दैनिक यूपी ब्यूरो
10/07/2021  :  17:33 HH:MM
लखनऊ में चिनहट छोड़कर सभी सात सीट पर भाजपा जीती, समाजवादी पार्टी का पत्ता साफ
Total View  571

उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तहत गांव तथा जिला की सरकार के गठन के बाद अब ब्लाक की सरकार के गठन का मार्ग प्रशस्त हो रहा है। प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को ब्लाक प्रमुख चुनाव में बम्पर जीत मिली है। यानी शहर की पार्टी मानी जाने वाली भारतीय जनता पार्टी ने अब गांवों में भी अपना दबदबा कायम कर लिया है। भाजपा ने 476 ब्लाक के लिए आज सम्पन्न मतदान मे जोरदार प्रदर्शन किया है। पश्चिमी यूपी से लेकर पूर्वी तथा मध्य यूपी के साथ बृज क्षेत्र और बुंदेलखंड में भी भाजपा ने ब्लाक प्रमुख चुनाव में अपना परचम लहरा दिया। प्रदेश में ब्लाक प्रमुख के कुल 825 पद में से 349 प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं और उनमें से 334 पद पर भाजपा ने कब्जा कर लिया है। वहीं, शेष ब्लॉक में आज हुए मतदान के बाद भी बाजी अपने हाथ में कर ली है।

लखनऊ, (दैनिक यूपी ब्यूरो)। उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तहत गांव तथा जिला की सरकार के गठन के बाद अब ब्लाक की सरकार के गठन का मार्ग प्रशस्त हो रहा है। प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को ब्लाक प्रमुख चुनाव में बम्पर जीत मिली है। यानी शहर की पार्टी मानी जाने वाली भारतीय जनता पार्टी ने अब गांवों में भी अपना दबदबा कायम कर लिया है। भाजपा ने 476 ब्लाक के लिए आज सम्पन्न मतदान मे जोरदार प्रदर्शन किया है। पश्चिमी यूपी से लेकर पूर्वी तथा मध्य यूपी के साथ बृज क्षेत्र और बुंदेलखंड में भी भाजपा ने ब्लाक प्रमुख चुनाव में अपना परचम लहरा दिया। प्रदेश में ब्लाक प्रमुख के कुल 825 पद में से 349 प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं और उनमें से  334 पद पर भाजपा ने कब्जा कर लिया है। वहीं, शेष ब्लॉक में आज हुए मतदान के बाद भी बाजी अपने हाथ में कर ली है।

भारतीय जनता पार्टी में लखनऊ की आठ ब्लाक प्रमुख सीट पर आज हुए मतदान में सात पर जीत दर्ज की है। लखनऊ में भाजपा ने चिनहट को छोड़कर अन्य सात ब्लाक प्रमुख सीट पर जीत दर्ज की है। चिनहट में निर्दलीय उम्मीदवार ऊषा यादव ने बाजी मारी। बाकी सात सीट पर भाजपा का परचम लहराया है। लखनऊ मे पहली बार समाजवादी पार्टी का खाता नहीं खुला है। समाजवादी पार्टी के पास आठ में से छह सीट थी। समाजवादी पार्टी पहली बार आठ में से एक भी सीट नही जीत सकी।

गोंडा जिले में ब्लाक प्रमुख की 16 सीट में से 15 पर मतदान हुआ। जिसमें भाजपा ने 14 में जीत दर्ज की, जबकि समाजवादी पार्टी भी एक सीट के साथ खाता खोलने में सफल रही।

गोंडा के झंझरी से भाजपा की रेखा मिश्रा, पंडरीकृपाल से प्रियंका गौतम, इटियाथोक से पूनम द्विवेदी, कर्नलगंज से तिलका देवी, परसपुर से प्रियंका सिंह, हलधरमऊ से रिचा सिंह, कटराबाजार से जुगरानी शुक्ला, मनकापुर से जगदेव चौधरी, छपिया से अनिल कुमार पासवान, बभनजोत से मधुलिका पटेल, तरबगंज से मनोज कुमार पांडेय, बेलसर से राजेंद्र प्रताप सिंह, नवाबगंज से अरुंधति सिंह तथा वजीरगंज से अनीता यादव ने जीत दर्ज की। यहां से समाजवादी पार्टी की बबिता सिंह ने रुपईडीह से बाजी मारी।

