दैनिक यूपी ब्यूरो
15/02/2016  :   HH:MM
बुंदेलखंड: रोटी बैंक के बाद अब स्वच्छता बैंक
Total View  341

स्वच्छता बैंक में बुंदेली समाज द्वारा लगाए गए नवयुवकांे के माध्यम से शहर में गंदगी को लेकर चौकन्ना रहेंगे और जगह-जगह स्वच्छता बैंक के कूड़ेदान सार्वजनिक स्थल में रखे जाएंगे। स्वच्छता बैंक सं जुड़े नवयुवक कूड़ेदानों में एकत्र हुए कूड़े को शहर के बाहर फिंकवाने का इंतजाम करेंगे।

महोबा (उप्र)
सूखे की मार झेल रहे बुंदेलखंड क्षेत्र के बुंदेली समाज ने स्वच्छता बैंक की स्थापना कर आम जन के सामने एक बड़ा संदेश दिया है। स्वच्छता बैंक में बुंदेली समाज द्वारा लगाए गए नवयुवकांे के माध्यम से शहर में गंदगी को लेकर चौकन्ना रहेंगे और जगह-जगह स्वच्छता बैंक के कूड़ेदान सार्वजनिक स्थल में रखे जाएंगे। स्वच्छता बैंक सं जुड़े नवयुवक कूड़ेदानों में एकत्र हुए कूड़े को शहर के बाहर फिंकवाने का इंतजाम करेंगे।

बुंदेली समाज के पदाधिकारी व कार्यकर्ता जहां एक ओर रोटी बैंक के माध्यम से शहर में असहाय विकलांग और गरीब लोगों को पेट भर खाना देते हैं, वहीं दूसरी ओर बुंदेली समाज ने रविवार को स्वच्छता बैंक की स्थापना की। इसकी स्थापना आम जन मानस को जागरूक करने के साथ साथ शहर को साफ-सुथरा बनाने के उद्देश्य से की गई है। 

बुंदेली समाज के तारा पाटकर ने बताया कि स्वच्छता बैंक के माध्यम से शहर को साफ करने व स्वच्छ रखने में बड़ा योगदान होगा और सार्वजनिक स्थलों पर स्वच्छता बैंक द्वारा जगह-जगह कूड़ेदान रखे जाएंगे। आम लोगों को इस कूड़ेदान में ही कचरा डालने के लिए प्रेरित किया जाएगा। स्वच्छता बैंक में निस्वार्थ भाव से लगे नवयुवकांे द्वारा कूड़ेदानों में एकत्र कचरे को फिंकवाएंगे।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6750933
 
     
Related Links :-
पूरे प्रदेश में मदद पहुंचाने की कोशिश में जुटे है डिप्टी सीएम मौर्य
नर्सों ने की तब्लीगी जमाते की शिकायत, डीएम-एसएसपी से शिकायत
शिक्षा मित्रों को राहत, नहीं कटेगी सैलरी
लखनऊ की मस्जिदों में ठहरे 23 विदेशियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज
अब प्राइवेट लैब में भी करवा सकेंगे कोरोना वायरस की जांच, मिली अनुमति
यूपी में एक दिन में 14 नए मरीज, अब तक 65 लोग कोरोना संक्रमित
मुख्यमंत्रियों को अमितशाह का निर्देश पलायन रोके
आपको टैक्स पर क्या राहत मिली? जानिए...
गन्ना किसानों को भुगतान क्यों नही कर रही कंपनिया
*नि:शुल्क बोरिंग के साथ जरूरी होगा ड्रिप या स्प्रिंकलर: मुख्यमंत्री
 
CopyRight 2016 DanikUp.com