दैनिक यूपी ब्यूरो
20/06/2019  :  11:06 HH:MM
आषाढ़ी पूर्णिमा के दिन पड़ेगा चंद्र ग्रहण
Total View  245

इस साल चंद्र ग्रहण आषाढ़ी पूर्णिमा 16-17 जुलाई की रात में पड़ रहा है। यह लगातार दूसरा साल है जब आषाढ़ी पूर्णिमा पर भारत में चंद्र ग्रहण हो रहा है। वर्ष 2018 में भी आषाढ़ी पूर्णिमा के दिन 27-28 जुलाई की मध्यरात्रि में खग्रास चंद्र ग्रहण हुआ था। इस साल करीब तीन घंटे तक आकाश में इस अद्भुत खगोलीय घटना का नजारा देखा जा सकेगा।

16-17 जुलाई की रात 1.32 बजे ग्रहण का स्पर्श होगा। रात्रि 3.01 बजे ग्रहण का मध्य रहेगा। रात्रि 4.30 बजे ग्रहण का मोक्ष होगा। चंद्र ग्रहण का कुल समय 2 घंटे 58 मिनट का रहेगा। खंडग्रास चंद्र ग्रहण का योग : इस बार आषाढ़ी पूर्णिमा 16 जुलाई को पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र,
वैधृति योग, विशिष्ट करण तथा धनु राशि के चंद्रमा की साक्षी में आ रही है। ग्रह गोचर की दृष्टि से देखें तो इस दिन खंडग्रास चंद्र ग्रहण का योग बन रहा है। यह ग्रहण पूरे भारत में दिखाई देगा। उत्तराषाढ़ा नक्षत्र तथा धनु व मकर राशि में चंद्र ग्रहण होने से अतिवृष्टि के
साथ कहीं-कहीं प्राकृतिक असंतुलन की स्थिति निर्मित होगी। ग्रहों की दृष्टि से देखें तो यह चंद्र ग्रहण धनु राशि में चंद्र-केतु-शनि की त्रिग्रही युति के साथ हो रहा है। यही नहीं इसका दृष्टि संबंध मिथुन राशि स्थित सूर्य, राहु व शुक्र की त्रिग्रही युति से बन रहा है। ग्रह युतियों में देखें तो दोनों युतियों में चार ग्रह राहु-केतु से पीडि़त हैं। इसका असर प्राकृतिक, सामाजिक व राजनीतिक प्रभावों को दर्शाएगा। 

इन क्षेत्रों में नजर आएगा ग्रहण का प्रभाव : चंद्र ग्रहण का प्रभाव शासन की कार्यप्रणाली में परिवर्तन के रूप में दिखाई देगा। अधिकारियों में कार्य का परिवर्तन होगा। सरकार में परिवर्तन होगा। चंद्र ग्रहण की युति का मंगल बुध से षड़ाष्टक योग बनेगा। मैदिनी ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस प्रकार की ग्रह स्थिति जलवायु परिवर्तन के लिए खास है। चंद्रमा की राशि कर्क में मंगल तथा बुध का गोचर वर्षा ऋ तु के चक्र को प्रभावित करेगा। धनु राशि में ग्रहण होने के कारण इस राशि वाले विशेष रूप से प्रभावित होंगे।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   5028184
 
     
Related Links :-
अयोध्या का होगा सौंदर्यीकरण, डिजीटल म्युजियम के साथ भगवान श्रीराम की लगेगी भव्य प्रतिमा*
मानव कल्याण के हर संभव प्रयास किये जाएंगे - सीए विष्णु मित्तल
गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में निकली भव्य शोभा यात्रा, सड़क पर उमड़ी हजारों की भीड़*
आर के पुरम में भव्य रामलीला का मंचन
कन्याओं के पैर पखार योगी ने लिया आशीर्वाद
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने देशवासियों को दी दुर्गा अष्टमी की बधाई*
मुख्यमंत्री योगी के निर्भीक निर्णयों को अखबारों में देखता हूं तो बहुत प्रसन्नता होती है- मोरारी बापू*
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ जी महाराज की स्मृति में गोरखपुर में आयोजित मोरारी बापू जी द्वारा राम कथा का किया शुभारंभ।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्री काशी विश्वनाथ नयति आरोग्य मंदिर का किया उद्घाटन*
एक शाम बाबा श्याम के नाम भजन संध्या आज
 
CopyRight 2016 DanikUp.com