दैनिक यूपी ब्यूरो
03/08/2020  :  18:10 HH:MM
आईपीएल में चीनी स्पांसर पर बिफरा कैट, बीसीसीआई को बताया पैसों का भूखा
Total View  536

कैट कहना है कि कई बड़े खेल आयोजन कोरोना के कारण रद्द कर दिए गए हैं जबकि बीसीसीआई आईपीएल कराने पर आमादा है। भारत में जब यह संभव नहीं हुआ तो उसने इसे दुबई में कराने का फैसला किया है। यह इस बात का प्रतीक है कि बीसीसीआई पैसों का भूखा है।

नई दिल्ली, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) द्वारा दुबई में आयोजित किए जा रहे आईपीएल टूर्नामेंट में टाइटल स्पॉन्सर के रूप में चीनी कंपनी वीवो को बनाए रखने के फैसले की कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने की कड़ी आलोचना की है। कैट गत 10 जून से देश में चीनी वस्तुओं के बहिष्कार को लेकर एक राष्ट्रीय अभियान चला रहा है जिसको देशभर से जबरदस्त समर्थन मिल रहा है। बीसीसीआई के इस कदम के खिलाफ कैट ने आज केंद्रीय गृह मंत्री कामित शाह और विदेश मंत्री एसजयशंकर को एक पत्र भेजकर मांग की है की बीसीसीआई को इस आयोजन के लिए कोई अनुमति दी जाए।

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने शाह और जयशंकर को भेजे पत्र में कहा कि ऐसे समय में जब चीन भारतीय सीमाओं पर आक्रामकता दिखाकर भारतीयों की भावनाओं को भड़का रहा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व में केंद्र सरकार लोकल पर वोकल और आत्मनिर्भर भारत के उनके आह्वान को यथार्थ में बदलने के लिए अनेक कदम उठा रही है, ऐसे में बीसीसीआई का निर्णय सरकार की इस नीति के विपरीत ही नहीं है बल्कि उसका मजाक भी उडाता है।

 

पैसों का भूखा है बीसीसीआई

उन्होंने कहा कि कई बड़े खेल आयोजन कोरोना के कारण रद्द कर दिए गए हैं जबकि बीसीसीआई आईपीएल कराने पर आमादा है। भारत में जब यह संभव नहीं हुआ तो उसने इसे दुबई में कराने का फैसला किया है। यह इस बात का प्रतीक है कि बीसीसीआई पैसों का भूखा है। उन्होंने सवाल किया कि क्या बीसीसीआई सरकार से भी ऊपर है जो सीधे तौर पर सरकार के कोरोना से संबंधित नियमों को धता बता रहा है।

भरतिया और खंडेलवाल ने कहा कि अतीत में केंद्र सरकार ने देश की सुरक्षा और संप्रभुता की रक्षा के लिए चीन पर देश की निर्भरता को कम करने के लिए कई सराहनीय कदम उठाए हैं। इनमें 59 चीनी एप पर प्रतिबंध और चीनी कंपनियों की साझेदारी को रेलवे तथा हाइवे परियोजनाओं से हटाना शामिल है। इनसे देश में यह स्पष्ट गया है की पहली बार किसी सरकार ने चीन के प्रभाव को कम करने के लिए साहसिक और दृढ़ कदम उठाए हैं। ऐसे में बीसीसीआई का निर्णय लोगों की सुरक्षा की उपेक्षा करता है और वह भी चीनी कंपनियों के प्रति अनजाने प्रेम को भी दर्शाता है।

 






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2361623
 
     
Related Links :-
ठंड में पालक की कढ़ी खाने के फायदे जानकर भूल जाएंगे सूप!
भारत ने आस्ट्रेलिया को ऐसे मारा, जैसे किसी को बोरे में बंद करके मारते हैं : शोएब अख्तर
BCCI के सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में हो सकता है बड़ा बदलाव
जहीर ने बताया भारत-ऑस्ट्रेलिया मुकाबले में कौन साबित होगा 'तुरुप का इक्का'
भारत-इंग्लैंड मैच से ऑडियंस की हो सकती है स्टेडियम में वापसी, ईसीबी ने जारी किया 2021 का शेड्यूल
भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट पर कोरोना का साया, South Australia बॉर्डर सील
रोहित विराट से बेहतर कप्तान, अगर नहीं मिली सीमित ओवरों की कमान तो यह टीम का दुर्भाग्य होगा: गौतम गंभीर
आईपीएल में चीनी स्पांसर पर बिफरा कैट, बीसीसीआई को बताया पैसों का भूखा
विशेज एंड ब्लेसिंग्स ने वंचित बच्चों के संग मनाया राष्ट्रीय खेल दिवस
बच्चों ने वार्म अप सेशन के दौरान जमकर मौज मस्ती की
 
CopyRight 2016 DanikUp.com