दैनिक यूपी ब्यूरो
02/11/2020  :  19:32 HH:MM
IAS बनने के लिए छोड़ी थी HR मैनेजर की नौकरी, डिप्रेशन में आकर घर छोड़ा, बन गई कूड़ा बीनने वाली
Total View  567

यह युवती वारंगल (तेलंगाना) की रहने वाली है. 23 जुलाई को वह विक्षिप्त हालत में गोरखपुर के तिवारीपुर थाने के पास मिली. जुलाई की प्रचंड गर्मी में उसके शरीर पर आठ सेट कपड़े थे. वह कूड़ेदान के पास फेंके हुए सूखे चावल बीन कर खा रही थी.

हैदराबाद. महात्वाकांक्षी लोगों पर कभी-कभी तनाव (Depression) कितना हावी हो जाता है, इसे इस खबर से समझा जा सकता है. हैदरबाद की एक युवती ने पहले तो आईएएस बनने का सपना लेकर मल्टीनेशनल कंपनी में अच्छी खासी एचआर मैनेजर की नौकरी छोड़ दी. फिर सालों तक मेहनत के बाद जब आईएएस क्लियर नहीं कर पाई, तो डिप्रेशन में गई. सिर्फ यही नहीं, उसके दिमाग की बीमारी इतनी बढ़ गई और वह अबकूड़ा बीनने वाली बन गई है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, करीब आठ महीने पहले उसने घर छोड़ दिया. अब मांगते-खाते और भटकते हुए करीब डेढ़ हजार किलोमीटर दूर गोरखपुर पहुंच गई है. इस लड़की की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है.

जानकारी के मुताबिक, रजनी नाम की यह युवती वारंगल (तेलंगाना) की रहने वाली है. 23 जुलाई को वह विक्षिप्त हालत में गोरखपुर के तिवारीपुर थाने के पास मिली. जुलाई की प्रचंड गर्मी में उसके शरीर पर आठ सेट कपड़े थे. वह कूड़ेदान के पास फेंके हुए सूखे चावल बीन कर खा रही थी. इसकी जानकारी किसी ने पुलिस को दी गई, जिसके बाद दो सिपाही उसके पास पहुंचे तो युवती सिपाहियों को देखकर फरार्टेदार अंग्रेजी बोलने लगी.

भाई के सपने को पूरा करने के िये बना IAS, इन चुनौतियों का करना पड़ा सामना

लड़की टूटी-फूटी हिंदी भी बोल रही थी. सिपाहियों ने इसकी जानकारी अधिकारी को दी. पुलिस वालों ने उसे मातृछाया चैरिटेबल फाउंडेशन के सुपुर्द कर दिया. जहां तीन महीने तक युवती का इलाज चला. फिर कुछ नॉर्मल होने पर उसने अपने परिवार के बारे में बताया.

युवती के पिता ने मातृछाया के अधिकारियों से बताया कि उसने वर्ष 2000 में एमबीए की पढ़ाई फर्स्ट डिवीजन से पास की थी. आईएएस बनने का सपना था. उसने दो बार सिविल सर्विसेज की परीक्षा दी थी, लेकिन दोनों बार उसे नाकामयाबी हासिल हुई. इसके वह धीरे-धीरे डिप्रेशन में जाने लगी.

डिप्रेशन से बचने के लिए रजनी ने हैदराबाद में एक मल्टीनेशल कंपनी में एचआर मैनेजर की नौकरी शुरू की, लेकिन डिप्रेशन से निकल नहीं पाई. पिता के मुताबिक, रजनी पिछले साल नवंबर में घर से कहीं चली गई थी. अब पिता उसे अपने साथ घर लेकर जाएंगे. यूनियन बैंक ने दिवाली से पहले महिला ग्राहकों को दिया तोहफा, अब मिलेगा ये बड़ा फायदा

 

बैंक महिला ग्राहकों को सस्ते में होम लोन दे रहा है. बैंक महिला ग्राहकों को सस्ते में होम लोन दे रहा है.

यूनियन बैंक (Union Bank of India) महिला ग्राहकों के लिए खास ऑफर लेकर आया है. इस ऑफर में बैंक महिला ग्राहकों को सस्ते में होम लोन दे रहा है.

नई दिल्ली: यूनियन बैंक (Union Bank of India) महिला ग्राहकों के लिए खास ऑफर लेकर आया है. इस ऑफर में बैंक महिला ग्राहकों को सस्ते में होम लोन दे रहा है. यानी अब आप अपने सस्ता घर खरीदने के सपने को आसानी से पूरा कर सकते हैं. बैंक ने 30 लाख रुपए से अधिक के होम लोन (Home Loan) पर ब्याज दर में 0.10 फीसदी की कटौती की गई है. वहीं, अगर आप महिला ग्राहक हैं तो बैंक आपको इस लोन पर 0.05 फीसदी एक्सट्रा छूट देगा.

बैंक ने प्रोसेसिंग चार्ज भी जीरो किए

बैंक की ओर से 30 लाख रुपये से अधिक के होम लोन पर ब्याज की दर में 0.10 फीसदी की कटौती की गई है. यहीं नहीं, महिलाओं को ब्याज दर में 0.05 फीसदी की अतिरिक्त छूट दी जा रही है. यानी, महिलाओं के लिए ब्याज दर 0.15 फीसदी सस्ता होगा. बैंक ने कहा कि उसने 31 दिसंबर 2020 तक होम लोन के लिए प्रोसेसिंग फीस भी शून्य कर दी है.






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   25163
 
     
Related Links :-
REET 2021 : रीट परीक्षा तिथि बदलने की मांग पर शिक्षा मंत्री डोटासरा ने दिया ये बयान
चीन का साथ छोड़ रहे कई देश, भारत से कर रहे कोरोना वैक्सीन की मांग
CA Exam : ICAI की चेतावनी, धमकी भरे ईमेल भेजने वाले छात्रों पर होगी कानूनी कार्रवाई
भारतीय स्टेट बैंक ने PO के लिए निकाली बंपर वेकैंसी, जानिए कैसे कर सकते हैं अप्लाई...
IAS बनने के लिए छोड़ी थी HR मैनेजर की नौकरी, डिप्रेशन में आकर घर छोड़ा, बन गई कूड़ा बीनने वाली
HRD मंत्री ने कक्षा छठी से 8वीं तक का नया NCERT वैकल्पिक एकेडमिक कैलेंडर किया जारी
कृति ने 97.2 फीसदी अंक हासिल कर परिवार को दिया गौरव
न्यू एजुकेशन पॉलिसी 2020: बदलेगा BEd का पैटर्न, अब ऐसे बनेंगे टीचर
नई शि‍क्षानीति: रिपोर्ट कार्ड नहीं, अब बच्चे की परफार्मेंस ऐसे तय होगी
भारत सरकार अमरीका में पढ़ रहे छात्रों के संपर्क में
 
CopyRight 2016 DanikUp.com