दैनिक यूपी ब्यूरो
05/01/2020  :  16:01 HH:MM
जिस जमीन पर हुई मोदी की सभा वहीं हो रही योगी राज में अवैध कब्जे की कोशिश
Total View  167

जिस जमीन पर हुई मोदी की सभा वहीं हो रही योगी राज में अवैध कब्जे की कोशिश भदोही। दैनिक यूपी ब्यूरो भदोही में जिस जमीन पर वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा हुई थी अब वहां अवैध कब्जे की कोशिश दबंगो द्वारा की जा रही है। जमीन के असली मालिक भाजपा नेता सुधांशु मिश्र पर दबंग लोगों ने हमला भी किया है। लेकिन पुलिस प्रशासन असहाय बना हुआ है।

जिस जमीन पर हुई मोदी की सभा वहीं हो रही योगी राज में अवैध कब्जे की कोशिश
भदोही। दैनिक यूपी ब्यूरो
भदोही में जिस जमीन पर वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा हुई थी अब वहां अवैध कब्जे की कोशिश दबंगो द्वारा की जा रही है। जमीन के असली मालिक भाजपा नेता सुधांशु मिश्र पर दबंग लोगों ने हमला भी किया है। लेकिन पुलिस प्रशासन असहाय बना हुआ है।
गौरतलब है कि 4 मई 2014 को भदोही जनपद के विधानसभा ज्ञानपुर, विकास खंड डीघ, थाना गोपीगंज के अंतर्गत जी. टी. रोड चकपरौना में तत्कालीन ब्लॉक प्रमुख डीघ, सुधांशु कुमार मिश्र "विधु" ने अपनी निजी भूमि पर प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार श्री नरेन्द्र मोदी की लोकसभा भदोही की चुनावी सभा आयोजित किया था। स्थानीय माफिया विधायक के भय से तब उनके अलावा कोई भी इस सभा के लिए भूमि देने के लिए तैयार नहीं हुआ था। जिसके चलते उन्हें तत्कालीन उत्तर प्रदेश की सपा सरकार ने कई आपराधिक मामलों में फसाने का प्रयास भी किया। तब पर भी उनका सहयोग भाजापा में किसी ने नहीं किया और आज जब प्रदेश में भाजपा की सरकार है, उनकी उसी भूमि पर स्थानीय माफिया विधायक के गुंडों द्वारा कब्जे का प्रयास हो रहा है। आज भी उनका सहयोग नही किया जा रहा है।  मिश्र पार्टी के प्रांतीय पदाधिकारी रहे एवं पार्टी में ये उनकी तीसरी वंशावली है। वे प्रयागराज (इलाहाबाद) के जनसंघ के संस्थापक सदस्य पण्डित काशी नाथ के सगे नाती भी हैं। मिश्र समर्थकों का कहना है कि यदि पार्टी का यही रवैया रहा तो इसका गलत संदेश जाने के साथ पार्टी के समर्पित लोगों में भी विश्वसनीयता का संकट उतपन्न हो जायेगा।
जानकारी के मुताबिक 11 दिसम्बर 2019 से कब्जे का लगातार प्रयास किया जा रहा है। राजनैतिक दबाव में पुलिस प्रभावी ढंग से कुछ भी नहीं कर पा रही है। 03 जनवरी 2020 को श्री मिश्र के साथ मौके पर पहुँची पुलिस फोर्स को उपजिलाधिकारी ज्ञानपुर द्वारा बिना किसी ठोस आधार के वहां से हटने के लिए कहा गया। इससे दबंगो का हौसला बढ़ गया। पुलिस बल के मौके से हटते ही सुधांशु मिश्र पर गुंडों ने समूह बनाकर हमला कर दिया। वे किसी तरह वहाँ से जान बचाकर अपनी रक्षा किये, नहीं तो उनके साथ अनहोनी होना तय था। इस घटना के बाद भी आरोपी खुलेआम मनमानी पर उतारू हैं, और पुलिस अपने को असहाय महसूस कर रही है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   7917871
 
     
Related Links :-
पूरे प्रदेश में मदद पहुंचाने की कोशिश में जुटे है डिप्टी सीएम मौर्य
नर्सों ने की तब्लीगी जमाते की शिकायत, डीएम-एसएसपी से शिकायत
शिक्षा मित्रों को राहत, नहीं कटेगी सैलरी
लखनऊ की मस्जिदों में ठहरे 23 विदेशियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज
अब प्राइवेट लैब में भी करवा सकेंगे कोरोना वायरस की जांच, मिली अनुमति
यूपी में एक दिन में 14 नए मरीज, अब तक 65 लोग कोरोना संक्रमित
मुख्यमंत्रियों को अमितशाह का निर्देश पलायन रोके
आपको टैक्स पर क्या राहत मिली? जानिए...
गन्ना किसानों को भुगतान क्यों नही कर रही कंपनिया
*नि:शुल्क बोरिंग के साथ जरूरी होगा ड्रिप या स्प्रिंकलर: मुख्यमंत्री
 
CopyRight 2016 DanikUp.com