दैनिक यूपी ब्यूरो
21/07/2021  :  10:43 HH:MM
कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों का भविष्य संवारेगी योगी सरकार, देगी 4 हजार रुपये महीना
Total View  570

वैश्विक महामारी कोरोना के चलते उत्तर प्रदेश में अनाथ व निराश्रित हुए 3817 बच्चों का भविष्य योगी सरकार संवारेगी। इसके लिए मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना तैयार की गई है जिसकी शुरुआत 22 जुलाई को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लखनऊ से करेंगे। योजना के तहत उक्त बच्चों का लालन-पालन करने वाले अभिभावकों के खाते में सरकार चार हजार रुपये प्रति बच्चे के हिसाब से हर तीन महीने में 12 हजार रुपये की धनराशि भेजेगी।

लखनऊ, (दैनिक यूपी ब्यूरो)। वैश्विक महामारी कोरोना के चलते उत्तर प्रदेश में अनाथ व निराश्रित हुए 3817 बच्चों का भविष्य योगी सरकार संवारेगी। इसके लिए मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना तैयार की गई है जिसकी शुरुआत 22 जुलाई को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लखनऊ से करेंगे। योजना के तहत उक्त बच्चों का लालन-पालन करने वाले अभिभावकों के खाते में सरकार चार हजार रुपये प्रति बच्चे के हिसाब से हर तीन महीने में 12 हजार रुपये की धनराशि भेजेगी।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का शुभारंभ लोकभवन से होगा। इस आयोजन में राजधानी के 50 अनाथ बच्चे शामिल होंगे, जिनसे राज्यपाल और मुख्यमंत्री मुलाकात कर योजना में चयनित होने का स्वीकृति पत्र देंगे। इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण सभी 75 जिलों में भी किया जाएगा। साथ ही इसी दिन सभी जिलों में इस योजना से जुड़े आयोजन होंगे। कोरोना संक्रमण के कारण अनाथ व निराश्रित हुए 3817 बच्चों में 333 ऐसे हैं, जिनके माता व पिता दोनों अब इस दुनिया में नहीं हैं। 3484 बच्चों ने अपने माता-पिता में से एक को खोया है।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना का मूल उद्देश्य कोरोना महामारी में अनाथ हुए बच्चों की सारी जरूरतें पूरी करना है। योजना में 18 साल तक के ऐसे बच्चे शामिल किए गए हैं, जिनके माता-पिता दोनों की मृत्यु कोरोना से हो गयी हो या फिर माता-पिता में से एक की मृत्यु एक मार्च, 2020 से पहले हो गई हो और दूसरे की मृत्यु कोरोना काल में हो गई हो या फिर माता-पिता दोनों की मौत एक मार्च 2020 से पहले हो गई थी और वैध संरक्षक की मृत्यु इस महामारी से हो गई हो।

18 साल तक के बच्चों के वैध संरक्षक के बैंक खाते में चार हजार रुपये प्रतिमाह दिया जाएगा। बशर्ते कि बच्चे का दाखिला किसी मान्यता प्राप्त विद्यालय में कराया गया हो। समय से टीकाकरण भी होना चाहिए। जिन बच्चों को बाल गृहों में रखा जा रहा है, उनको कक्षा छह से 12 तक की शिक्षा के लिए अटल आवासीय विद्यालयों व कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में दाखिला दिलाया जाएगा। संरक्षक 11 से 18 साल के बच्चों की कक्षा-12 तक की मुफ्त शिक्षा के लिए अटल आवासीय विद्यालयों व कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में भी प्रवेश करा सकेंगे। योजना के तहत चिन्हित बालिकाओं के शादी के योग्य होने पर शादी के लिए एक लाख एक हजार रुपये दिए जाएंगे। कक्षा-9 या इससे ऊपर की कक्षा में या व्यावसायिक शिक्षा प्राप्त कर रहे 18 साल तक के बच्चों को टैबलेट या लैपटाप उपलब्ध करवाया जाएगा।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   7219225
 
     
Related Links :-
यूपी में कोरोना संक्रमितों की संख्या हुई एक हजार से कम, डेल्टा प्लस वैरिएंट भी नहीं मिला
आतंक का फ्रूट बम : खरबूजे में गेंद, गेंद में विस्फोटक और फिर यूपी में तबाही का था प्लान
कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों का भविष्य संवारेगी योगी सरकार, देगी 4 हजार रुपये महीना
लोकसभा में पीएम के बोलने पर हुआ हंगामा, कार्यवाही दो बजे तक स्थगित
समाधान दिवस पर गढ़मुक्तेश्वर तहसील में 16 शिकायतें प्राप्त 4 का निस्तारण
यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटा निर्वाचन आयोग, मतदाता सूची की जाएगी अद्यतन
राम मंदिर निर्माण की समय सीमा तय, साल 2023 खत्म होने से पहले कर सकेंगे दर्शन
यूपी सरकार के विभागों में बंपर तबादले, दो साल बाद कार्मिकों को किया गया इधर से उधर
यूपी पंचायत चुनाव में धांधली और बढ़ती महंगाई के खिलाफ सपा का हल्ला बोल
अखिलेश यादव ने जनता से की टीका लगवाने की अपील , बोले- कोरोना प्रबंधन में सरकार फेल
 
CopyRight 2016 DanikUp.com