दैनिक यूपी ब्यूरो
30/08/2019  :  09:59 HH:MM
हरियाणा को ह्रश्वलास्टिक मुक्त करने की दिशा में आमजन से अनुरोध
Total View  333

चंडीगढ़ हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आनन्द अरोड़ा ने हरियाणा को ह्रश्वलास्टिक मुक्त करने की दिशा में आमजन से अनुरोध किया है कि वे ह्रश्वलास्टिक की थैलियों का उपयोग बंद कर जूट से बने थैलों का उपयोग करें। इसके लिए उन्होंने विभिन्न संस्थानों और गैर सरकारी संस्थानों को सामुदायिक सामाजिक जिम्मेवारी (सीएसआर) के तहत जूट बैग बनाकर आमजन को वितरित करने का अनुरोध किया है। आनन्द अरोड़ा आज यहां हरियाणा में ह्रश्वलास्टिक प्रदूषण में कमी लाने के विषय पर आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रही थी।

बैठक में मुख्य सचिव ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी जिलों में विशेष तौर पर प्रत्येक माह की 5 तारीख को ह्रश्वलास्टिक फ्री दिवस के रूप में मनाया जाए और आमजन को ह्रश्वलास्टिक का उपयोग न करने के लिए जागरूक किया जाए। बैठक में बताया गया कि केंद्र सरकार द्वारा मनाई जा रही राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के दौरान विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इस श्रृंखला में 11 सितंबर से 27 अक्तूबर, 2019 तक ‘स्वछता ही सेवा’ कार्यक्रम चलाया जाएगा जिसका थीम ‘ह्रश्वलास्टिक वेस्ट श्रमदान’ होगा। इस कार्यक्रम के तहत हरियाणा को ह्रश्वलास्टिक मुक्त करने की दिशा में कार्य किया जाएगा। बैठक में बताया गया कि 6 हफ्तों तक चलाए जाने वाला यह कार्यक्रम तीन चरणों में पूरा किया जाएगा। पहला चरण 11 सितम्बर से 1 अक्तूबर, 2019 तक होगा, जिसमें लोगों को ह्रश्वलास्टिक का उपयोग न करने के लिए जागरूक किया जाएगा। स्कूलों और कॉलेजों में भी जागरूकता कार्यक्रम चलाए जाएंगे। इसके अलावा, संबंधित विभाग द्वारा ह्रश्वलास्टिक वेस्ट को एकत्र करने और उसके प्रबंधन के लिए स्थान चिन्हित किए जाएंगे। पहले चरण में ह्रश्वलास्टिक बैग के स्थान पर जूट के थैलों के प्रयोग को बढ़ावा देने के लिए भी अभियान चलाया जाएगा। इसके लिए राज्य में सामुदायिक सामाजिक जिम्मेवारी (सीएसआर) के तहत विभिन्न संस्थानों को जूट बैग बनाकर आमजन को वितरित करने
पर बल दिया जाएगा।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1490890
 
     
Related Links :-
पर्यावरण संरक्षण हेतु जनभागीदारी अति महत्वपूर्ण है: लोक सभा अध्यक्ष
*वन, पर्यटन, सांस्कृतिक समेत सम्बंधित विभाग मिलकर कार्य करें तो वन्य जीवों के संरक्षण में महत्वपूर्ण योगदान हो सकता है : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*
🎖 *पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज सफाईगिरी पुरस्कार से पुरस्कृत*
औषधीय पौधों से होगा कायाकल्प: विष्णु मित्तल
दिमाग में कुंआ, मन में मेढ़बंदी”, फिर से खुशहाल हो गए बुंदेलखंडी*
अपने घर में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम खुद लगवाए: किरण बेदी
हरियाणा को ह्रश्वलास्टिक मुक्त करने की दिशा में आमजन से अनुरोध
नी रिह्रश्वलेसमेंट करवाने वाले मरीजों ने लगाए पौधे
स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2019 एप के माध्यम से दे सकते हैं फीडबैक
पानी बचाने के कम लागत के उपाय अपनाने की जरूरत : उपायुक्त गुरुग्राम में लगाया गया पहला वाटर ट्रीटमेंट एक्सपो-2019
 
CopyRight 2016 DanikUp.com