दैनिक यूपी ब्यूरो
20/03/2016  :  21:03 HH:MM
आरटीआई से 38 संविदा कर्मियों को मिला बकाया वेतन
Total View  277

सहारनपुर में बिजली विभाग में कार्यरत 38 संविदा कर्मचारियों को करीब दो साल बाद बकाया वेतन मिला है।

लखनऊ 
उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में बिजली विभाग में कार्यरत 38 संविदा कर्मचारियों को करीब दो साल बाद बकाया वेतन मिला है।सूचना का अधिकार अधिनियम के तहत सहारनपुर हकीकत नगर निवासी अमित त्यागी ने विद्युत वितरण निगम के जन सूचना अधिकारी से जिले में 2012 से 2014 के बीच ठेकेदारों के माध्यम से काम करने वाले संविदा कर्मचारी की सूची मांगी थी।बिजली विभाग के इस बारे में उदासीन रवैया अपनाने पर उन्होने आरटीआई एक्ट के तहत राज्य सूचना आयोग में अपील दाखिल कर जानकारी माॅगी।राज्य सूचना आयुक्त हाफिज उस्मान ने बिजली विभाग को नोटिस जारी कर एक महीले के अन्दर सभी सूचनाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।जन सूचना अधिकारी ने इसके बावजूद कोई सूचना नहीं दी जिस पर आयोग ने जन सूचना अधिकारी को दण्डित भी किया ।श्री उस्मान ने मामले को गम्भीरता से लेते हुए पावर कारपोरेशन के प्रबन्ध निदेशक को निदेर्शित किया कि वह इस मामले में जांच रिपोर्ट आयोग को प्रस्तुत करे।उन्होंने बताया कि जांच के बाद विद्युत वितरण मण्डलों में 38 संविदा कर्मचारियों को उनके मानदेय एवं जीपीएफ का भुगतान कराया गया।कर्मियों को 10 लाख रू0 वेतन एवं जीपीएफ की बकाया राशि दो लाख रू0 कुल 12,00,000 रूपये (बारह लाख रुपये मात्र) उनके खातों में जमा कर दी गयी है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3351267
 
     
Related Links :-
डाॅ राममनोहर लोहिया चिकित्सालय में निःशुल्क कम्बल बैंक का शुभारंभ
महिलाओं और बच्चों को शीघ्र न्याय दिलाने के लिए बनेंगे 218 फास्ट ट्रैक कोर्ट*
कैबिनेट में 34 प्रस्तावों पर लगी मुहर, डिफेंस कॉरिडोर में निवेश करने वाली कम्पनियों को जमीन पर मिलेगी 25 प्रतिशत की सब्सिडी
गीता प्रेरणा महोत्सव का आयोजन एक दिसंबर को - घर - घर गीता का संदेश पहुंचाने का अभियान
पिछली सरकारें चीनी मिलों को बेचती एवं बंद कराती थीं, हम नई मिलें लगाते और रोजगार देते हैं: योगी आदित्यनाथ*
अगले वर्ष गोरखपुर में खाद कारखाने की होगी शुरुआत
प्रदीप हत्याकांड मे पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी के लिए गुरु जी ने बनाया दबाव
सौहार्द की बुनियाद है अयोध्या का फैसला
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की अर्थव्यवस्था को एक ट्रिलियन डॉलर करने के लिए बताए मूलमंत्र
भ्रष्टाचार के लिए कुख्यात दलों के नेताओं का योगी सरकार पर टिप्पणी करना शर्मनाक है: ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा*
 
CopyRight 2016 DanikUp.com