दैनिक यूपी ब्यूरो
11/04/2021  :  23:05 HH:MM
सितालकुची में शरारती लड़कों को लगी गोलियां, दिलीप घोष के बिगड़े बोल, टीएमसी ने की गिरफ्तारी की मांग
Total View  110

पश्चिम बंगाल में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष के इस बयान से राज्य में राजनीतिक विवाद खड़ा हो सकता है। शनिवार को कूच बिहार में केंद्रीय सुरक्षा बल की फायरिंग में मारे गए 4 लड़कों को शरारती तत्व करार देते हुए कहा है कि यदि भविष्य में भी कोई ऐसा करता है तो कूच बिहार जैसी घटना हो सकती है।

कोलकाता | पश्चिम बंगाल में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष के इस बयान से राज्य में राजनीतिक विवाद खड़ा हो सकता है। शनिवार को कूच बिहार में केंद्रीय सुरक्षा बल की फायरिंग में मारे गए 4 लड़कों को शरारती तत्व करार देते हुए कहा है कि यदि भविष्य में भी कोई ऐसा करता है तो कूच बिहार जैसी घटना हो सकती है। दिलीप घोष ने रविवार को कहा, 'सितालकुची में शरारती लड़कों को गोलियां लगी हैं। यदि कोई भी कानून को अपने हाथ में लेने की कोशिश करेगा तो उसके साथ भी ऐसा हो सकता है।' हालांकि शरारती से उनका क्या अर्थ था, यह उन्होंने नहीं बताया। 
उनके इस बयान पर विपक्षी दलों ने तीखा हमला बोला है। टीएमसी ने दिलीप घोष को इस बयान के लिए गिरफ्तार किए जाने की मांग की है। वहीं वामपंथी दल सीपीएम का कहना है कि दिलीप घोष के इस बयान से बीजेपी का फासीवादी चेहरा उजागर हो गया है। उत्तर 24 परगना जिले के बारानगर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए दिलीप घोष ने कहा, 'वो शरारती लड़के जो यह समझ रहे थे कि चुनाव के दौरान केंद्रीय बलों की राइफले सिर्फ दिखाने के लिए हैं, वे सितालकुची की घटना देखने के बाद  कोई गलती नहीं करेंगे।' इस बीच रविवार को हादसे में मारे गए चारों लड़कों को दफना दिया गया।
'5वें राउंड में किसी ने कानून हाथ में लिया तो होगा सितालकुची जैसा हाल'
शनिवार को सितालकुची में एक पोलिंग बूथ के बाहर भीड़ ने सीआईएसएफ पर हमला कर दिया था। इस दौरान बचाव में केंद्रीय बल के जवानों ने फायरिंग कर दी थी, जिसमें 4 लोगों की मौत हो गई थी। सीआईएसएफ का कहना है कि कुछ उपद्रवी तत्व जवानों की राइफलें छीनने का प्रयास कर रहे थे और घातक हथियारों से हमला किया था। इसी घटना का जिक्र करते हुए दिलीप घोष ने कहा, '17 अप्रैल को 5वें राउंड की वोटिंग के दौरान केंद्रीय बलों की मौजूदगी भी बूथों पर रहेगी। यदि लोगों ने कानून अपने हाथ में लेने की कोशिश की तो फिर सितालकुची जैसी घटना हो सकती है।' इस बयान के बाद टीएमसी ने उन्हें तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की है।
सीपीएम ने कहा, बीजेपी फासीवादी चेहरा हुआ उजागर
टीएमसी के सांसद सुखेंदु शेखर रॉय ने कहा, 'हम उन्हें तत्काल गिरफ्तार किए जाने की मांग करते हैं। उनके इस भाषण से बंदूकधारी फोर्सेज का हौसला बढ़ेगा और वोटर्स की सुरक्षा खतरे में आ जाएगी।' जादवपुर सीट से सीपीएम के कैंडिडेट सुजान चक्रवर्ती ने कहा कि दिलीप घोष गैरजिम्मेदाराना बयान दे रहे हैं और इससे बीजेपी का फासीवादी चेहरा उजागर हुआ है। इससे पहले भी दिलीप घोष कई बार विवादित बयान दे चुके हैं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   9487693
 
     
Related Links :-
कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए मिलेंगे ज्यादा अपॉइंटमेंट स्लॉट, जानें- क्या है सरकार की तैयारी
सितालकुची में शरारती लड़कों को लगी गोलियां, दिलीप घोष के बिगड़े बोल, टीएमसी ने की गिरफ्तारी की मांग
शरद पवार के साथ मुलाकात पर गृहमंत्री अमित शाह के जवाब से बढ़ा सस्पेंस
तेजस्वी बोले- रामसूरत के भाई को डीएम ने मारा था थप्पड़, रोते हुए हमारे घर आए थे
ममता बनर्जी की हालत? डॉक्टरों ने बताया दीदी का ताजा हाल
त्रिवेंद्र रावत ही नहीं येदियुरप्पा और खट्टर के लिए भी है खतरे की घंटी, असंतोष नहीं हुए कम तो छिन जाएगी CM वाली कुर्सी
तमिलनाडु में चुनाव प्रचार करने से राहुल गांधी को रोकें, दर्ज की जाए FIR: चुनाव आयोग से बीजेपी
खट्टर या चौटाला...अविश्वास प्रस्ताव से ज्यादा टेंशन किसे? एक तीर से दो शिकार करने की क्या है कांग्रेस की रणनीति
मोहन भागवत ने की 'अखंड भारत' की वकालत, कहा- विभाजन के बाद से संकट में है पाकिस्तान
पीडीपी नेता वहीद पारा को कोर्ट ने बताया आतंकियों का मददगार, जमानत से इनकार; बचाव करती रहीं महबूबा मुफ्ती के लिए भी झटका
 
CopyRight 2016 DanikUp.com