दैनिक यूपी ब्यूरो
25/04/2020  :  19:32 HH:MM
भारत को बड़ा बाजार मान रहे खाड़ी देश*
Total View  516

दैनिक यूपी। कोरोना संकट के बीच भारत की खाड़ी देशों का बड़ा मददगार बना है। इन देशों में दवाइयों की आपूर्ति के अलावा खाद्य सामग्री की आपूर्ति भारत ने सुनिश्चित की है।



दैनिक यूपी। 

कोरोना संकट के बीच भारत की खाड़ी देशों का बड़ा मददगार बना है। इन देशों में दवाइयों की आपूर्ति के अलावा खाद्य सामग्री की आपूर्ति  भारत ने सुनिश्चित की है। रमज़ान की शुभकामनाओं के बहाने दो दिनों में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पांच खाड़ी देशों के विदेशमंत्रियों से बात की है। पिछले कुछ हफ्तों में प्रधान मंत्री नरेंद्रमोदी ने जीसीसी देशों सऊदी अरब, यूएई, कतर, कुवैत, बहरीन और ओमान के नेताओं के साथ-साथ फिलिस्तीन, जॉर्डन और इजिप्ट के नेताओं के साथ टेलीफोन पर बातचीत की थी 
प्रधानमंत्री की बातचीत की कड़ी में विदेश मंत्री जयशंकर ने ने 23 अप्रैल को सऊदी अरब और ओमान के विदेश मंत्री से बात की थी।  शुक्रवार 24 अप्रैल को उन्होंने कतर, यूएई और फिलिस्तीन के विदेश मंत्रियों के साथ टेलीफोन पर बातचीत की। भारत इसे थिंक वेस्ट डिप्लोमेसी के तहत अपनी प्राथमिकता के रूप में देख रहा है। 
 इससे पहले जयशंकर बहरीन, कुवैत और अल्जीरिया के विदेश मंत्रियों से बात कर चुके हैं।
विदेशमंत्री ने रमजान के पवित्र महीने की शुरुआत के अवसर पर खाड़ी देशों के समकक्षों को शुभकामनाएं दीं। 
 *दवा और इलाज में सहयोग* 
 कई खाड़ी देशों ने कोविड -19 महामारी से निपटने  के लिए सहयोग के तहत भारत से हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन और पैरासिटामोल जैसी आवश्यक दवाओं के लिए अनुरोध किया था। भारत ने सऊदी अरब, बहरीन, ओमान, कतर, मिस्र और फिलिस्तीन को इन दवाओं की आपूर्ति की है। ये आपूर्ति मानवीय सहायता के रूप में और वाणिज्यिक आधार पर हो रही हैं। सहयोग के लिए इन देशों ने भारत को सराहा है।कुवैत के अनुरोध पर, भारत ने डॉक्टरों, नर्सों और पैरामेडिक्स की एक त्वरित प्रतिक्रिया टीम को वहां तैनात किया है।
 **खाड़ी के चिकित्सा कर्मियों को वापस भेजेगा भारत* 
 कुछ खाड़ी देशों के विदेश मंत्रियों ने अनुरोध किया कि उनके चिकित्सा कर्मियों को जो इस समय भारत में हैं, उन्हें वापस जाने की अनुमति दी जाए। विदेश मंत्री ने आश्वासन दिया है कि इस मामले पर सहानुभूतिपूर्वक विचार किया जाएगा।
 *कोविड संकट के बाद की तैयारी* 
• पोस्ट कोविड तैयारियों पर भी खाड़ी देश अभी से चर्चा कर रहे हैं। खाड़ी देशों से बातचीत में आर्थिक सुधार, विशेषकर इसके ऊर्जा निहितार्थ पर चर्चा हुई है। भारत खाड़ी क्षेत्र से आने वाले कच्चे तेल के लिए एक प्रमुख बाजार है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   5959659
 
     
Related Links :-
बिहार की राजनीति के 'मौसम वैज्ञानिक' का क्यों बदल रहा मूड, क्या भांप ली है चुनाव की आबोहवा?
यूएन में परमानेंट सीट के लिए पीएम मोदी ने ठोंका दावा, बोले- कब तक इंतजार करेगा भारत
झूठा खान कश्मीर पर बाज नही आया, एक के बाद एक झूठ का पुलिंदा
वरिष्ठ राजनयिक को वीजा न देने से जताई नाखुशी, पाकिस्तान की नापाक हरकत*
बिना निर्वाचन के ही लोकसभा में बैठने का मौका, वेंकैया ने मजाकिया लहजे में कहा*
काला टॉप हिल पर भारत का कब्जा, चीन बौखलाया
बेहतर इलाज के लिए दिल्ली रवाना हुए शिबू सोरेन, गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में होगा इलाज
सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच पटना से मुंबई ट्रांसफर होगी या नहीं? सुप्रीम कोर्ट आज सुनाएगा अहम फैसला
J-K: बारामूला में आतंकियों का दूसरा हमला, एक और जवान शहीद, एक घायल
आईटीबीपी जवानों ने देश के कोरोना योद्धाओं को समर्पित की गीतों की लड़ी,स्वतंत्रता दिवस पर किया राष्ट्र को समर्पित
 
CopyRight 2016 DanikUp.com