दैनिक यूपी ब्यूरो
07/05/2020  :  18:47 HH:MM
बाहरी राज्यों में फंसे यूपी के हर नागरिक को सुरक्षित घर लाना ही हमारी पहली प्राथमिकता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*
Total View  422

लखनऊ, 7 मई।* मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वैश्विक महामारी से उत्तर प्रदेश के लोगों को बचाने व उनकी सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता दे रहे हैं। जिसके मद्देनजर किए जा रहे कार्यों की सीएम योगी हर दिन समीक्षा भी कर रहे हैं

9 मई को लखनऊ में उतरेगा विमान, शारजाह से 200 लोगों की होगी वापसी

*प्रदेश का हर जनपद वेंटिलेटर से हुआ लैस*

*गैर राज्यों से यूपी में वापसी के लिए 99 ट्रेनों की व्यवस्था* 

*प्रदेश में अबतक 3059 केस, 61 लोगों की कोरोना से मौत*

*कोरोना वायरस के संबंध में अपर मुख्य सचिव, गृह एवं प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने लोकभवन में की प्रेस कॉन्फ्रेंस*

*लखनऊ, 7 मई।* मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वैश्विक महामारी से उत्तर प्रदेश के लोगों को बचाने व उनकी सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता दे रहे हैं। जिसके मद्देनजर किए जा रहे कार्यों की सीएम योगी हर दिन समीक्षा भी कर रहे हैं। गुरूवार को भी सीएम योगी ने प्रवासी लोगों को सुरक्षित लाने व उनके लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने की कार्यनीति पर अधिकारियों से चर्चा की। जिसमें 9 मई को विदेशों से आने वाले लोगों के लिए दिशा निर्देश तय किए गए। कोविड—19 के संक्रमण से बचाव व रोकथाम के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व उनकी टीम 11 हर संभव प्रयास कर रही है। 

उक्त जानकारी गुरूवार को यहां लोकभवन में कोरोना वायरस के संबंध में किए गए प्रेस कांफ्रेंस में अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी और प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने पत्रकारों को दी। अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम 11 के साथ बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रदेश में आने वाले प्रवासी श्रमिक तथा कामगारों को उनके क्षमता के अनुसार रोजगार उपलब्ध कराया जाए। इसके लिए मनरेगा, ओडीओपी, विश्वकर्मा श्रम सम्मान, एमएसएमई, महिला स्वयं सहायता समूह, डेयरी उद्योग और खाद्य समितियों से जोड़ने के लिए कार्ययोजना बनाने का सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिया है। इतना ही नहीं सीएम योगी ने प्रदेश में संचालित औद्योगिक इकाइयों में कामगारों को रोजगार देने पर भी विशेष बल दिया। 

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर उत्तर प्रदेश के लिए लगातार श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अभी तक 43 से अधिक ट्रेन आ चुकी हैं या आने वाली हैं। गुरूवार की रात 12 बजे तक 13 और ट्रेनों के आने की संभावना उन्होंने व्यक्त की है। उन्होंने बताया कि आगरा, कानपुर, लखनऊ, जौनपुर, बलिया, गोरखपुर, बरेली, प्रयागराज, कन्नौज, बाराबंकी, बांदा, सीतापुर, प्रतापगढ़, आजमगढ़ और उन्नाव में ट्रेने आई हैं। अब तक आने वाली 43 ट्रेनों में 51 हजार 371 लोग आए हैं। आने वाली 13 अन्य ट्रेनों में करीब 15 हजार श्रमिकों के आने की संभावना उन्होंने व्यक्त की है। उन्होंने बताया कि शुक्रवार या उसके बाद 43 अन्य अतिरिक्त ट्रेनों के संचालन की अनुमति दे दी गई है। इनमें भी 53 हजार से अधिक लोग आ सकते हैं। उन्होंने बताया कि प्रवासी कामगारों व श्रमिकों को लाने के लिए 99 ट्रेनों की व्यवस्था की गई है। 

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि रोडवेज की बसों से राजस्थान से 10 हजार लोगों को लाने का काम शुरू कर दिया गया है। अबतक 1 लाख श्रमिकों व कामगारों को लाने व ले जाने का कार्य हुआ है। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र सरकार से प्रति दिन 10 ट्रेन भेजने का आग्रह किया गया है। पंजाब से भी 17 ट्रेनों को उत्तर प्रदेश में श्रमिकों को लाने की अनुमति दी गई है, इन 17 में 4 ट्रेन आ चुकी हैं। केरल से पहली ट्रेन लखनऊ पहुंच गई है। तेलंगाना से 2 ट्रेनें आ गई हैं। उन्होंने बताया कि आने के बाद सभी कामगारों व श्रमिकों के स्वास्थ्य की जांच के बाद जिनको भी होम क्वारंटीन के लिए भेजा जा रहा है उनको भरण-पोषण के लिए एक हजार रुपया और मानक के अनुसार खाद्यान्न भी उपलब्ध कराने का निर्देश सीएम योगी ने दिया है। 

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विदेशों से आने वालों लोगों के लिए भी निर्देश जारी किया है। विदेश मंत्रालय की सहायता से दूसरे देशों से लोगों को लाने का काम शुरू कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश में 9 मई की शाम 8 बजे पहला विमान शारजाह से आएगा। 200 लोगों को लेकर यह विमान लखनऊ में उतरेगा। आने वाले लोगों को 14 दिन क्वारंटीन करके ही घर भेजा जाएगा।  

*प्रदेश में अबतक 3059 केस, 61 लोगों की कोरोना से मौत: प्रमुख सचिव स्वास्थ्य* 

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि प्रदेश में अबतक 3059 केस सामने आए हैं। जिनमें 1868 एक्टिव केस हैं। उपचार के बाद 3059 में से 1130 पेशेंट पूरी तरह स्वस्थ हो गए हैं और उन्हें घर भेज दिया गया है। प्रदेश के 67 जनपद कोरोना से प्रभावित हुए हैं। हालांकि इनमें से 6 जनपद अब कोरोना से मुक्त हो गए हैं और 6 जिलों में अबतक कोरोना का कोई केस नहीं आया है। प्रदेश में कोरोना से 61 लोगों की मौत हुई है। उन्होंने बताया कि बुधवार को कोरोना के 4584 सैंपलों की टेस्टिंग की गई।

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि बुधवार को 2199 सैंपलों को मिलाकर 459 सैंपलों का पूल टेस्ट किया गया। जिसमें 28 पूल सैंपल पॉजिटीव मिले। उन्होंने बताया कि पूरे देश में सबसे अधिक सैंपल टेस्ट करने वाली सूची में उत्तर प्रदेश दूसरे स्थान पर आ गया है। बुधवार को प्राइवेट और सरकारी लैबों में 1 लाख 10 हजार 534 सैंपलों की जांच की गई है। आइसोलेशन वार्ड में 1929 लोगों को रखा गया है, जबकि क्वारंटीन सेंटर में 10797 लोगों को रखा गया है। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमित होने वाले सभी लोगों में 75.16 प्रतिशत पुरुष और 24.84 प्रतिशत महिलाएं हैं। 

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि वर्तमान में वेंटिलेटरों की संख्या 1300 हो गई है। जिन्हें प्रदेश के सभी जनपदों में उपलब्ध करा दिया गया है। उन्होंने बताया कि नॉन कोविड केयर में लगे प्राइवेट अस्पतालों को बिना किसी भय के लोगों का उपचार करना चाहिए। हालांकि इस दौरान उन्हें कोविड केयर के सभी मानकों का पालन करना जरूरी होगा। साथ ही ऐसे अस्पताल जो आयुष्मान भारत की दर पर लोगों को आपातकालीन सेवा मुहैया करा रहे हैं उन्हें पीपीई किट व मास्क पर 50 प्रतिशत की सब्सिडी मिलेगी।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6511070
 
     
Related Links :-
दुर्दांत हत्यारा विकास मारा गया,पुलिस का आधिकारिक बयान जारी-
कानपुर शूटआउट: विकास दुबे के साथी प्रभात को हुआ कोरोना, फरीदाबाद से हुआ था गिरफ्तार
बिग ब्रेकिंग* कानून व्यवस्था के सवाल पर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपने जा रहे कांग्रेस नेता गिरफ्तार
कुख्यात हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे, जिसे पकड़ने गए 8 पुलिसकर्मी शहीद हुए...
प्रियंका खाली करेंगी बंगला, क्या लखनऊ होंगी शिफ्ट?
यूपी कांग्रेस अध्यक्ष, विधायक दल की नेता गिरफ्तार
यूपी: सरकारी बालिका गृह में 57 लड़कियां कोरोना संक्रमित, दो प्रेग्नेंट और एक को एड्स
मुख्यमंत्री की कार्यप्रणाली का कायल हुआ आईसीएमआर
इमरजेंसी सेवाएं होंगी पहले से ज्यादा बेहतर : योगी आदित्यनाथ
मुख्यमंत्री ने किया बाल श्रमिक विद्याधन योजना का लोकार्पण
 
CopyRight 2016 DanikUp.com