दैनिक यूपी ब्यूरो
17/11/2020  :  23:02 HH:MM
बराक ओबामा का बड़ा खुलासा, जो बाइडन ने किया था 'ओसामा बिन लादेन' को मारने के अभियान का विरोध
Total View  486

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपनी किताब में लिखा कि पाकिस्तान के एबटाबाद में 2 मई 2011 को अमेरिकी कमांडो द्वारा किए गए सीक्रेट ऑपरेशन का तत्कालीन रक्षा सचिव रॉबर्ट गेट्स और पूर्व उपराष्ट्रपति जो बाइडन ने विरोध किया था।

वाशिंगटन, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा की नई किताब ' प्रॉमिस लैंड' ने कई अहम खुलासे किए हैं। ओबामा की यह किताब पूरी दुनिया में चर्चा का विषय बनी हुई है। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ने दुनिया के सबसे खुंखार आतंकी ओसामा बिन लादेन को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने अपनी किताब प्रॉमिस लैंड में लिखा कि पाकिस्तान के एबटाबाद में ओसामा बिन लादेन के ठिकाने पर हमला करने की योजना में पाकिस्तानी सेना को शामिल करने से इनकार कर दिया था क्योंकि उनका मानना था कि यह सब जानते हैं कि पाक सेना और विशेष रूप से इसकी खुफिया एजेंसियों के संबंध तालिबान से बने हुए थे। इसके साथ ही उन्होंने लिखा कि पाकिस्तान अल-कायदा से मिलकर अफगानिस्तान और भारत के खिलाफ आतंकी गतिरोध करता रहता है। इस किताब में एक और चौकाने वाला खुलासा करते हुए उन्होंने लिखा कि पाकिस्तान के एबटाबाद में 2 मई 2011 को अमेरिकी कमांडो द्वारा किए गए सीक्रेट ऑपरेशन का तत्कालीन रक्षा सचिव रॉबर्ट गेट्स और पूर्व उपराष्ट्रपति जो बाइडन ने विरोध किया था।

मंगलवार को लॉन्च हुई अपनी किताब को लेकर अमेरिका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति बराक ओबामा ने आतंकी लादेन को मारने के अनेकों रहस्यों का वर्णन किया है। इससे एक एक बार फिर यह स्पष्ट हो गया कि अल कायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन पाकिस्तान के एबटाबाद में एक सुरक्षित ठिकाने में रह रहा था। इस घटना को लेकर ओबामा ने किताब में लिखा कि मैंने जो सुना उसके आधार पर मैंने फैसला किया कि हमारे पास उसके ठिकाने पर हमले के लिए पर्याप्त जानकारी है। जबकि सीआईए की टीम ने पेसर की पहचान करने के लिए काम करना जारी रखा था।

सीक्रेट ऑपरेशन में पाकिस्तान को नहीं किया गया शामिल

उन्होंने कहा कि इस चुनौती को पूरा करने के लिए गोपनीयता की बेहद आवश्यकता थी, अगर लादेन पर हमारी अगुवाई का जरा सा भी हिस्सा लीक हो जाता तो उसे मारने का हमारा मौका छिन जाता। उन्होंने लिखा कि उस दौरान हमारी सरकार में केवल कुछ ही लोगों को इस सीक्रेट ऑपरेशन के बारे में जानकारी थी। इसके साथ ही उन्होंने आगे लिखा कि इस सीक्रेट ऑपरेशन में सबसे बड़ी बाधा यह थी कि अपनी खास रणनीति में पाकिस्तान को शामिल नहीं किया था।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3272346
 
     
Related Links :-
ओसामा से दाऊद तक को पालने वाले पाकिस्तान ने UNSC में RSS और हिंदुत्व को बताया खतरा
ट्रंप के खिलाफ पेंस को करना होगा 25वें संशोधन का इस्तेमाल? हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव ने पास किया प्रस्ताव
पीएम किसान योजना की किस्त अभी तक नहीं आई बैंक खाते में?
कर्नाटक में सड़क हादसे में केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक घायल, पत्नी और सहायक की मौत
महाअभियान से पहले महामंथन: पीएम मोदी की मुख्यमंत्रियों संग बैठक , कोरोना टीकाकरण पर चर्चा
7 महीने से चीन में फंसे 23 नाविकों की 14 जनवरी को होगी भारत वापसी, मंत्री बोले- PM मोदी के कारण संभव हुआ
कानून वापसी की जिद पर अड़े रहे किसान, सरकार ने कहा- देशहित का रखें ध्यान
यूएस कैपिटल में हिंसा के बाद फेसबुक और इंस्टाग्राम का बड़ा कदम, डोनाल्ड ट्रंप पर अनिश्चितकाल तक लगाया बैन
लद्दाख-अरुणाचल जैसी जगहों पर कैसे पहुंचे वैक्सीन, भारतीय वायुसेना करेगी मदद
कांग्रेस ने पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव को लेकर जारी की पर्यवेक्षकों की सूची, गहलोत को असम का जिम्मा
 
CopyRight 2016 DanikUp.com