दैनिक यूपी ब्यूरो
18/11/2020  :  23:40 HH:MM
2013 में बंगाल से गिरफ्तार कर वापस भेजे गये 2 बांग्लादेशी अब उत्तर प्रदेश के सहारनपुर से गिरफ्तार
Total View  487

वर्ष 2013 में पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार कर वापस बांग्लादेश भेजे गये दो बांग्लादेशी नागरिकों को अब उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिला से गिरफ्तार किया गया है.

कोलकाता/सहारनपुर : उत्तर प्रदेश पुलिस के आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) ने इन्हें गिरफ्तार किया है. ये लोग फर्जी दस्तावेजों के आधार पर अवैध रूप से भारत में रह रहे थे.

सहारनपुर के पुलिस अधीक्षक (देहात) अशोक कुमार मीणा ने मीडिया को बताया कि एटीएस को सूचना मिली थी कि कुछ संदिग्ध लोग भारत के खिलाफ साजिश रच रहे हैं. ये लोग भारत के निवासी नहीं हैं और कई देशों के लोगों के संपर्क में हैं. एसपी ने बताया कि इसी सूचना के आधार पर एटीएस ने कार्रवाई करके दो लोगों को गिरफ्तार किया.

उन्होंने बताया कि सूचना के आधार पर मंगलवार को टीम ने मोहम्मद इकबाल और मोहम्मद को सहारनपुर के बिलाल मस्जिद के पास स्थित कमेला कॉलोनी से पकड़ा. एसपी श्री मीणा ने बताया कि दोनों आरोपी मूलत: बांग्लादेश के चटगांव जिला के सठकनिया थाना क्षेत्र के सादाहू मोनूपारा गांव के निवासी हैं.

श्री मीणा ने बताया कि एटीएस की टीम को जांच में पता चला है कि गिरफ्तार किये गये दोनों बांग्लादेशी नागरिक सगे भाई हैं. वर्ष 2007 में फर्जी दस्तावेजों के साथ पहली बार भारत में दाखिल हुए थे. वर्ष 2013 में अवैध रूप से भारत में रहने के आरोपों में इन्हें पश्चिम बंगाल में गिरफ्तार कर लिया गया था. दोनों भाई दो साल तक जेल में रहे.

सहारनपुर के एसपी श्री मीणा ने कहा कि जेल में दो साल की सजा काटने के बाद इन्हें बांग्लादेश निर्वासित कर दिया गया. दोनों भाई वर्ष 2015 में फिर से गैर-कानूनी तरीके से भारत की सीमा में दाखिल हो गये. आरोपियों ने सहारनपुर के पते पर फर्जी मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड और पासपोर्ट भी बनवा लिये.

एसपी ने बताया कि इनसे पूछताछ के दौरान जानकारी मिली कि इनके संपर्क बांग्लादेश के अलावा अमेरिका, सऊदी अरब, ब्रिटेन, ऑस्ट्रिया और म्यांमार के लोगों से भी हैं. इनके पास से आधार कार्ड, पैन कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, चेक बुक, डेबिट कार्ड, जाति प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र बैंक पास बुक जब्त किये गये हैं.

विदेशियों से बातचीत का ब्योरा जुटा रही एटीएस

बांग्लादेश के इन दोनों नागरिकों से पूछताछ में एटीएस को पता चला कि ये लोग कई देशों के लोगों के संपर्क में थे. अब एटीएस आरोपियों के फोन से विदेशी नंबरों पर हुई बातचीत का ब्योरा जुटाने में लग गयी है. जरूरत पड़ने पर दोनों को रिमांड में लेकर एटीएस इनसे पूछताछ करेगी. जांच एजेंसियों को आशंका है कि सहारनपुर से गिरफ्तार दोनों संदिग्ध दिल्ली सेगिरफ्तार जैश--मोहम्मद के आतंकियों अब्दुल लतीफ मीर और अशरफ खटाना के संपर्क में थे.






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   7559756
 
     
Related Links :-
सीएम योगी के एक फैसले से रूक गए कई भ्रष्टाचार, जेम पोर्टल से ही सरकारी विभाग कर सकते हैं खरीदारी
यूपी MLC चुनाव: BJP ने की 6 और उम्मीदवारों की घोषणा, पढ़ें लिस्ट
कोरोना के खिलाफ दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान, जानिए भारत में पहले दिन कितनों को लगी 'संजीवनी बूटी
योगी मंत्रिमंडल विस्तार: नये बने मंत्रियों में 15 मंत्री करोड़पति
योगी कैबिनेट में मंत्री बन सकते हैं IAS अरविंद शर्मा
यूपी पंचायत चुनाव : फाइनल वोटर लिस्ट बनने से पहले मिलीं गड़बड़ियां, कई पर एक्शन
यूपी में खुलेंगी 28 नई प्राइवेट यूनिवर्सिटी और 51 राजकीय महाविद्यालय
साक्षी महाराज का बड़ा बयान, ओवैसी ने बिहार में भाजपा की मदद की, बंगाल और यूपी में भी करेंगे
तैयारी कर रहे कई दावेदार इस बार नहीं लड़ पाएंगे पंचायत चुनाव, बन रही लिस्ट
पूर्वांचल दौरे पर पहुंचे अखिलेश का भाजपा पर निशाना, बोले-किसानों की बात नहीं मानी तो BJP को सत्ता से हटाएगी जनता
 
CopyRight 2016 DanikUp.com