दैनिक यूपी ब्यूरो
22/11/2019  :  15:59 HH:MM
गीता प्रेरणा महोत्सव का आयोजन एक दिसंबर को - घर - घर गीता का संदेश पहुंचाने का अभियान
Total View  520

एक दिसम्बर को गीता प्रेरणा महोत्सव का आयोजन लाल किला मैदान पर किया जा रहा है। स्वामी ज्ञानानंद के आध्यात्मिक नेतृत्व में हो रहे विशाल आयोजन में सरसंघचालक मोहन भागवत, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी,रमेश पोखरियाल निशंक, स्वामी अवधेशानंद जी भी शामिल होंगे। समरस संस्कारित गीतमय भारत के संदेश के साथ 22 नवंबर शुक्रवार को कार्यक्रम के लिए भूमि पूजन किया गया


एक दिसम्बर को गीता प्रेरणा महोत्सव का आयोजन लाल किला मैदान पर किया जा रहा है। स्वामी ज्ञानानंद के आध्यात्मिक नेतृत्व में हो रहे विशाल आयोजन में सरसंघचालक मोहन भागवत, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी,रमेश पोखरियाल निशंक, स्वामी अवधेशानंद जी भी शामिल होंगे।  समरस संस्कारित गीतमय भारत के संदेश के साथ 22 नवंबर शुक्रवार को कार्यक्रम के लिए भूमि पूजन किया गया।

स्वामी ज्ञानानंद ने कहा, गीता का केवल आध्यात्मिक महत्व ही नही है बल्कि  जीवन के प्रत्येक छेत्र में  अद्भुत प्रयोग का संदेश इसमे समाहित है। गीता में 18 अध्याय हैं। इसलिए कार्यक्रम की रूपरेखा ऐसे बनाई गई है कि इसमें देश के अलग अलग हिस्सों से 18 हजार युवा, 1800 ब्यूरोक्रेट, 1800 व्यापारी और 1800 डॉक्टर व वकील सहित विभिन्न समूह के लोग शामिल होंगे। 
स्वामी ज्ञानानंद ने कहा, गीता का हर अध्याय जीवन के प्रत्येक छेत्र में काम करने वाले लोगों को प्रेरणा देता है। यह जीवन पद्धति का हिस्सा है। स्कूली शिक्षा से लेकर कामकाज तक जीवन के हर चरण में गीता का अमर संदेश प्रेरित करता है। पीछे न हटने, आगे बढ़ते रहने की प्रेरणा देता है।
जिओ गीता अभियान के माध्यम से देश भर में  पहले से वृहद स्तर पर कार्यक्रम चल रहे हैं। करोड़ो लोग इस अभियान से जुड़े हैं।
स्वामी ज्ञानानंद महाराज ने कहा कि गीता ज्ञान का गीत है यह विश्व कल्याण का गीत बने ये हमारी कामना है।
हमें हर घर में गीता को पहुंचाना है। उन्होंंने कहा कि भगवत गीता एक आइना है जो हमें सही-गलत संस्कार का आभास कराती है। विचलित क्षणों में गीता का स्मरण करने से हर कार्य आसानी से पूरा हो जाता है। यह इसलिए संभव होता है कि इसका प्रभाव हमारी आंतरिक शक्तियों को सकारात्मक रूप से सक्रिय बनाता है।
 स्वामी जी ने कहा कि गीता मानव मूल्यों पर आधारित एक पवित्र ग्रंथ है। इसमें हर जाति, पंथ,संप्रदाय के लिए संदेश है। क्योंकि इसका हर अध्याय जीवन जीने की कला बताता है। इसलिए गीता प्रेरणा महोत्सव 18 अध्याय की थीम पर आयोजित किया जा रहा है।
कार्यक्रम  - गीता प्रेरणा महोत्सव तिथि - 1 दिसंबर
समय - 10 बजे से दो बजे तक






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   540891
 
     
Related Links :-
नर्सों ने की तब्लीगी जमाते की शिकायत, डीएम-एसएसपी से शिकायत
शिक्षा मित्रों को राहत, नहीं कटेगी सैलरी
लखनऊ की मस्जिदों में ठहरे 23 विदेशियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज
अब प्राइवेट लैब में भी करवा सकेंगे कोरोना वायरस की जांच, मिली अनुमति
यूपी में एक दिन में 14 नए मरीज, अब तक 65 लोग कोरोना संक्रमित
मुख्यमंत्रियों को अमितशाह का निर्देश पलायन रोके
आपको टैक्स पर क्या राहत मिली? जानिए...
गन्ना किसानों को भुगतान क्यों नही कर रही कंपनिया
*नि:शुल्क बोरिंग के साथ जरूरी होगा ड्रिप या स्प्रिंकलर: मुख्यमंत्री
गोरखपुर में 121 एकड़ में बनेगा चिड़ियाघर, योगी कैबिनेट में हुए 6 प्रस्ताव पास*
 
CopyRight 2016 DanikUp.com