दैनिक यूपी ब्यूरो
10/05/2020  :  19:06 HH:MM
फैक्टरी में सावधानी के साथ काम शुरू करने के लिए निर्देश*
Total View  388

विशाखापत्तनम की घटना के बाद सरकार ने सतर्कता के साथ काम शुरू करने को कहा नई दिल्ली। दैनिक यूपी विशाखापत्तनम गैस लीक घटना के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने रविवार को लॉकडाउन के दौरान और बाद में मैन्यूफैक्चरिंग कंपनियों में उत्पादन फिर से शुरू करने के लिए गाइडलाइन जारी करके सावधानी बरतने को कहा है।

*
विशाखापत्तनम की घटना के बाद सरकार ने सतर्कता के साथ काम शुरू करने को कहा
नई दिल्ली। दैनिक यूपी

विशाखापत्तनम गैस लीक घटना के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय  ने रविवार को लॉकडाउन के दौरान और बाद में मैन्यूफैक्चरिंग कंपनियों में उत्पादन फिर से शुरू करने के लिए गाइडलाइन जारी करके सावधानी बरतने को कहा है। गृह मंत्रालय के अंतर्गत राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से दिशा-निर्देश में आगाह किया गया है कि यांत्रिक, विद्युत और रासायनिक उपकरण, जो लॉकडाउन के दौरान बंद पड़े थे उन्हें दोबारा शुरू करने से पहले लीकेज आदि की जांच कर लें।
राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) के सदस्य सचिव जीवीवी सरमा ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को दिशा-निर्देशों का विवरण देते हुए एक पत्र लिखा है। सरमा ने कहा कि लॉकडाउन अवधि के दौरान कई हफ्तों के लॉकडाउन और औद्योगिक इकाइयों को बंद करने के कारण, यह संभव है कि कुछ ऑपरेटरों ने स्थापित मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का पालन नहीं किया होगा। परिणामस्वरूप, कुछ विनिर्माण सुविधाएं, पाइपलाइनें, वाल्व, आदि में अवशिष्ट रसायन हो सकते हैं, जो जोखिम पैदा कर सकते हैं। खतरनाक रसायनों और ज्वलनशील पदार्थों के साथ भंडारण सुविधाओं के साथ भी यही समस्याएं हैं।

उन्होंने कहा कि अगर उचित प्रक्रियाएं लागू नहीं होती हैं, तो कई ऊर्जा स्रोत उन ऑपरेटरों, पर्यवेक्षकों के लिए खतरनाक साबित हो सकते हैं जो विद्युत, यांत्रिक या रासायनिक उपकरणों की सर्विसिंग या रखरखाव कर रहे हैं।जब भारी मशीनरी और उपकरण समय-समय पर मेंटेन नही रखे जाते हैं, तो वे खतरनाक साबित हो सकते हैं। 

उन्होंने सभी जिलों के जिम्मेदार अधिकारियों से कहा है कि वे सुनिश्चित करें कि लॉकडाउन के दौरान और बाद में उद्योगों को दोबारा खोलते समय सुरक्षा का खास ख्याल रखा जाए। उन्होंने कहा कि औद्योगिक ऑन-साइट आपदा प्रबंधन योजनाएं सुनिश्चित हों और मानक संचालन प्रक्रियाओं का पालन किया जाए।

निर्देश के मुताबिक औद्योगिक इकाइयों को फिर से शुरू करने के पहले सप्ताह को परीक्षण अवधि माना जाना चाहिए। लोगों को उच्च उत्पादन लक्ष्य हासिल करने की कोशिश नहीं करने की भी सलाह दी है।
निर्देश में कहा गया है कि सभी प्रकार के सुरक्षा और प्रोटोकॉल का पालन किया जाए।
एनडीएमए के निर्देश में कहा गया है कि कारखानों को हर दो-तीन घंटे में साफ-सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित करनी होगी, खासकर सार्वजनिक स्थानों पर स्थित कारखानों को यह प्रबंधन करना होगा।
इसमें कहा गया है कि श्रमिकों के आवास और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए साफ-सफाई की जानी चाहिए, जिससे वायरस से प्रसार पर रोक लगाई जा सके।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3867490
 
     
Related Links :-
फैक्टरी में सावधानी के साथ काम शुरू करने के लिए निर्देश*
जनधन खाताधारकों से बैंकों में भीड़ न लगाने का आग्रह
कोरोना का असर: मार्च में चार महीनों के निचले स्तर पर रही भारत की विनिर्माण गतिविधियां
कोरोना का असर / मूडीज की रिपोर्ट ; भारतीय बैंकों का आउटलुक निगेटिव होने का अनुमान, एसेट क्वालिटी हो सकती है खराब
मारुति सुजुकी : 2 दिन के लिए गुरुग्राम-मानेसर ह्रश्वलांट बंद
सोलर पंप आवेदन के लिए 30 सितंबर तक बढ़ाया गया समय
बोले मुख्यमंत्री मनोहर लाल सरकार ने बाजरा, सरसों और सूरजमुखी के एक-एक दाने की खरीद की है
रिवोल्ट इंटेलीकोर्प ने लॉन्च की भारत की पहली अनलिमिटेड बाइक
भारत की अग्रणी रेस्टोरेंट श्रृंखला बार्बी क्यू नेशन द्वारा गुरुग्राम में अपना चौथा और देश में 131वां रेस्टोरेंट ग्लोबल फोयर मॉल में खोला गया।
तनिष्क के सहभागी-कैरेटलेन अब पश्चिम विहार में
 
CopyRight 2016 DanikUp.com