दैनिक यूपी ब्यूरो
12/03/2016  :  10:46 HH:MM
कर्ज के शिकार दो किसानों की सदमे से मृत्यु
Total View  371

महोबकण्ठ के टिकरिया निवासी किसान टुटटी साहू (65) पर डेढ लाख रुपये साहूकारों का कर्ज था। कुलपहाड कोतवाली के मुढारी में दलित किसान देवकी अहिरवार की चार दिन पहले हुई ओला वृष्टि में सारी फसल बरबाद हो गयी थी जिससे वह सदमे में आ गया

महोबा


उत्तर प्रदेश के महोबा मे आर्थिक तंगी और कर्ज के चलते दो किसानों की सदमे से मृत्यु हो गयी। पुलिस ने बताया कि महोबकण्ठ के टिकरिया निवासी किसान टुटटी साहू (65) की छह बीघा कृषि भूमि थी। परिजनों के अनुसार किसान पर डेढ लाख रुपये साहूकारों का कर्ज था। खेत की बुवाई न होने कारण बैंक ने उसका किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) बनाने से मना कर दिया था। इस सदमें से कल रात उसकी मृत्यु हो गयी।

उन्होंने बताया कि इसी तरह कुलपहाड कोतवाली के मुढारी में दलित किसान देवकी अहिरवार की चार दिन पहले हुई ओला वृष्टि में सारी फसल बरबाद हो गयी थी जिससे वह सदमे में आ गया और आज सुबह खेत से वापस आने पर उसे अचानक दिल का दौरा पडा और मृत्यु हो गयी। देवकी पर इलाहाबाद यूपी ग्रामीण बैंक का एक लाख रूपये कर्ज था। उपजिलाधिकारी मो0 रिजवान ने कहा कि किसानों की मृत्यु पर राजस्व कर्मियों को जांच के लिए भेजा गया है रिपोर्ट मिलने पर उनके परिवार को राहत दिलाने की कोशिश की जायेगी।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8892647
 
     
Related Links :-
प्रदेश में अबतक 2680 एक्टिव केस, 3698 मरीज हुए स्वस्थ्य: प्रमुख सचिव स्वास्थ्य
कॉलेज-यूनिवर्सिटी के सिलेबस में यूपी सरकार करेगी बदलाव
यूपी सरकार का बड़ा फैसला: अब मॉल में भी खुलेंगी शराब की दुकानें
अम्फान तूफान का UP के किसी भी जिले पर नहीं होगा ज्यादा असर: मौसम विभाग
कांग्रेस विधायक ने की योगी सरकार की तारीफ
कांग्रेस विधायक ने की योगी सरकार की तारीफ
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोषणा पर जताया आभार*
कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सबका सहयोग जरूरी: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा, मेरठ और कानपुर में कोविड केयर की कमान वरिष्ठ अधिकारियों को सौंपी*
बाहरी राज्यों में फंसे यूपी के हर नागरिक को सुरक्षित घर लाना ही हमारी पहली प्राथमिकता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*
 
CopyRight 2016 DanikUp.com