दैनिक यूपी ब्यूरो
08/11/2019  :  14:01 HH:MM
योगी सरकार ने भ्रष्टाचार पर किया कड़ा प्रहार, सात पीपीएस अधिकारियों को दी अनिवार्य सेवानिवृत्त*
Total View  80

योगी सरकार ने भ्रष्टाचार पर किया कड़ा प्रहार, सात पीपीएस अधिकारियों को दी अनिवार्य सेवानिवृत्त* • *दो वर्षों में 200 से ज्यादा अफसरों और कर्मचारियों को जबरन रिटायर कर चुकी है योगी सरकार* • *दो वर्षों में योगी सरकार ने 400 से ज्यादा अफसरों, कर्मचारियों को निलंबन और डिमोशन जैसे दंड भी दिए गए* *7 नवंबर, लखनऊ।* उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार पर कड़ा प्रहार करते हुए प्रांतीय पुलिस सेवा (पीपीएस) अधिकारियों पर बड़ी कार्रवाई की है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर डीजीपी ओपी सिंह ने बड़ा एक्शन लेते हुए सात पीपीएस अधिकारियों को अनिवार्य सेवानिवृत्त दे दी है।

*योगी सरकार ने भ्रष्टाचार पर किया कड़ा प्रहार, सात पीपीएस अधिकारियों को दी अनिवार्य सेवानिवृत्त*

*दो वर्षों में 200 से ज्यादा अफसरों और कर्मचारियों को जबरन रिटायर कर चुकी है योगी सरकार*

*दो वर्षों में योगी सरकार ने 400 से ज्यादा अफसरों, कर्मचारियों को निलंबन और डिमोशन जैसे दंड भी दिए गए*

*7 नवंबर, लखनऊ।* उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार पर कड़ा प्रहार करते हुए प्रांतीय पुलिस सेवा (पीपीएस) अधिकारियों पर बड़ी कार्रवाई की है। मुख्यमंत्री के निर्देश पर डीजीपी ओपी सिंह ने बड़ा एक्शन लेते हुए सात पीपीएस अधिकारियों को अनिवार्य सेवानिवृत्त दे दी है।

वित्तीय हस्तपुस्तिका खण्ड-2, भाग-2 से 4 तक में दिए गए अद्यावधिक संशोधित फण्डामेंटल रूल, 56 के खण्ड (सी) के अधिकारों के अन्तर्गत सरकारी सेवाओं में दक्षता सुनिश्चित करने के लिए प्रान्तीय सेवा संवर्ग के 7 पुलिस अधीक्षकों व सहायक सेनानायकों (जिनकी उम्र 31-03-2019 को 50 वर्ष अथवा इससे अधिक थी) को अनिवार्य सेवानिवृत्त किए जाने की स्क्रीनिंग कमेटी पर शासन द्वारा फैसला लेते हुए उन्हें अनिवार्य सेवानिवृत्त प्रदान की गई है।

पीपीएस अधिकारियों में 15वीं वाहिनी पीएसी आगरा के सहायक सेनानायक अरुण कुमार, अयोध्या के पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार राना, आगरा के पुलिस अधीक्षक नरेंद्र सिंह राना, 33वीं वाहिनी पीएसी झांसी के सहायक सेनानायक रतन कुमार यादव, 27वीं वाहिनी पीएसी सीतापुर के सहायक सेनानायक तेजवीर सिंह यादव, मुरादाबाद के मण्डलाधिकारी संतोष कुमार सिंह, 30वीं वाहिनी पीएसी गोण्डा के सहायक सेनानायक तनवीर अहमद खां को अनिवार्य सेवानिवृत्ति प्रदान की गई है। 

*इससे पहले इन विभागों में बड़ा एक्शन हो चुका है*
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार जीरो टालरेंस पर काम कर रही है। पिछले 2 वर्षों में योगी सरकार ने अलग-अलग विभागों के 200 से ज्यादा अफसरों और कर्मचारियों को जबरन रिटायर कर चुकी है। इन दो वर्षों में योगी सरकार ने 400 से ज्यादा अफसरों, कर्मचारियों को निलंबन और डिमोशन जैसे दंड भी दिए हैं। 

योगी सरकार ऊर्जा विभाग में 169 अधिकारियों, गृह विभाग के 51 अधिकारियों, ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट के 37 अधिकारियों, राजस्व विभाग के 36 अधिकारियों, बेसिक शिक्षा के 26 अधिकारियों, पंचायतीराज के 25 अधिकारियों, पीडब्ल्यूडी के 18 अधिकारियों, लेबर डिपार्टमेंट के 16 अधिकारियों, संस्थागत वित्त विभाग के 16 अधिकारियों, कामर्शियल टैक्स के 16 अधिकारियों, इंटरटेनमेंट टैक्स डिपार्टमेंट के 16 अधिकारियों, ग्राम्य विकास के 15 अधिकारियों, वन विभाग के 11 अधिकारियों पर कार्रवाई कर चुकी है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8067699
 
     
Related Links :-
af
महाराष्ट्र के उलटफेर के पीछे जूनियर पवार की महत्वाकांछा या अज्ञात भय
भारत की संवैधानिक व्यवस्था और लोकतंत्र की मजबूती का प्रमाण है अयोध्या का फैसला: योगी आदित्यनाथ
योगी सरकार ने भ्रष्टाचार पर किया कड़ा प्रहार, सात पीपीएस अधिकारियों को दी अनिवार्य सेवानिवृत्त*
राहुल गांधी अभी भी राजनीति में इंटर्न - पंकज शंकर
वर्तमान भारत अंग्रेजों की देन नहीं है, बल्कि प्राचीन काल से भारत सांस्कृतिक रूप से जुड़ा हुआ है : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*
भाजपा चुनाव: प्रयागराज - कीडगंज मंडल में बस संगठन नियमों की चली
विपक्ष का रवैया दुर्योधन जैसा, विकास इनकी सोच में ही नहीं: योगी आदित्यनाथ*
कश्मीरी छात्रों को योगी आदित्यनाथ ने दिया बड़ा भरोसा
हमीरपुर विधानसभा सीट भाजपा ने जीती
 
CopyRight 2016 DanikUp.com