दैनिक यूपी ब्यूरो
30/03/2019  :  10:20 HH:MM
इंस्पेक्टर बनना चाहती थी सपना
Total View  556

स्टेज कार्यक्रमों से शुरूआत करने वाली सपना चौधरी आज किसी पहचान की मोहताज नहीं हैं। सपना के पास स्टारडम है, पैसा है, फैन फॉलोइंग है। बॉलीवुड से लेकर भोजपुरी सिनेमा तक सपना की चर्चा है पिछले तीन साल में उन्होंने जो कुछ हासिल किया है वह किसी सपने से कम भी नहीं है।

पर इतना सब हासिल करने के बाद भी सपना के सपने अभी अधूरे हैं। सपना ने हाल ही में कहा था कि अभी उनके सपनों की अच्छे तरीके से शुरूआत भी नहीं हुई है। बकौल सपना, अभी तो शुरूआत करनी बाकी है। बहुत सारी चीजें बाकी हैं। हालांकि बहुत सारी चीजों में सपना चौधरी को क्या पाना बाकी रह गया है। इसका उन्होंने खुलासा नहीं किया। वैसे बचपन में सपना चौधरी का इंस्पेक्टर बनने का सपना था। मगर पिता के बीमार होने की वजह से उनके घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं रहती थी। इस कारण से सपना चौधरी को पढ़ाई छोडऩी पड़ी थी। ऐसे में सपना का ये सपना अधूरा ही रह गया लेकिन रील लाइफ में सपना चौधरी के इस सपने को पंख जरूर मिले। अपनी डेब्यू मूवी ‘दोस्ती के साइड इफेक्ट्स’ में सपना चौधरी ने सिल्वर स्क्रीन आईपीएस अफसर का रोल निभाया। सपना चौधरी कई 
साक्षात्कार में पुलिस इंस्पेक्टर बनने के अपने सपने का जिक्र कर चुकी हैं।सपना ने अभय देओल की फिल्म नानू की जानू’ में आइटम सॉन्ग किया था। गाने का नाम तेरे ठुमके सपना चौधरी’ था। ये गाना सपना चौधरी की जिंदगी में खास महत्व रखता है। इस गाने का बनना सपना के लिए उनके एक सपने के साकार होने जैसा था। सपना ने खुद के नाम पर गाना बनने की खुशी जाहिर करते हुए कहा था मेरा एक सपना साकार हुआ नाम पर गाना या बायोग्राफी बनना किसी भी कलाकार के लिए बड़ी बात होती है। मेरे नाम पर गाना लिखा जाना बहुत बड़ी और खुशी की बात रही।सपना को असली पहचान बिग बॉस 11 का हिस्सा बनकर मिली। आज सपना चौधरी के पास प्रोजेक्ट्स की कमी नहीं है। उनकी जिंदगी पर आधारित फिल्म भी बनने वाली है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   7824949
 
     
Related Links :-
मैं सख्त हूं, अनुशासित हूं, पर मैं किसी को नीचा दिखाकर काम नहीं करता : मोदी
इंस्पेक्टर बनना चाहती थी सपना
गांव-गांव में तैयार करूंगा देशभक्त सैनिक-राजपूत
 
CopyRight 2016 DanikUp.com