दैनिक यूपी ब्यूरो
20/11/2020  :  23:08 HH:MM
लोन मोरेटोरियम मामले की सुनवाई अगले सप्ताह तक के लिए टली
Total View  9

सुप्रीम कोर्ट में चल रही लोन मोरेटोरियम मामले की सुनवाई एक बार फिर अगले सप्ताह तक के लिए टल गयी है. साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने बिजली उत्पादक कंपनियों को लोन राहत पर सुझाव देने के लिए कहा है.

नयी दिल्लीसुप्रीम कोर्ट में चल रही लोन मोरेटोरियम मामले की सुनवाई एक बार फिर अगले सप्ताह तक के लिए टल गयी है. साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने बिजली उत्पादक कंपनियों को लोन राहत पर सुझाव देने के लिए कहा है.

याचिका दायर करनेवाली बिजली उत्पादक कंपनियों की ओर से पेश हुएवरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि सात मार्च को कोविड-19 दौर से पहले ही संसदीय समिति उनके कर्ज री-स्ट्रक्चरिंग की मांग का समर्थन किया था.

उन्होंने कहा कि ज्यादातर बैंक हमारे लोन को री-स्ट्रक्चर करने को तैयार नहीं हैं. बिजली उत्पादन कंपनियों पर 1.2 लाख करोड़ रुपये का कर्ज है, लेकिन इनमें एफपीआई या एलआईसी को पैसा लगाने की इजाजत नहीं दी जा रही है.

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए गुरुवार को कहा कि क्रेडिट कार्डधारकों को ब्याज पर ब्याज छूट का लाभ नहीं दिया जाना चाहिए. क्रेडिट कार्डधारक कर्जदार नहीं है. वे खरीदारी करते हैं, वे कोई कर्ज नहीं लेते हैं.

सरकार की ओर से अदालत में उपस्थित हुए सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने शीर्ष न्यायालय से गुहार लगायी कि आगे और किसी राहत की मांग पर विचार ना किया जाये, क्योंकि सरकार पहले ही शीर्ष सीमा पर पहुंच चुकी है.

लोन मोरेटोरियम मामले में ब्याज पर ब्याज माफ करने को लेकर सुनवाई






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   5841536
 
     
Related Links :-
बड़ा झटका! सरकार ने 43 मोबाइल ऐप्स पर लगाया बैन
आठ की जगह 12 घंटे के कार्यदिवस का प्रस्ताव
लोन मोरेटोरियम मामले की सुनवाई अगले सप्ताह तक के लिए टली
बड़ा मौका : सस्ता घर ब्याज दर भी कम, सरकार दे रही है मौका
tata की यह धांसू कार 5 लाख रुपये वाले सेगमेंट में Maruti Ignis और S Presso को देगी टक्कर
94 साल पुराने लक्ष्मी विलास बैंक का सिंगापुर के डीबीएस में होगा विलय
सेंसेक्स-निफ्टी में जोरदार उछाल, निवेशक मालामाल
अमेरिकी प्रतिबंध से तंग आकर Huawei ने Honor को बेचा, 15 बिलियन डॉलर में हुआ सौदा
एनपीएस को और आकर्षक बनाने के लिए बदलाव की तैयारी
BSE में लखनऊ नगर निगम का बांड हुआ 225 फीसदी अधिक सब्सक्राइब
 
CopyRight 2016 DanikUp.com