दैनिक यूपी ब्यूरो
24/05/2016  :  20:53 HH:MM
एसटीएफ ने किया क्लोन चेक बनाकर बैंक से धनराशि निकालने वाले गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार
Total View  176

क्लोन चेक बनाकर बैंक से धनराशि निकालने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए आज चार बदमाशों को नई दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया

लखनऊ
उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने क्लोन चेक बनाकर बैंक से धनराशि निकालने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए आज चार बदमाशों को नई दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया ।एसटीएफ सूत्रों ने यहां बताया कि क्लोन चेक बनाकर अवैध रूप से लोगों के बैंक खातो से धनराशि निकालने वाले गिरोह के मास्टर माइण्ड समेत चार बदमाशों गिरोह सरगना डा0 गगन सहगल निवासी पंचकुला हरियाणा, गांधी विहार दिल्ली निवासी धर्मेश कुमार, शाहदरा निवासी आशीष सूद और टप्पल अलीगढ़ निवासी बाबी चौधरी को गिरफ्तार कर उन्हें गौतमबुद्धनगर जिले के कासना थाने में दाखिल कर दिया ।गिरफ्तार जालसाजों के पास से दो लैेपटाॅप, कम्प्यूटर प्रिंटर, दस मोबाइल, पांच विभिन्न बैंकों की चेक बुक और विभिन्न बैंकों के लगभग दो करोड़ रुपये के चेक और कुछ नगदी बरामद की गयी।उन्होंने बताया कि एसटीएफ को सूचना मिली रही थी कुछ जालसाज राष्ट्रीय राजधानी (एनसीआर) क्षेत्र और उत्तर प्रदेश के आसपास के जिलों में विभिन्न बैंकों के चेकों को क्लोन करके विभन्न बैंकों से धन निकालने वाला गिरोह सक्रिय है।इस सम्बन्ध में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक ने अपर पुलिस अधीक्षक त्रिवेणी सिंह को गिरोह को पकडने की जिम्मेदारी सौंपी ।
श्री सिंह की जानकारी में आया कि इस प्रकार की धोखाधड़ी के सम्बन्ध में गत 25 अप्रैल को ऐक्सिस बैंक के शाखा प्रबंधक रवि कुमार तिवारी ने गौतमबुद्धनगर के कासना थाने में आठ लाख रुपये क्लोन चेक के माध्यम से निकालने का मामला दर्ज कराया था ।इस मामले में एसटीएफ ने अगले ही दिन 26 अप्रैल को राहुल कुमार सिंह और विक्रम प्रताप सिंह को गिरफतार कर लिया था।इसी क्रम में आज दोहपहर सूचना मिलने पर एसटीएफ की टीम ने गिरोह के मास्टर माइण्ड डा0 गगन सहगल एवं आशीष सूद समेत चार जालसाजों को शाहदरा नई दिल्ली से गिरफ्तार किया।इनके पास से उपरोक्त सामान और लगभग 02 करोड़ रुपये की क्लोन चेक बरामदगी हुई ।पूछताछ पर गिरोह के मास्टर माइंड डा0 गगन सहगल एवं आशीष सूद ने बताया कि वह अपने साथी बाबी चौधरी के साथ विभिन्न बैंकों में जाकर वहां पर खाता धारको द्वारा रुपये निकालते समय उनके चेक की फोटो ले लेता था तथा बाद में बैंक के काल सेन्टर से उक्त खाते के बारे में जानकारी प्राप्त करता था और उन चेकों की फोटो के माध्यम से नया क्लोन चेक बना लेता था।क्लोन चेक तैयार करने के लिये कम्प्यूटर साफ्टवेयर का उपयोग करता था और उसके बाद उसी खाताधारक के बैंक एकाउन्ट का स्टेटमेन्ट प्राप्त कर खाताधारक के नाम से फर्जी हस्ताक्षर से आवेदन कर खाते की डिटेल प्राप्त करता था।
इसके बाद उसी बैंक की किसी भी शाखा में नया खाता खुलवाकर खाताधारक के बैंक एकाउन्ट से सम्बन्धित पास-बुक और चेक-बुक और एटीएम कार्ड आदि प्राप्त कर लिये जाते थे।गिरफ्तार जालसाजों से पूछताछ की जा रही है ।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8593834
 
     
Related Links :-
काशी का हो रहा है कायाकल्प, शीघ्र पूरी होंगी 25 बड़ी परियोजनाएं : योगी आदित्यनाथ*
सत्ता के लिए विपक्ष को देशहित की भी चिंता नहीं : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*
चालान काटना नहीं बल्कि जागरूकता फैलाना पुलिस का लक्ष्य: योगी आदित्यनाथ*
महिला कल्याण की योजनाओं की निगरानी करेंगी महिला नोडल अधिकारी : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
कांग्रेस नेत्री राजकुमारी रत्ना सिंह हुईं भाजपा में शामिल*
कांग्रेस के पास न नेता है, न नीति और न ही नीयत: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*
गो-संरक्षण को लेकर योगी सरकार की बड़ी कार्रवाई, महराजगंज के जिलाधिकारी समेत 5 अधिकारी सस्पेंड*
मुख्यमंत्री योगी की किसानों से अपील, खेत में न जलाएं पराली*
कांग्रेस और एनसीपी की जब्त होगी जमानत: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*
रणछोड़’ हैं राहुल, संकट में देश के लिए नही खड़े हो सकते : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*
 
CopyRight 2016 DanikUp.com