दैनिक यूपी ब्यूरो
19/05/2020  :  03:37 HH:MM
लॉकडाउन 4.0: योगी सरकार ने जारी की नई गाइडलाइंस, ​जानिए कहॉ छूट कहॉ सख्ती?
Total View  490

नई गाइडलाइंस के मुताबिक, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ दुकानें खुल सकेंगी. लेकिन, शहरों में साप्ताहिक बाजारों को खोलने की इजाजत नहीं होगी. मुख्य सब्ज़ी मंडी सुबह 4 बजे से सुबह 7 बजे तक खुलेगी. रिटेल सब्ज़ी मंडी सुबह 6 बजे से सुबह 9 बजे तक खुलेगी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने लॉकडाउन के चौथे चरण में नई गाइडलाइंस जारी कर दी हैं. जिसके अनुसार उत्तर प्रदेश में अब बाजार अलग-अलग दिनों के हिसाब से खुलेंगे. ग्रामीण और नगर पालिकाओं में कंटेनमेंट जोन को छोड़कर सभी दुकानें खोली जा सकती हैं.

  नई गाइडलाइंस के मुताबिक, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ दुकानें खुल सकेंगी. लेकिन, शहरों में साप्ताहिक बाजारों को खोलने की इजाजत नहीं होगी. मुख्य सब्ज़ी मंडी सुबह 4 बजे से सुबह 7 बजे तक खुलेगी. रिटेल सब्ज़ी मंडी सुबह 6 बजे से सुबह 9 बजे तक खुलेगी, फल की दुकानें सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक खुलेंगीग्रामीण क्षेत्रों में साप्ताहिक मंडी सोशल डिस्टेंसिंग के साथ खुलेंगी.

होम डिलीवरी की अनुमति के साथ रेस्टोरेंट, मिठाई की दुकानें खोली जाएंगी. मिठाई की दुकानों में सिर्फ बिक्री होगी, ग्राहकों के बैठने की मनाही है. दुकानदारों को भी मास्क पहनना जरूरी होगा. स्ट्रीट वेंडर और पटरी व्यवसायी अपना काम एहतियातों के साथ शुरू कर सकते हैं. लॉकडाउन 4.0 में कंटेनमेंट जोन को छोड़कर औद्योगिक इकाइयां शर्तों के साथ चलती रहेंगी.

शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक आवाजाही बंद रहेगी. ज़रूरी सेवाओं को छूट रहेगी. इसके लिए ज़िला अधिकारी धारा 144 लागू करेंगे. चार पहिया वाहन में ड्राइवर के अलावा 2 लोग बैठ सकते हैं, 2 बच्चों को बैठने की अनुमति है. प्रदेश में यात्री वाहनों को चलाने की अभी अनुमति नहीं है. इंटर स्टेट बसों को लेकर राज्यों के साथ सहमति के आधार पर बसें और यात्री वाहनों के लिए अभी अनुमति नहीं है, इसके लिए अलग से आदेश जारी होगा. नोएडा-गाजियाबाद में दिल्ली के हॉट्स्पॉट एरिया के लोगों के अलावा अन्य लोगों के आने जाने की छूट होगी.

शादियां भी होंगी. सरकार ने बारात घर खोलने के आदेश दे दिए हैं. लेकिन, शादी में सिर्फ 20 लोगों को शामिल होने की अनुमति होगी. निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम में अनुमति के साथ ऑपरेशन किया जा सकता है.

यूपी में सिनेमा हॉल, मॉल, सभा हॉल बंद रहेंगे. स्कूल कॉलेज बंद रहेंगे. सभी धार्मिक स्थल बंद रहेंगे. जो दुकानें खुलेंगी उन्हें इस बात का ध्यान देना होगा कि अगर ग्राहक ने मास्क नहीं पहना है तो उसे सामान ना ख़रीदने दें. सभी बाज़ार अलग अलग दिन के हिसाब से खोले जाएंगे, इस पर फ़ैसला ज़िले के अधिकारी व्यापार मंडल के साथ बातचीत कर लेंगे.

नर्सिंग होम और निज़ी अस्पतालों को इमरजेंसी और आवश्यक ऑपरेशन के लिए अनुमति होगी, लेकिन इसकी इजाज़त स्वास्थ्य विभाग पूरे सुरक्षा उपकरण के बाद ही देगा. ऑटो में ड्राईवर समेत 3 यात्री बैठ सकते हैं.

नोएडा-ग़ाज़ियाबाद में हॉटस्पॉट वाले इलाक़ों को छोड़कर बाक़ी इलाके में दिल्ली से आने वालों पर पर रोक नहीं होगा. प्रिंटिंग प्रेस ड्राईक्लीनर्स की दुकानें भी खोलने की अनुमति होगी. ऑफ़िस में काम करने वाले सभी कर्मचारियों को आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना चाहिए. यूपी यूपी के बाहर डॉक्टर, नर्स एवं पैरा मेडिकल स्टाफ़, सफ़ाई कर्मचारी, एम्बुलेंस को बिना किसी प्रतिबंध के आने जाने की इजाज़त होगी. ऑफ़िस में मास्क लगाना अनिवार्य होगा, इसका स्टॉक सभी दफ़्तर अपने पास रखें

                                                                                                                        

 

 

 

 






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4717810
 
     
Related Links :-
किसान संगठनों ने दी आंदोलन तेज करने की चेतावनी, कहा- कृषि कानूनों को रद्द करने के अलावा कोई चारा नहीं
यूपी पंचायत चुनाव में रिश्तेदारों को ना बनवाएं प्रत्याशी
किसान आंदोलन: पैनल बदलने की किसानों की मांग पर भड़का कोर्ट, कहा- इसमें पक्षपात कहां से आ गया
48 साल एमएलसी रहे शिक्षक नेता ओम प्रकाश शर्मा का निधन
सरकार-किसान संगठनों में नौवें दौर की बातचीत से पहले बोले कृषि मंत्री तोमर- सकारात्मक चर्चा की उम्मीद
हाईकोर्ट का बड़ा फैसला : स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत 30 दिन का नोटिस अब अनिवार्य नहीं
पाकिस्तान की नापाक हरकतों को BSF ने फिर किया नाकाम, LoC पर सुरंग का पता लगाया
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले किसान नेता- कमेटी के सभी सदस्य सरकार समर्थक, आंदोलन को ठंडे बस्ते में डालने की कोशिश
GST रिटर्न दाखिल करना होगा और आसान, यूपी के हर जिले में योगी सरकार खोलेगी हेल्प डेस्क
केंद्र को SC की फटकार, आप कानून पर रोक लगाओगे या हम करें? सुप्रीम कोर्ट ने क्या-क्या कहा?
 
CopyRight 2016 DanikUp.com