दैनिक यूपी ब्यूरो
05/01/2020  :  16:33 HH:MM
पहली बार बटाईदार भी होंगे सीएम कृषक दुघर्टना बीमा के लाभार्थी: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*
Total View  101

पहली बार बटाईदार भी होंगे सीएम कृषक दुघर्टना बीमा के लाभार्थी: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ* *आंधी-तूफान, भूस्खलन में होने वाली मौत या दुर्घटना भी योजना के दायरे में* *45 दिन में पेश करना होगा दावा, दावे के एक माह भीतर करना होगा ऑनलाइन भुगतान* *3 जनवरी, लखनऊ।* मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मुख्यमंत्री कृषक बीमा योजना का लाभ बटाईदार को भी मिलना चाहिए। पहली बार ऐसा होगा कि इससे बटाईदार भी आच्छादित होंगे। इसका दायरा भी पहले की योजना से बड़ा होगा। मसलन आंधी-तूफान और भूस्खलन में मरने या दिव्यांग होने वाले किसान के बालिग (18 से 70 वर्ष) आश्रित को भी इसका लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को राजस्व विभाग की इस योजना का प्रस्तुतीकरण देखा और जरूरी निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसका लाभ हर किसान परिवार को मिलना चाहिए। अगर कोई किसी और योजना से लाभान्वित हो रहा है तो उस योजना से मिलने वाली राशि की कटौती कर ली जाये। तय समय में पीड़ित परिवार को योजना का लाभ मिल सके, इसके लिए प्रक्रिया को सरल और पारदर्शी बनाने का निर्देश भी मुख्यमंत्री ने दिया। राजस्व विभाग आवेदन के लिए तीन माह में जो ऑनलाइन पोर्टल तैयार करेगा उसके साथ ही किसानों के हित में मैनुअल आवेदन भी स्वीकार किये जाएं। *45 दिन में पेश करना होगा दावा*

*पहली बार बटाईदार भी होंगे सीएम कृषक दुघर्टना बीमा के लाभार्थी: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*

*आंधी-तूफान, भूस्खलन में होने वाली मौत या दुर्घटना भी योजना के दायरे में*

*45 दिन में पेश करना होगा दावा, दावे के एक माह भीतर करना होगा ऑनलाइन भुगतान*

*3 जनवरी, लखनऊ।* मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि मुख्यमंत्री कृषक बीमा योजना का लाभ बटाईदार को भी मिलना चाहिए। पहली बार ऐसा होगा कि इससे बटाईदार भी आच्छादित होंगे। इसका दायरा भी पहले की योजना से बड़ा होगा। मसलन आंधी-तूफान और भूस्खलन में मरने या दिव्यांग होने वाले किसान के बालिग (18 से 70 वर्ष) आश्रित को भी इसका लाभ मिलेगा। 

मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को राजस्व विभाग की इस योजना का प्रस्तुतीकरण देखा और जरूरी निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसका लाभ हर किसान परिवार को मिलना चाहिए। अगर कोई किसी और योजना से लाभान्वित हो रहा है तो उस योजना से मिलने वाली राशि की कटौती कर ली जाये। तय समय में पीड़ित परिवार को योजना का लाभ मिल सके, इसके लिए प्रक्रिया को सरल और पारदर्शी बनाने का निर्देश भी मुख्यमंत्री ने दिया। राजस्व विभाग आवेदन के लिए तीन माह में जो ऑनलाइन पोर्टल तैयार करेगा उसके साथ ही किसानों के हित में मैनुअल आवेदन भी स्वीकार किये जाएं।
*45 दिन में पेश करना होगा दावा*

हादसे के 45 दिनों के भीतर संबंधित परिवार को दावा पेश करना होगा। दावे के एक माह के भीतर ऑनलाइन भुगतान संबंधित किसान के खाते में करना होगा। विशेष स्थितियों में संबंधित जिले के डीएम एक माह का अतिरिक्त समय दे सकते हैं। योजना के तहत बीमे की अधिकतम रकम पांच लाख रुपये होगी।

बैठक में मुख्य सचिव आर के तिवारी, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल और संबंधित विभागों के अपर मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव मौजूद रहे।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4879359
 
     
Related Links :-
नर्सों ने की तब्लीगी जमाते की शिकायत, डीएम-एसएसपी से शिकायत
शिक्षा मित्रों को राहत, नहीं कटेगी सैलरी
लखनऊ की मस्जिदों में ठहरे 23 विदेशियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज
अब प्राइवेट लैब में भी करवा सकेंगे कोरोना वायरस की जांच, मिली अनुमति
यूपी में एक दिन में 14 नए मरीज, अब तक 65 लोग कोरोना संक्रमित
मुख्यमंत्रियों को अमितशाह का निर्देश पलायन रोके
आपको टैक्स पर क्या राहत मिली? जानिए...
गन्ना किसानों को भुगतान क्यों नही कर रही कंपनिया
*नि:शुल्क बोरिंग के साथ जरूरी होगा ड्रिप या स्प्रिंकलर: मुख्यमंत्री
गोरखपुर में 121 एकड़ में बनेगा चिड़ियाघर, योगी कैबिनेट में हुए 6 प्रस्ताव पास*
 
CopyRight 2016 DanikUp.com