Breaking News
कुंभ में जनता की गाढ़ी कमाई बर्बाद कर रही है यूपी सरकार : राजभर  |   JNU राजद्रोह केसः दिल्ली पुलिस, सरकार में शुरू हुआ दोषारोपण  |   कुंभ से UP को मिलेगा 1.2 लाख करोड़ रुपये का राजस्व, 6 लाख रोजगार: CII  |   एनसीडब्ल्यू भेजेगा साधना सिंह को नोटिस।  |   मायावती पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर फंसी बीजेपी विधायक साधना सिंह।   |  
 
 
दैनिक यूपी ब्यूरो
09/10/2018  :  12:19 HH:MM
योगी सरकार ने हटाई शस्त्र लाइसेंस पर लगी रोक, अब इन नियमों के तहत होगी हथियार प्राप्ति
Total View  225

नए नियमों में हर्ष फायरिंग करने पर शस्त्र लाइसेंस निरस्त करने का प्रावधान किया गया है। साल भर में शस्त्र लाइसेंस धारक एक समय में 100 कारतूस और एक वर्ष में अधिकतम 200 कारतूस खरीद सकता है।

लखनