनके समय में प्रदेश की जो दुर्दशा हुई है और उसके कारण जनता में जो असीमित आक्रोश है, उसका सामना कैसे किया जाए?

लखनऊ, (दैनिक यूपी ब्यूरो)। समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो अखिलेश यादव ने नाम लिए बगैर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर तंज कसा है। इसके लिए उन्होंने बुधवार को एक ट्वीट किया और लिखा कि ‘माननीय’ सदन में निद्रा में लीन नहीं थे, बल्कि वह इस चिंतन में लीन थे कि उनके समय में प्रदेश की जो दुर्दशा हुई है और उसके कारण जनता में जो असीमित आक्रोश है, उसका सामना कैसे किया जाए?

दरअसल, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने मंगलवार को विधान परिषद कार्यवाही के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कुछ तस्वीरें ट्वीट की थी। उसी मामले को आगे बढ़ाते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि 'ये आरोप निराधार है कि ‘माननीय’ सदन में निद्रा में लीन थे। सच तो ये है कि वो इस चिंतन में लीन थे कि उनके समय में प्रदेश की जो दुर्दशा हुई है और उसके कारण जनता में जो असीमित आक्रोश है, उसका सामना कैसे किया जाए और अगले चुनाव में प्रत्याशी कहां से लाये जाएं।' 

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में कानून का राज खत्म हो गया है। उत्पीड़न, हिंसा और अराजकता से प्रदेशवासी डरे हुए हैं। राजधानी दिल्ली में प्रदेश की बेटी दुष्कर्म पीड़ित महिला के आत्मदाह की घटना से यूपी शर्मसार है। महोबा में छेड़खानी का विरोध करने पर महिला को जिंदा जला दिया गया। ऐसी घटनाएं भाजपा सरकार की विफलता का परिचायक है। अखिलेश ने कहा कि मथुरा में दिनदहाड़े करोड़ों की और गोरखपुर में लाखों की लूट ने एनकाउंटर वाली भाजपा सरकार के समय ध्वस्त हो चुकी कानून व्यवस्था की कलई खोल दी है। ऐसा लग रहा है कि यूपी में अपराधियों ने भाजपा सरकार का ही एनकाउंटर कर दिया है।


सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री के गृह जनपद गोरखपुर में दिनदहाड़े बदमाशों ने आखों में मिर्च पाउडर झोंककर लूट-पाट किया। अखिलेश ने कहा कि यह प्रदेश का दुर्भाग्य है कि मुख्यमंत्री कानून का पालन कराने की जगह पुलिस-प्रशासन को ठोको नीति की शिक्षा देते हैं। सरकारी सत्ता के इशारे पर विपक्षी दलों के नेताओं और कार्यकर्ताओं के मकान ढहाए जा रहे है। यह सरकार जेसीबी मानसिकता से कार्य कर रही है। जिसके तहत असहमति की आवाज को दबाया जा रहा हैं। भाजपा ने समाज में राजनैतिक शत्रुता पैदा की है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1498998
 
     
Related Links :-
सीएम योगी ने मुलायम सिंह यादव को जन्मदिन पर दी बधाई, प्रभु श्रीराम से की स्वास्थ्य की कामना
फीता आया लखनऊ से और नयी दिल्ली से कैंची आई, सपा के काम का श्रेय लेने को मची है 'खिचम-खिंचाई : अखिलेश
यूपी में खाद संकट पर बसपा सुप्रीमो ने योगी सरकार को घेरा, कहा- जल्द करें समस्या का समाधान
मायावती ने लखीमपुर कांड से की छत्तीसगढ़ घटना की तुलना, बोलीं-दोषियों के खिलाफ हो कार्रवाई
प्रियंका गांधी ने खुद को 28 घंटे से पुलिस हिरासत में रखने को लेकर नरेन्द्र मोदी सरकार पर उठाया सवाल
बसपा सुप्रीमो का भाजपा पर हमला, यूपी की डबल इंजन सरकार को बताया जुमलेबाज
मायावती ने बाढ़ पीड़ितों को दी जा रही सरकारी मदद को बताया कागजी, बसपा कार्यकर्ताओं को दिए मदद करने के निर्देश
किसान महापंचायत ने हिन्दू-मुस्लिम सौहार्द बढ़ाया, मुजफ्फरनगर दंगे के जख्म भरने में मिलेगी मदद : मायावती
मुलायम सिंह यादव का स्वास्थ्य जानने उनके आवास पर गए भाजपा अध्यक्ष को मिला सपा में शामिल होने का न्योता
हिंदुत्व और पिछड़ों के नाम पर वोट मांगेगी भाजपा, चुनावी रथ के अदृश्य सारथी होंगे कल्याण सिंह
 
CopyRight 2016 DanikUp.com