Breaking News
डिह्रश्वलोमा इंजीनियर्स एसोसिएशन की पेन डाऊन हड़ताल शुरू  |   सिद्धू से विवाद पर इसी हफ्ते राहुल से मिलेंगे कैह्रश्वटन अमरिंदर  |   भारत ने अफगानिस्तान को शनिवार 11 रनों से हरा दिया।  |   दिल्ली में शख्स ने अपने 3 बच्चों और पत्नी की हत्या की, खुद को बताया डिप्रेशन का शिकार  |   साध्वी प्रज्ञा को हर हफ्ते पेश होने पर कोर्ट से मिली राहत  |  
 
 
दैनिक यूपी ब्यूरो
09/04/2019  :  09:20 HH:MM
भाजपा से गठबंधन को इनेलो के अंतिम प्रयास विफल
Total View  98

चंडीगढ़ हरियाणा में इनेलो और भाजपा में गठबंधन की अटकलों के बीच सोमवार को अभय चौटाला ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात करके इस गठबंधन को सिरे चढ़ाने का अंतिम प्रयास किया लेकिन उनके यह प्रयास मूर्त रूप नहीं ले सके।
भाजपा इस समय इनेलो के साथ गठबंधन करके उसे दोबारा खड़ा करने के मूढ में नहीं है। हालांकि अभय चौटाला ने इस मुलाकात को निजी मुलाकात बताया है लेकिन इनेलो अध्यक्ष अशोक अरोड़ा की मौजूदगी में हुई इस मुलाकात के कई राजनीतिक मायने हैं। गठबंधन की खबरें सुर्खियों में हरियाणा में पिछले कई दिनों से जहां कांग्रेस व आम आदमी पार्टी के बीच गठबंधन की खबरें सुर्खियों में हैं, वहीं इनेलो व भारतीय जनता पार्टी में भी गठबंधन को लेकर अटकलों का दौर चल रहा है। हरियाणा में इनेलो व भाजपा के बीच पहले भी गठबंधन हो चुका है। इनेलो अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने पिछले दिनों मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ बैठक की थी। जिसके बाद पार्टी की कार्यकारिणी की बैठक में युवा इनेलो नेता अर्जुन चौटाला ने इस गठबंधन को लेकर कार्यकर्ताओं की राय जानी थी। जिसमें ज्यादातर कार्यकर्ता इस हक में थे कि हरियाणा में इनेलो व भाजपा के बीच गठबंधन होना चाहिए। हालांकि इस मुद्दे पर विधानसभा में विपक्ष के निवर्तमान नेता अभय चौटाला कभी भी खुलकर नहीं बोले हैं लेकिन सूत्रों की मानें तो अभय चौटाला की कथित सहमति के बाद ही अशोक अरोड़ा ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की थी और उन्हीं की सहमति के बाद ही अर्जुन चौटाला ने यह मामला सार्वजनिक किया था। बुधवार से हरियाणा में लोकसभा चुनाव की अधिसूचना जारी होने जा रही है।अभय चौटाला व अशोक अरोड़ा ने सोमवार की सुबह दिल्ली स्थित हरियाणा भवन में मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात की। यह मुलाकात करीब चालीस मिनट तक चली। सूत्रों की मानें तो अभय चौटाला ने मुख्यमंत्री के समक्ष गठबंधन की पेशकश की थी। दावा किया जा रहा है कि इनेलो सुप्रीमों ओमप्रकाश चौटाला अगले सप्ताह जेल से बाहर आ रहे हैं। जिसके चलते अभय चौटाला उनके आने से पहले गठबंधन की गांठों को हलका करना चाहते थे लेकिन उनके प्रयास सिरे नहीं चढ़ सके हैं। भाजपा पहले ही आठ सीटों पर प्रत्याशियों का ऐलान कर चुकी है। भाजपा के खाते में हिसार व रोहतक की जो सीटें बची हुई हैं उनमें बदले हुए राजनीतिक समीकरणों में इनेलो का कोई खास जनाधार नहीं है। दूसरा इनेलो अगर भाजपा के साथ गठबंधन करके अपनी राजनीति को आगे बढ़ाती है तो इसका भाजपा को कोई खास लाभ नहीं मिलेगा। इस गठबंधन के दूरगामी परिणामों को देखते हुए भाजपा ने इनेलो से पल्ला झाड़ लिया है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   487420
 
     
Related Links :-
लोकसभा चुनाव २०१९ : भाजपा नेता रीतिक वधवा ने कहा रामबिलास शर्मा ने बखूबी निभाया अपनी जिम्मेदारी
ईवीएम की कड़ी सुरक्षा के लिए अतिरिक्त सुरक्षाबल तैनात
अधिकृत पत्रकारों को ही मतगणना केंद्र में जाने की अनुमति : राजीव रंजन
पोलिंग बूथ में मोबाइल, पानी की बोतल और खाने-पीने का सामान नहीं ले जा सकेंगे
चंडीगढ़, पंजाब में लोकतंत्र का महापर्व आज सभी तैयारियां पूरी, मतदान केंद्रों पर पहुंचा चुनावी अमला
मुख्य मुद्दे से ध्यान भटकाने की चालों को करें नाकाम : नैना चौटाला
सत्ता में आने पर हर वर्ग के लिए करेंगे काम
राहुल गांधी की उपस्थिति में कैह्रश्वटन अजय सिंह यादव ने दिखाई अपनी ताकत
महिलाओं का राव इंद्रजीत सिंह को भारी मतों से जिताने का संकल्प
चण्डीगढ़ की जनता सांसद किरण खेर के कार्यों से संतुष्ट: टंडन
 
CopyRight 2016 DanikUp.com