दैनिक यूपी ब्यूरो
14/01/2021  :  00:09 HH:MM
ओसामा से दाऊद तक को पालने वाले पाकिस्तान ने UNSC में RSS और हिंदुत्व को बताया खतरा
Total View  90

ओसामा बिन लादेन से लेकर दाऊद इब्राहिम तक और मसूद अजहर से लेकर हाफिज सईद तक, दुनिया के अधिकतर खूंखार आतंकवादियों और उनके संगठनों को पालने-पोसने वाले पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) और हिंदुत्व को खतरा बताया है।

वॉशिंगटन |ओसामा बिन लादेन से लेकर दाऊद इब्राहिम तक और मसूद अजहर से लेकर हाफिज सईद तक, दुनिया के अधिकतर खूंखार आतंकवादियों और उनके संगठनों को पालने-पोसने वाले पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) और हिंदुत्व को खतरा बताया है। दुनियाभर में आतंकवाद का एक्सपोर्ट करने वाले पाकिस्तान ने यहां तक कहा कि आरएसएस जैसे राष्ट्रवादी समूह क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय शांति-सुरक्षा के लिए खतरा हैं।
यूएन में पाकिस्तान के राजदूत मुनीर अकरम ने मंगलवार को 15 सदस्यीय सिक्यॉरिटी काउंसिल से कहा कि हिंसक चरमपंथी वर्चस्ववादी समूहों को आतंकवादी संगठनों की तरह बैन किया जाए। आतंकवाद और निर्दोषों का खून बहाने वालों का बेशर्मी से बचाव करने वाले पाकिस्तान ने अंतराष्ट्रीय मंच का दुरुपयोग करते हुए यहां तक कहा कि इस तरह के संगठनों की वजह से जवाबी हिंसा को बढ़ावा मिलेगा।
अकरम ने यूएनएससी में कहा, ''इस तरह के हिंसक नस्लवादी और चरमपंथी आतंकवाद अनिवार्य रूप से जवाबी हिंसा को बढ़ावा देंगे और ISIS और अल-कायदा जैसे आतंकवादी संगठनों के डायस्टोपियन कथा को मान्य करेंगे।'' अकरम ने यह भी कहा कि हिंदुत्व की विचारधारा से भारत में मुस्लिम आबादी को डराया जा रहा है। आतंकवाद को फंडिंग देने के लिए एफएटीएफ की ओर से मुंह पर कालिख पोते जाने से डरे पाकिस्तान के दूत ने राष्ट्रवादी संगठन को हिंसक बताते हुए इसके फंडिंग पर रोक लगाने की मांग की। 
पाकिस्तान स्थित कई आतंकवादी संगठनों पर प्रतिबंध से दुनिया के सामने बेनकाब हो चुके पाकिस्तान ने आरएसएस जैसे संगठनों को 1267 प्रतिबंध समिति के दायरे में लाने की मांग की। कश्मीर की शांति को बर्दास्त नहीं कर पा रहे पाकिस्तान के दूत ने भारत के इस राज्य को लेकर भी उपनी घिसी पिटी बातें दोहराईं और कहा कि भारतीय सेना यहां मानवता के खिलाफ युद्ध अपराधों में शामिल है। 
गौरतलब है कि इससे पहले भी देखा गया है कि जब पाकिस्तान पर आतंकवाद के खिलाफ एक्शन का दबाव बढ़ता है तो वह अपने देश के आतंकियों को सामाजिक कार्यकर्ता बताने लगता है तो सामाजिक संगठनों पर आतंकवाद का लेबल चस्पा करने की नाकाम कोशिश करता है। इससे पहले इमरान खान भी कई बार आरएसएस के खिलाफ जहर उगल चुके हैं। 






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8348929
 
     
Related Links :-
इरान खान की पैंतरेबाजी नहीं आई काम, FATF ने पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में बरकरार रखा
कांग्रेस नेताओं ने सिलेंडर पर बैठकर की प्रेस कॉन्फ्रेंस, जानिए क्या बताई वजह
सुप्रीम कोर्ट ने 'योर ऑनर' कहे जाने पर जताई आपत्त‌ि, कहा- हम अमेरिका के मजिस्ट्रेट नहीं हैं
किसान मोर्चा ने टीकरी बॉर्डर पर लगे दिल्ली पुलिस के पोस्टरों पर जताई आपत्ति, कहा- प्रदर्शन हमारा संवैधानिक अधिकार है
राजस्थान: प्राइवेट लैब में अब 2200 रुपए में होगी कोरोना की जांच
क्या मुद्रा योजना के तहत 'दामादों' को मिल रहा लोन? राहुल के क्रोनी कैपिटलिज्म पर वित्त मंत्री का जवाब
बीजेपी ने सांसदों के लिए जारी किया व्हिप, कल पूरे दिन सदन में उपस्थित रहने के निर्देश
ओसामा से दाऊद तक को पालने वाले पाकिस्तान ने UNSC में RSS और हिंदुत्व को बताया खतरा
ट्रंप के खिलाफ पेंस को करना होगा 25वें संशोधन का इस्तेमाल? हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव ने पास किया प्रस्ताव
पीएम किसान योजना की किस्त अभी तक नहीं आई बैंक खाते में?
 
CopyRight 2016 DanikUp.com