दैनिक यूपी ब्यूरो
31/05/2016  :  15:51 HH:MM
जूनियर डाक्टरों की हडताल, मरीज भटक रहे है दर दर
Total View  314

चिकित्सा प्रवेश परीक्षा (यूपीपीजीएमई) के लिये री -काउंसिलिंग के विरोध में जूनियर डाक्टरों की हडताल के कारण अाज भी किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू) में काम काज ठप्प हो गया है और मरीजों को उपचार के लिये दर दर भटकना पडा।

लखनऊ 
उत्तर प्रदेश परास्नातक चिकित्सा प्रवेश परीक्षा (यूपीपीजीएमई) के लिये री -काउंसिलिंग के विरोध में जूनियर डाक्टरों की हडताल के कारण अाज भी किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू) में काम काज ठप्प हो गया है और मरीजों को उपचार के लिये दर दर भटकना पडा।जूनियर डाक्टरों की हडताल से केजीएमयू में पूर्व निर्धारित आपरेशनों को रद्द कर दिया गया जिससे बाहर से आने वाले मरीजों को उपचार के लिये भटकना पडा।
अस्पताल में भर्ती मरीजों को भी परेशानी का सामना करना पडा।जूनियर डाक्टरों की हडताल के कारण चिकित्सा के अभाव में कुछ मरीजों की मृत्यु हो जाने की सूचना है ।हडताल के कारण केजीएमयू में सवेरे से ही बाहर से आने वाले मरीजों की लम्बी कतारे आउटडोर के बाहर लगी हुयी थी ।हालांकि वरिष्ठ चिकित्सको ने मरीजो को देखा लेकिन जूनियर डाक्टरों के नही होने के कारण परेशानी झेलनी पड रही है।उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने डाक्टरों से जनहित में हडताल वापस लेने की अपील की है।उन्होने कहा कि हड़ताल वापस लेकर संवैधानिक तरीके से बातचीत के जरिये हर समस्या का समाधान निकाला जा सकता है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8005270
 
     
Related Links :-
पूरे प्रदेश में मदद पहुंचाने की कोशिश में जुटे है डिप्टी सीएम मौर्य
नर्सों ने की तब्लीगी जमाते की शिकायत, डीएम-एसएसपी से शिकायत
शिक्षा मित्रों को राहत, नहीं कटेगी सैलरी
लखनऊ की मस्जिदों में ठहरे 23 विदेशियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज
अब प्राइवेट लैब में भी करवा सकेंगे कोरोना वायरस की जांच, मिली अनुमति
यूपी में एक दिन में 14 नए मरीज, अब तक 65 लोग कोरोना संक्रमित
मुख्यमंत्रियों को अमितशाह का निर्देश पलायन रोके
आपको टैक्स पर क्या राहत मिली? जानिए...
गन्ना किसानों को भुगतान क्यों नही कर रही कंपनिया
*नि:शुल्क बोरिंग के साथ जरूरी होगा ड्रिप या स्प्रिंकलर: मुख्यमंत्री
 
CopyRight 2016 DanikUp.com