दैनिक यूपी ब्यूरो
13/03/2021  :  22:53 HH:MM
तेज हवा और बारिश ने बदला मौसम का मिजाज, 8 डिग्री तक गिरा पारा, जानें मौसम का हाल
Total View  572

देश के कई हिस्सों में मौसम का रुख थोड़ा सा बदला है। कहीं आंधी और बारिश हुई तो कहीं ओले गिरे हैं। इससे तापमान में आठ डिग्री तक गिरावट दर्ज की गई है। लोगों को गर्मी से तो राहत जरूर मिली है, लेकिन फसलों को काफी नुकासना हुआ है।

नई दिल्ली। |देश के कई हिस्सों में मौसम का रुख थोड़ा सा बदला है। कहीं आंधी और बारिश हुई तो कहीं ओले गिरे हैं। इससे तापमान में आठ डिग्री तक गिरावट दर्ज की गई है। लोगों को गर्मी से तो राहत जरूर मिली है, लेकिन फसलों को काफी नुकासना हुआ है। बताते चलें कि बिहार, उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों, दिल्ली एनसीआर, राजस्थान और मध्य प्रदेश में आज बारिश हुई है।
बिहार के विभिन्न हिस्सों में आई आंधी-बारिश से 24 घंटे में अधिकतम पारा आठ डिग्री लुढ़क गया। इससे आम की मंजर को काफी नुकसान हुआ है। उधर मध्य प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में हल्की बौछारें पड़ीं और प्रदेश के 11 जिलों में गरज के साथ ओले गिरे। इसके अलावा राजस्थान के कोटा में कंवास और रामगंजमंडी तहसीलों में बेमौसम बारिश और ओले पड़ने से दर्जनों गांवों में फसलों को बहुत नुकसान हुआ है। पटना से मिले समाचार के अनुसार शुक्रवार और शनिवार को पटना समेत सूबे के कई जिलों में बादल छाए रहे। कृषि वैज्ञानिकों के अनुसार, तेज आंधी से आम के मंजर को नुकसान पहुंचा है। पश्चिमी चंपारण, औरंगाबाद, गया, नवादा, मधुबनी, शिवहर, किशनगंज व इसके आसपास 50 से 60 किमी की रफ्तार से हवा चली। इनमें एक-दो जगहों पर आंशिक बारिश भी हुई। पिछले 24 घंटे में सबसे अधिक बारिश गौनाहा में 29 मिमी, रामनगर में 28 मिमी, ढेंगराब्रिज और चनपटिया में 15 मिमी और बगहा में 13 मिमी दर्ज की गई।
मौसम विज्ञानी एसके पटेल ने बताया कि दो दिनों तक आंधी-बारिश के बाद रविवार से मौसम में बदलाव के आसार हैं। अगले 24 घंटे में पूर्वी बिहार को छोड़कर राज्य के शेष भाग में मौसम साफ रहने के आसार हैं।
एमपी में गरज-चमक के साथ बारिश हुई
मध्य प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में पिछले 24 घंटों में हल्की बौछारें पड़ीं और प्रदेश के 11 जिलों में गरज के साथ ओले गिरे। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि रविवार को मौसम शुष्क रहने की संभावना है। उन्होंने कहा,‘पिछले 24 घंटों में प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में बूंदाबांदी हुई है।’ आईएमडी भोपाल के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी पी के साहा ने बताया कि सागर में 44.2 मिमी बारिश हुई, जबकि 11 जिलों में गरज-चमक के साथ ओले भी गिरे हैं। उन्होंने कहा कि शनिवार को दिन के अंत तक मौसम ठीक होना शुरू हो गया। साहा ने कहा कि पश्चिमी राजस्थान और दक्षिण पूर्व मध्य प्रदेश के ऊपर चक्रवाती दबाव से मौसम में यह बदलाव हुआ।
राजस्थान के कोटा में बारिश से फसलों को नुकसान
कोटा (राजस्थान) जिले के कंवास और रामगंजमंडी तहसीलों में बेमौसम बारिश और ओले पड़ने से दर्जनों गांवों में फसलों को बहुत नुकसान हुआ है। एसडीएम संगोड राजेश डागा ने शनिवार को बताया कि शुक्रवार की शाम 20-25 मिनट तक हुई तेज बारिश और ओले से गेंहू, चना, धनिया और लहसुन के फसलों को नुकसान पहुंचा है। स्थानीय सांसद और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने फसलों के नुकसान पर चिंता व्यक्त करते हुए अपने ओएसडी को इस संबंध में रिपोर्ट देने को कहा है। ओम बिरला के ओएसडी राजीव दत्ता ने पूर्व विधायक हीरालाल नागर के साथ शनिवार को कंवास के प्रभावित इलाकों का दौरा किया।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3807252
 
     
Related Links :-
मैत्रेयी कॉलेज के सौजन्य से हुआ वृक्षारोपण
यूपी ने एक दिन में रोपे 25.51 करोड़ पौधे, बनाया कीर्तिमान
ग्राम वासियों ने कोरोना के खिलाफ लिया संकल्प, विश्व पर्यावरण दिवस पर किया पौधारोपण
तेज हवा और बारिश ने बदला मौसम का मिजाज, 8 डिग्री तक गिरा पारा, जानें मौसम का हाल
हावड़ा और कोलकाता देश के सबसे प्रदूषित शहर
झमाझम बारिश से यूपी से दिल्ली तक मौसम सुहाना
यूपी में इन 10 जिलों में आंधी-पानी की आशंका
पर्यावरण संरक्षण हेतु जनभागीदारी अति महत्वपूर्ण है: लोक सभा अध्यक्ष
*वन, पर्यटन, सांस्कृतिक समेत सम्बंधित विभाग मिलकर कार्य करें तो वन्य जीवों के संरक्षण में महत्वपूर्ण योगदान हो सकता है : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*
🎖 *पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज सफाईगिरी पुरस्कार से पुरस्कृत*
 
CopyRight 2016 DanikUp.com