दैनिक यूपी ब्यूरो
21/05/2020  :  05:32 HH:MM
यूपी सरकार और कांग्रेस में जुबानी जंग तेज, बैरंग लौटीं बॉर्डर पर खड़ी बसें
Total View  393

कांग्रेस ने कहा है कि नोएडा-गाजियाबाद में फंसे प्रवासी मजदूरों को घर भेजने के लिए बसों का इंतजाम किया गया है लेकिन सरकार इसकी इजाजत नहीं दे रही. दूसरी ओर यूपी सरकार ने कहा है कि कांग्रेस की ओर से फिटनेस सर्टिफिकेट नहीं दिए गए,

कांग्रेस ने कहा है कि नोएडा-गाजियाबाद में फंसे प्रवासी मजदूरों को घर भेजने के लिए बसों का इंतजाम किया गया है लेकिन सरकार इसकी इजाजत नहीं दे रही. दूसरी ओर यूपी सरकार ने कहा है कि कांग्रेस की ओर से फिटनेस सर्टिफिकेट नहीं दिए गए, इसलिए बसें चलाने की अनुमति नहीं दी गई. लिहाजा, दोनों ओर की तनातनी के बीच बसें बैरंग अपने डिपो की ओर लौट गईं.

नई दिल्ली, दिल्ली-नोएडा बॉर्डर पर खड़ी करीब 250 बसें अब लौट गई हैं. ये बसें कांग्रेस ने यूपी के श्रमिकों के लिए मंगाए थे. यूपी सरकार की ओर से बसें चलाए जाने की इजाजत नहीं मिलने के बाद सभी बसें बॉर्डर से लौट गईं. बता दें, श्रमिकों के लिए कांग्रेस की बसों पर यूपी सरकार और प्रियंका गांधी के बीच जुबानी जंग चरम पर पहुंच गई है.

कांग्रेस ने कहा है कि नोएडा-गाजियाबाद में फंसे प्रवासी मजदूरों को घर भेजने के लिए बसों का इंतजाम किया गया है लेकिन सरकार इसकी इजाजत नहीं दे रही. दूसरी ओर यूपी सरकार ने कहा है कि कांग्रेस की ओर से फिटनेस सर्टिफिकेट नहीं दिए गए, इसलिए बसें चलाने की अनुमति नहीं दी गई. लिहाजा, दोनों ओर की तनातनी के बीच बसें बैरंग अपने डिपो की ओर लौट गईं.

यूपी में बसों का इंतजाम देख रहे कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने इंडिया टुडे से कहा कि हमलोग राजनीति नहीं कर रहे. अगर यूपी सरकार अपनी पार्टी के नेताओं के फोटो बसों पर लगाना चाहती है तो लगाए लेकिन गरीब मजदूरों को अब और परेशान नहीं होने देना चाहिए. राजीव शुक्ला ने कहा कि 800 से ज्यादा बसें तैयार हैं मजदूरों को ले जाने के लिए, सरकार की ओर से अनुमति मिलने भर की देर है. वे लोग (यूपी सरकार, बीजेपी) गरीब लोगों के खिलाफ राजनीति कर रहे हैं.

दूसरी ओर, यूपी सरकार का कहना है कि बस के नाम पर कांग्रेस राजनीतिक लाभ लेना चाहती है. बीजेपी की तरफ से कहा गया कि कांग्रेस की तरफ से 1 हजार बसों की जो सूची सौपी गई है उनमें ज्यादातर कार, एंबुलेंस और बाइक हैं. जब राजस्थान से छात्रों को यूपी लाना था तो कांग्रेस ने उनके लिए बसों का इंतजाम क्यों नहीं किया?

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

कांग्रेस की बसों को यूपी में एंट्री नहीं दिए जाने पर पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने बुधवार को फिर मजदूरों के लिए बसों की अनुमति देने की अपील की. उन्होंने कहा कि भले बसों पर बीजेपी अपने पोस्टर लगाए, या खुद कहे कि उसने बसें चलाई हैं, हमें इससे कोई ऐतराज नहीं है, लेकिन मजदूरों की मदद करे.

प्रियंका गांधी ने कहा कि मंगलवार को गाजियाबाद बॉर्डर पर बसें खड़ी थीं, लेकिन उन्हें परमिशन नहीं दी गई. बसें आज भी वहां खड़ी हैं, सरकार को उन्हें चलाने की इजाजत देनी चाहिए ताकि श्रमिकों की मदद की जा सके. एक हजार बसों में जो सरकार को चलने लायक लगती हैं, कम से कम वही शुरू की जाएं. अगर इन दो दिनों में बसें चली होतीं तो 92 हजार लोग घर पहुंच चुके होते.

 






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4960448
 
     
Related Links :-
दिल्ली हिंसा मामले में चार्जशीट दाखिल, ताहिर हुसैन को बताया मास्टरमाइंड
योगी आदित्यनाथ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की बैठक की तस्वीर देखकर खुश हुए होंगे?
यूपी सरकार और कांग्रेस में जुबानी जंग तेज, बैरंग लौटीं बॉर्डर पर खड़ी बसें
भारतीय नेवी पर भी कोरोना वायरस का साया, टेस्ट में 21 नौसैनिक मिले पॉजिटिव
एनयूजेआई-डीजेए की मांग, नेशनल जर्नलिस्ट्स रजिस्टर बनाए केंद्र सरकार
गोरखपुर के साथ-साथ पूर्वांचल के विकास का बैकबोन बनेगा लिंक एक्सप्रेसवे : योगी आदित्यनाथ
डीजेए चुनाव में थपलियाल अध्यक्ष एवं के पी मलिक महासचिव घोषित
डिफेंस एक्सपो को लेकर चल रही है युद्धस्तर पर तैयारी: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*
महाराष्ट्र के उलटफेर के पीछे जूनियर पवार की महत्वाकांछा या अज्ञात भय
भारत की संवैधानिक व्यवस्था और लोकतंत्र की मजबूती का प्रमाण है अयोध्या का फैसला: योगी आदित्यनाथ
 
CopyRight 2016 DanikUp.com