बागपत में शनिवार को ब्लाक प्रमुख के चुनाव के लिए फर्जी वोटर बनी महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है। यहां के पिलाना ब्लॉक में फर्जी अफसाना बनकर वोट डालने गई महिला को पुलिस ने अपनी हिरासत में लेकर लॉकअप मे भेज दिया है। लोनी निवासी नगमा खातून यहां पर अफसाना बनकर वोट डालने जा रही थी। अफसाना पहले ही वोट डाल चुकीं थी, इसी कारण नगमा खातून चुनाव अधिकारी की गिरफ्त में आ गई।

इटावा में ब्लाक प्रमुख चुनाव के दौरान बढ़पुरा ब्लाक परिसर के बाहर हवाई फायरिंग की गई। यहां पर भाजपा समर्थकों ने सपा समर्थकों पर बीडीसी को धमकाने के आरोप लगाए हैं। मौके पर पहुंचे एएसपी सिटी प्रशांत कुमार ने भाजपा समर्थकों को समझाने का प्रयास किया तो उनके साथ भी धक्का-मुक्की व खींचा तानी की गई। उनके एक व्यक्ति ने थप्पड़ मार दिया। जिससे जमीन पर गिर पड़े। बाद में अतिरिक्त पुलिस बल के आ जाने के बाद सभी को पीछे खदेड़ दिया गया। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े।

इस ब्लाक में सपा प्रत्याशी आनंद यादव टंटी व भाजपा प्रत्याशी गणेश राजपूत के बीच मुकाबला है। यह मुकाबला दोनों ही दलों के लिए शुरू से ही प्रतिष्ठापूर्ण बना हुआ है। दोपहर एक बजे तक वोटिंग ठीक चल रही थी। उसके बाद मतदान केंद्र से 200 मीटर की दूरी के बाद खड़े भाजपा समर्थकों ने सपा समर्थकों पर उनके वोटर को धमकाने का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। जब उन्हें समझाने एएसपी सिटी पहुंचे तो पीछे से कुछ समर्थकों ने फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस बल की मौजूदगी में एएसपी सिटी उन लोगों को पीछे खदेड़ने में कामयाब हो गए। सूचना मिलने पर जिलाधिकारी श्रुति सिंह व एसएसपी डा. बृजेश कुमार सिंह मौके पर पहुंचे तो उनके सामने ही भीड़ में पीछे से किसी से फिर दो-तीन राउंड फायर किए। डीएम, एसएसपी द्वारा बड़ी संख्या में पुलिसबल को लेकर भीड़ को पीछे खदेड़ा गया है। यहां पर पुलिसजनों की सदर विधायक सरिता भदौरिया व भाजपा जिलाध्यक्ष अजय प्रताप धाकरे से बहस भी हुई। सरिता भदौरिया का आरोप था कि सपा के लोगों ने उनके सदस्यों को धमकाया है।

कानपुर देहात के सरवनखेड़ा ब्लाक में निर्दलीय प्रत्याशियों के समर्थक आमने-सामने आ गए। कई राउंड फायरिंग के बाद वाहनों में तोड़फोड़ की गई। पुलिस बल जुटा तो सभी भाग निकले। एक प्रत्याशी कानपुर के भाजपा विधायक महेश त्रिवेदी की भाभी हैं। सरवनखेड़ा ब्लाक में उर्वशी चंदेल व भाजपा विधायक महेश त्रिवेदी की भाभी निर्दलीय प्रत्याशी उपमा त्रिवेदी आमने सामने हैं। मतदान के समय दोपहर में उर्वशी पक्ष के लोगों ने उपमा के समर्थकों पर मतदान केंद्र तक जाने के दौरान धमकाने व रूकावट का आरोप लगाया। काफी देर गहमागहमी के बाद दोनों तरफ से लोग एकजुट हो गए और फायरिंग शुरू हो गई। एक दूसरे के वाहनों को भी डंडा व ईंट मारकर तोड़ दिया गया। पुलिस बल ने लाठी लेकर खदेड़ा तो सभी भाग निकले। किसी के अभी तक घायल होने की जानकारी नहीं है। डीएम जेपी सिंह व एसपी केशव कुमार चौधरी भी पहुंचे और स्थिति को नियंत्रित किया।

