दैनिक यूपी ब्यूरो
21/07/2021  :  20:38 HH:MM
आगरा के मणप्पुरम गोल्ड लोन ऑफिस में डकैती डालने वाला बदमाश खुद पहुंचा थाने
Total View  602

आगरा के मणप्पुरम गोल्ड लोन ऑफिस में दिनदहाड़े डकैती डालने वाले बदमाशों को पकड़ने में जुटी पुलिस ने घटना के दो घण्टे बाद ही दो बदमाशों को मुठभेड़ में ढेर कर दिया। बाकी बदमाशों की दबिश अभी जारी है। वहीं, वारदात में शामिल एक बदमाश ने पुलिस के भय से खुद थाने पहुंच कर डकैती के दौरान निगरानी करने की बात कबूल ली। पुलिस ने बदमाश को हिरासत में ले लिया। एसएसपी मुनिराज ने प्रेसवार्ता के दौरान पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि बदमाश को जेल भेज दिया गया है।


आगरा, (दैनिक यूपी ब्यूरो)। आगरा के मणप्पुरम गोल्ड लोन ऑफिस में दिनदहाड़े डकैती डालने वाले बदमाशों को पकड़ने में जुटी पुलिस ने घटना के दो घण्टे बाद ही दो बदमाशों को मुठभेड़ में ढेर कर दिया। बाकी बदमाशों की दबिश अभी जारी है। वहीं, वारदात में शामिल एक बदमाश ने पुलिस के भय से खुद थाने पहुंच कर डकैती के दौरान निगरानी करने की बात कबूल ली। पुलिस ने बदमाश को हिरासत में ले लिया। एसएसपी मुनिराज ने प्रेसवार्ता के दौरान पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि बदमाश को जेल भेज दिया गया है।

बता दे कि आगरा के कमला नगर स्थित मणप्पुरम गोल्ड लोन ऑफिस में बीते शनिवार को दिनदहाड़े हथियारबंद बदमाशों ने करोड़ो रूपये के सोने के जेवरात व नगदी पर डकैती डाली थी।  वारदात के करीव दो घण्टे बाद ही पुलिस ने एत्मादपुर में मुठभेड़ के दौरान दो बदमाशों को ढेर कर दिया था। जिनकी शिनाख्त फीरोजाबाद के जैन नगर निवासी मनीष पांडेय और मटसेना थाना क्षेत्र के कनेटा निवासी निर्दोष कुमार के रूप में हुई थी। प्राप्त जानकारी के अनुसार डकैती डालने वाला गैंग फीरोजाबाद के सुहाग नगर निवासी नरेंद्र उर्फ लाला का बताया गया। तभी से पुलिस लाला और उसके साथियों की तलाश में दिनरात ताबड़तोड़ दबिश दे रही है। लेकिन एक भी बदमाश पुलिस के हाथ नहीं आया। लेकिन पुलिस के भय के चलते बारदात में शामिल एक बदमाश खुद बुधवार की दोपहर कमला नगर थाने जा पहुंचा। उसने पुलिस से जाकर कहा कि वह मणप्पुरम गोल्ड लोन ऑफिस में हुई डकैती में शामिल था। बदमाश ने अपना नाम फीरोजाबाद के मटसेना में कनेटा का रहने वाला प्रभात शर्मा बताया। बदमाश के खुद आत्मसमर्पण के दौरान उसने सारी बात बताते हुए कहा कि वह घटना के समय गोल्ड लोन ऑफिस के बाहर पार्क में बैठकर निगरानी कर रहा था। 

वारदात के बाद पुलिस एनकाउंटर में मारे साथियों के हश्र से भयभीत होकर उसने पुलिस के सामने समर्पण करने का निर्णय लिया व खुद को समर्पण करने थाने पहुंचा। बदमाश ने पुलिस को पूछताछ के दौरान बताते हुए बताया कि डकैती में नरेंद्र उर्फ लाला, रेनू पंडित उर्फ अभिनाश मिश्रा, संतोष जाटव, अंशुल सोलंकी, मनीष पांडेय, निर्दोष प्रजापति साथ थे। जिसमे अभी तक की जांच में सन्तोष जाटव का नाम नहीं आया था। पुलिस अभी तक बारदात में छह बदमाश शामिल मान रही थी। जबकि प्रभात शर्मा के बताये अनुसार घटना में सात बदमाश शामिल थे। सीसीटीवी कैमरे के फुटेज में पुलिस ने उससे सभी की पहचान भी करा ली है। अब अन्य बदमाशों की गिरफ्तारी को पुलिस दबिश दे रही है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8981740
 
     
Related Links :-
प्रयागराज में दुष्‍कर्म के बाद मां-बेटी की हत्‍या, मृतका के परिजनों ने किसी से कोई रंजिश होने से किया इनकार
रिटायर अधिकारी को नौकरी दिलाने का झांसा देकर ठगे 7 लाख रुपए
थाने में खड़े ट्रक से बरामद हुआ एक क्विंटल गांजा
मौलाना कलीम सिद्दीकी को यूपी एटीएस ने किया गिरफ्तार, धर्मांतरण के लिए हवाला फंडिंग का आरोप
दुपट्टे के सहारे लटकता मिला विवाहिता का शव
विवाहिता से दुष्कर्म : वीडियो बनाकर कर रहा था ब्लैकमेल, पुलिस ने दबोचा
युवक - युवती की गाेली मारकर हत्या, युवक के परिजनों ने लगाया आनर किलिंग का आराेप
ट्रक हेल्पर की हत्या करने वाले बदमाश पुलिस से मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार, एक को लगी गोली
आतंकियों के स्लीपिंग सेल का अहम सदस्य था आमिर, खजूर बेचने के बहाने करता था रेकी
कोर्ट की अवमानना: कोतवाल व तहसीलदार को चार घंटे तक रखा खड़ा, फिर सुनाई सजा
 
CopyRight 2016 DanikUp.com