दैनिक यूपी ब्यूरो
24/07/2020  :  23:44 HH:MM
कानपुर टेक्निशन मर्डर: संजीत यादव की बहन की गुहार, 'पैसे भी गए, भाई भी, अब इंसाफ करे सरकार'
Total View  40

कानपुर के बर्रा से करीब एक माह पहले लैब टेक्नीशियन संजीत यादव का अपहरण फिरौती के लिए उसके दोस्त ने अपने साथियों के साथ मिलकर किया था। उन्होंने संजीत यादव की हत्या कर लाश को पांडु नदी में फेंक दिया। संजीत यादव की बहन रुचि यादव ने यूपी सरकार से मदद की गुहार लगाई है।

कानपुर, यूपी के कानपुर के बर्रा से करीब एक माह पहले अगवा किए गए लैब टेक्नीशियन संजीत यादव की फिरौती के लिए हत्या कर दी गई। घटना को लेकर संजीत यादव की बहन रुचि यादव ने कहा, 'मैं सीएम से कहना चाहती हूं मेरा भाई घर में इकलौता कमाने वाला था और कोई सहारा नहीं है। घर में जो पैसे थे वह भी चले गए। वहीं पुलिस कहती है कि वो नकली थे। उन्होंने कहा कि सरकार हमारी मदद करे, साथ ही दोषियों को फांसी दी जाए की आजीवन करावास की सजा।

शुक्रवार को एक टीवी चैनल से बातचीत में संजीत यादव की बहन रुचि यादव ने कहा, 'मेरे भाई के अपहरण के बाद पुलिस जो कहती रही हम वो करते रहे, इसके बावजूद मेरा भाई आज हमारे बीच नहीं है। पुलिस के कहने पर हमने पैसे दिए उसके बाद भी कुछ नहीं हुआ। और अब पुलिस कहती है कि वो पैसे नकली थे। मैं पुलिस से पूछना चाहती हूं कि क्या मेरे घर में नकली नोट छापने की मशीन लगा रही थी जो हमने नकली नोट दिए। पुलिस के कहने पर हमने घर के सारे पैसे दे दीजिए और अब वो (संजीत यादव) हमारे बीच नहीं है

हत्यारों को सजा मिले तभी भाई की आत्मा को मिलेगी शांति

रुचि ने कहा, 'वो मेरा इकलौता भाई ही पूरे घर का सहारा था। पिता को घटना के बाद से होश नहीं है, ऐसे में मैं किसे सम्हालूं। उन्होंने सरकार मांग की कि हमारे भाई को न्याय मिले। जैसे भाई को मारा उसी तरह उसके हत्यारों को भी फांसी दी जाए। मेरे भाई की आत्मा को शांति मिलेगी कि मेरी बहन ने मेरे लिए कुछ किया। इस दौरान संजीत की बहन फूट-फूट कर रोने लगी और बोली भाई तुम्हारी बहन किसे राखी बांधेगी।

दोस्त ने अपने साथियों के साथ मिलकर दिया वारदात को अंजाम

कानपुर के बर्रा से करीब एक माह पहले लैब टेक्नीशियन  संजीत यादव का अपहरण फिरौती के लिए उसके दोस्त ने अपने साथियों के साथ मिलकर किया था। उन्होंने संजीत यादव की हत्या कर लाश को पांडु नदी में फेंक दिया था। इस मामले में पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। जानकारी के मुताबिक, अपहरणकर्ताओं ने संजीत यादव का अपहरण कर किराए के मकान में रखा था। आरोपी पैथोलॉजी में काम करते थे तो उन्हें मेडिकल की जानकारी थी। आरोपी संजीत को नींद और नशे का इंजेक्शन लगाकर रखते थे। अपहरण के चौथे दिन आरोपियों ने संजीत की हत्या कर शव को कमरे में छिपा दिया था। अपहरणकर्ताओं ने रात होने का इंतजार किया और देर रात शव को पांडू नदी में फेंक दिया था।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6752343
 
     
Related Links :-
225 दिन में 1 करोड़ नल कनेक्शन*
नहीं रहे कांग्रेस के तेज तर्रार प्रवक्ता राजीव त्यागी, हार्ट अटैक से हुआ निधन
मनचलों की वजह से उत्तरप्रदेश की होनहार बेटी की मौत
भदोही के बाहुबली विधायक विजय मिश्रा के पक्ष में क्यों आये कांग्रेस नेता जितिन? सोशल मीडिया पर हुई जमकर खिंचाई*
उत्तरप्रदेश मानसून सत्र 20 अगस्त से
नोएडा कोविड अस्पताल का मुख्यमंत्री ने किया शुभारंभ
नोएडा कोविड अस्पताल का मुख्यमंत्री ने किया शुभारंभ
नोएडा कोविड अस्पताल का मुख्यमंत्री ने किया शुभारंभ
विमान दुर्घटना में बचे लोगों ने सुनाई आपबीती, 18 की मौत
मुसलमान मोदी-योगी के रहमो-करम पर नहीं है, अल्लाह के भरोसे ज़िंदा है- सपा सांसद बर्क
 
CopyRight 2016 DanikUp.com