प्रतापगढ़ के आसपुर देवसरा ब्लाक में पुलिस को बवाल करने वालों को काबू में लेने के लिए हवाई फायरिंग करनी पड़ी। यहां के आसपुर देवसरा ब्लॉक में चल रहे मतदान के दौरान लगभग एक बजे पुलिस ने एक पक्ष से जुटी भीड़ को तितर-बितर करने के लिए दौड़ाया तो लोग ईट पत्थर चलाने लगे। पुलिस ने जवाब देने के लिए हवा में गोलियां चलाई। इससे सनसनी फैल गई। कुछ देर तक मामला शांत रहा उसके बाद पुन: मतदान शुरू हो गया। यहां एडीएम शत्रुघ्न वैश्य के साथ पुलिस व पीएसी के जवान मौके पर हैं। प्रयागराज में 21, प्रतापगढ़ में 11 और कौशांबी में सात ब्लाक प्रमुख चुनने के लिए बीडीसी सदस्य वोट डाल रहे हैं।

ब्लाक प्रमुख चुनाव के लिए ब्लाक मुख्यालयों पर मतदान जारी है। मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना ब्लाक में मतदान के दौरान भाजपा विधायक के आने पर विपक्षियों ने हंगामा करते हुए नारेबाजी शुरू कर दी। दोनों तरफ से समर्थक आमने-सामने आ गए। भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत भी पहुंच गए। पुलिस ने समझाकर स्थिति संभाली। नरेश टिकैत ने आरोप लगाया कि प्रशासन भाजपा के दबाव में काम कर रहा है। सहारनपुर में भाजपा प्रत्याशी के समर्थक बीडीसी सदस्यों को हेल्पर दिए जाने और विपक्ष के प्रत्याशी के सदस्यों को हेल्पर न दिए जाने को लेकर हंगामा हुआ। बागपत में रालोद कार्यकर्ताओं की पुलिस से नोकझोंक हुई। मेरठ, बिजनौर, बुलंदशहर और शामली में शांतिपूर्ण मतदान चल रहा है।

हमीरपुर के सुमेरपुर विकासखंड में ब्लाक प्रमुख पद के लिए हो रहे मतदान के दौरान सपा व भाजपा कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। दोनों पक्षों में जमकर लाठी-डंडे चले। जिसमें दो वाहन क्षतिग्रस्त होने के साथ सपा प्रत्याशी समेत उनका बीडीसी भाई घायल हो गया। हालांकि मामले को शांत करा पुलिस ने प्रत्याशी व उनके भाई को मतदान स्थल में प्रवेश कराया। जिले में ब्लाक प्रमुख पद को लेकर सुमेरपुर का चुनाव सबसे अधिक संवेदनशील है। यहां चुनाव को लेकर शुक्रवार रात से सरगर्मियां तेज हैं। जहां जालौन के एट थानाक्षेत्र स्थित एक महाविद्यालय में रुके सपा प्रत्याशी जयनारायन सिंह यादव के समर्थक बीडीसी सदस्यों के साथ मारपीट की गई। साथ ही चार सदस्यों को भी मौके से उठा लिया गया।

इसके बाद शेष सदस्यों व प्रत्याशी को थाने में बैठाए रखा गया। शनिवार सुबह सभी को वहां से छोड़ दिया गया। वहीं सुमेरपुर विकासखंड परिसर में मतदान शुरू होते ही सबसे पहले भाजपा समर्थित प्रत्याशी पूजा सिंह 11 बीडीसी सदस्यों के साथ मतदान को पहुंची। वहीं बाद में सपा समर्थित प्रत्याशी जयनरायन सिंह यादव अपने समर्थक बीडीसी सदस्यों के साथ मतदान को जा रहे थे। तभी हाईवे में श्री गायत्री विद्यामंदिर इंटर कॉलेज के पास मौजूद भाजपा समर्थकों से सपा समर्थकों की झड़प होने लगी। कुछ ही देर में दोनों पक्षों में जमकर लाठी डंडे चलने लगे। जिसमें सपा प्रत्याशी की स्कॉर्पियो व भाजपा समर्थक की कार क्षतिग्रस्त हो गई। इसके अलावा सपा प्रत्याशी जयनरायन व उनके बीडीसी भाई राजनारायन के भी चोटें आई। वहीं पुलिस मामले को शांत कराने में जुटी रही। बाद में समझाने के बाद दोनों पक्ष शांत हो गए। सपा समर्थकों को जहां तपोभूमि के पास रोक दिया गया। वहीं भाजपा समर्थक गायत्री विद्या मंदिर इंटर कॉलेज के सामने डटे रहे। इसके साथ ही सपा प्रत्याशी व उनके भाई को मतदान परिसर में प्रवेश कराया गया। हालांकि अभी भी माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है।

