दैनिक यूपी ब्यूरो
13/11/2019  :  14:51 HH:MM
डॉक्टर और मरीजों के बीच बेहतर होगा रिश्ता, सफदरजंग अस्पताल में शुरू हुई कॉउंसलिंग सेवा
Total View  633

सफदरजंग में शुरू हुई काउंसलिंग सेवा - मरीजों और डॉक्टरों के बीच तनाव कम करने का स्वयं सेवी संस्था और सफदरजंग का साझा अभियान - आरएसएस भी करेगी सहयोग नई दिल्ली। सफदरजंग अस्पताल में मरीजों और डॉक्टरों के बीच टकराव व तनाव की घटनाएं कम करने के लिए बुधवार को कॉउंसलिंग सेवा शुरू की गई है। अस्पताल प्रशासन और स्वयंसेवी संस्था आओ साथ चलें ने इस साझा अभियान की शुरुआत की है। नई शुरुआत के तहत अस्पताल में कई जगहों पर हेल्प कियोस्क लगाए गए हैं। इसमें मौजूद काउंसलर अस्पताल में आने वाले मरीजों और उनके परिजनों की कॉउंसलिंग करेंगे। जिससे वे अस्पताल में मौजूद चिकित्सीय सुविधाओं का बेहतर तरीके से फायदा उठा सके। साथ ही डॉक्टर और मरीजों के बीच समझ बढ़ाई जा सके। अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉक्टर सुनील गुप्ता ने बताया कि अस्पताल में हर रोज तकरीबन 50 हजार मरीज आते हैं। अस्पताल में डॉक्टर और स्टाफ संसाधनों की सीमा के बावजूद मरीजों का बेहतर से बेहतर इलाज करने का प्रयास करते हैं। लेकिन कई बार कम्युनिकेशन गैप के चलते डॉक्टर और मरीजों में तनाव की घटनाएं भी होती हैं। कई बार डॉक्टर निशाना बनते हैं। इस तरह की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं।

सफदरजंग में शुरू हुई काउंसलिंग सेवा
- मरीजों और डॉक्टरों के बीच तनाव कम करने का स्वयं सेवी संस्था और सफदरजंग का साझा अभियान
- आरएसएस भी करेगी सहयोग
नई दिल्ली।
सफदरजंग अस्पताल में मरीजों और डॉक्टरों के बीच टकराव व तनाव की घटनाएं कम करने  के लिए बुधवार को कॉउंसलिंग सेवा शुरू की गई है।  अस्पताल प्रशासन और स्वयंसेवी संस्था आओ साथ चलें ने इस साझा अभियान की शुरुआत की है। नई शुरुआत के तहत अस्पताल में कई जगहों पर हेल्प कियोस्क लगाए गए हैं। इसमें मौजूद काउंसलर अस्पताल में आने वाले मरीजों और उनके परिजनों की कॉउंसलिंग करेंगे। जिससे वे  अस्पताल में मौजूद चिकित्सीय सुविधाओं का बेहतर तरीके से फायदा उठा सके। साथ ही डॉक्टर और मरीजों के बीच समझ बढ़ाई जा सके।
अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट  डॉक्टर सुनील गुप्ता ने बताया कि अस्पताल में हर रोज तकरीबन 50 हजार मरीज आते हैं। अस्पताल में डॉक्टर और स्टाफ  संसाधनों की सीमा के बावजूद मरीजों का बेहतर से बेहतर इलाज करने का प्रयास करते हैं। लेकिन कई बार कम्युनिकेशन गैप के चलते डॉक्टर और मरीजों में तनाव की घटनाएं भी होती हैं। कई बार डॉक्टर निशाना बनते हैं। इस तरह की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए कॉउंसलिंग सेवा की जरूरत महसूस की जा रही थी। 
कॉउंसलिंग टीम मरीजों और उनके साथ आने वाले लोगों की मदद करेगी। उन्हें बताया जाएगा कि अस्पताल में इलाज सुविधाओं का वे कैसे बेहतर इस्तेमाल कर सकते हैं। डॉक्टर और तीमारदारों के बीच बेहतर संवाद कैसे हो ये भी समझाया जाएगा। नए अभियान से डॉक्टर और मरीजों के बीच रिश्ता बेहतर करने में मदद मिलेगी।
 आओ साथ चलें संस्था के राष्ट्रीय संयोजक विष्णु मित्तल ने बताया कि काउंसलर का पूरा खर्च संस्थान वहन करेगा। शुरू में दस काउंसलर नियुक्त किये गए हैं। इनकी संख्या धीरे धीरे बढ़ाई जाएगी। उन्होंने कहा संस्था पहले ही राम मनोहर लोहिया अस्पताल में मरीजों की मदद के लिए अस्पताल प्रशासन के साथ मिलकर काम कर रही है। आरएमएल में ओपीडी और इमरजेंसी के अलावा कैंसर वार्ड में मरीजों की सहायता के लिए वॉलिंटियर्स तैनात हैं। 
सफदरजंग में आओ साथ चलें के कार्यक्रम संचालक डॉक्टर अनिल गोयल ने बताया कि काउंसलर को अस्पताल प्रशासन और यहां के डॉक्टर की पूरी टीम सहयोग करेगी। काउंसलर अस्पताल के डॉक्टर्स द्वारा प्रशिक्षित होंगे।
उद्घाटन कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि मौजूद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांतीय कार्यवाह भारत भूषण ने कहा सेवा से ज्यादा संतोष किसी और कार्य से नही मिल सकता। अस्पताल में शुरू किये जा रहे सेवा प्रकल्प से ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ने का आह्वान किया। 
आरएसएस के दिल्ली प्रचार प्रमुख रितेश अग्रवाल ने कहा कि धीरे धीरे इस अभियान को दिल्ली के सभी अस्पतालों में विस्तार दिया जाना चाहिए। 
कार्यक्रम में भाजपा की प्रदेश उपाध्यक्ष मोनिका पंत, सुनील मित्तल, आर के पनपालिया सहित स्वयं सेवी संस्था से जुड़े लोग, सफदरजंग अस्पताल के विभिन्न विभागों के एचओडी मौजूद थे।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   9638903
 
     
Related Links :-
प्रदेश में स्वदेशी वस्तुओं का हो निर्माण: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
श्रमिकों की सुरक्षित व सम्मानजनक वापसी हमारा लक्ष्य: मुख्यमंत्री
CM योगी को जान से मारने की धमकी देने वाला गिरफ्तार
घर लौटे प्रवासी कामगारों को रोजगार के लिए बनेगा प्रवासी आयोग
लॉकडाउन में सरकारी कर्मियों के वेतन-भत्तों में कटौती, क्या बनेगा केंद्र के गले की फांस!
लॉकडाउन में बंद पड़ी घरेलू विमान सेवाएँ 25 मई से शुरू होंगी
बस पॉलिटिक्स / प्रियंका बोलीं- भाजपा अपने झंडे पोस्टर लगा ले, मगर राजनीति से ऊपर उठकर हो बसों का इस्तेमाल,
1 जून से शुरू होंगी ये यात्री ट्रेनें, लिस्‍ट जारी, आज से बुकिंग शुरू
लॉकडाउन 4.0: योगी सरकार ने जारी की नई गाइडलाइंस, ​जानिए कहॉ छूट कहॉ सख्ती?
जल्द घुटने टेकेगा कोरोना, ठीक होने वाले लोगों की संख्या में बढ़त: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
 
CopyRight 2016 DanikUp.com