ब्लाक प्रमुखों के चुनाव के मतदान के दौरान प्रदेश में अतिरिक्त सतर्कता के निर्देश दिए गए हैं। नामांकन के दौरान हुई हिंसा के बाद अब हर जगह पुलिस प्रशासन चौकन्ना है। जिलों में वरिष्ठ अधिकारियों को भी फील्ड में मुस्तैद रहने के निर्देश है। अतरिक्त पीएसी भी तैनात की गई है। आज मतगणना पूरी होने तक पुलिस के लिए शांति व्यवस्था बनाये रखने की अग्निपरीक्षा होगी। ब्लाक प्रमुख के चुनाव की नामांकन तथा नाम पवासी प्रक्रिया के दौरान उत्तर प्रदेश में हिंसा, फायरिंग और पथराव के बीच में अब मतदान की बारी है। सूबे के हर ब्लाक में शनिवार को भारी सुरक्षा के बीच क्षेत्र पंचायत सदस्य ब्लाक प्रमुख चुनने के लिए मतदान करेंगे। बीते दिनों सपा व भाजपा समर्थकों की झड़प के बाद आज पीएसी की अतिरिक्त फोर्स भी हर ब्लाक में तैनात की गई है। हर ब्लाक पर सुरक्षा की जिम्मेदारी सीओ को सौंपी गई है।

प्रमुख क्षेत्र पंचायत (ब्लाक प्रमुख) के 825 पदों में से शुक्रवार को नामांकन वापसी के बाद 349 प्रमुख क्षेत्र पंचायत निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिए गए। इनमें से 334 से ज्यादा भाजपा के हैं। अब 476 पदों के लिए आज मतदान होगा। राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार ने बताया कि 825 प्रमुखों क्षेत्र पंचायत पदों के लिए कुल 1778 नामांकन गुरुवार को किए गए थे। जांच में कमियां मिलने पर 68 नामांकन रद कर दिए गए। इसी बीच 187 उम्मीदवारों ने अपना नामांकन वापस ले लिया। नाम वापसी के बाद जिन 349 पदों पर एक ही प्रत्याशी रह गया वहां संबंधित प्रत्याशी को निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया गया।

भाजपा के प्रदेश महामंंत्री जेपीएस राठौर ने बताया कि निर्विरोध निर्वाचित ब्लाक प्रमुखों में 334 से ज्यादा भाजपा के हैं। पार्टी की ओर से पंचायत चुनाव का दायित्व संभाल रहे राठौर के मुताबिक जिला पंचायत अध्यक्ष की तरह प्रमुखों क्षेत्र पंचायत के पदों पर भी भाजपा का शानदार प्रर्दशन रहेगा। जिन पदों के लिए शनिवार को मतदान है, उनमें से भी ज्यादातर पर भाजपा ही जीत हासिल करेगी।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8282960
 
     
Related Links :-
लखनऊ में चिनहट छोड़कर सभी सात सीट पर भाजपा जीती, समाजवादी पार्टी का पत्ता साफ
ब्‍लाक प्रमुख चुनाव में मतदाताओं को देने होंगे सभी प्रत्‍याशियों को वोट, तय करना होगा वरीयता क्रम
देवरिया : ब्लाक प्रमुख नामांकन विवाद के बावजूद, भाजपा के पांच प्रत्याशी निर्विरोध निर्वाचित
गोरखपुर : बांसगांव सीट से भाजपा प्रत्याशी की जीत तय
पारसनाथ यादव के गढ़ में सपा ने तो बक्शा से भाजपा ने नही उतारा प्रत्याशी
अब यूपी में होंगे ब्लाक प्रमुख के चुनाव, 10 जुलाई को 825 ब्लॉक में होगा मतदान
देवरिया जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर भाजपा के गिरीश ने किया कब्जा
यूपी जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव, भाजपा की आरती रावत ने दर्ज की लखनऊ में जीत
श्रीकला रेड्डी धनंजय सिंह जीती, जौनपुर जिला पंचायत अध्यक्ष का पद
यूपी : 53 जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के लिए आज होगा मतदान, 22 जिलों में हुआ निर्विरोध निर्वाचन
 
CopyRight 2016 DanikUp.com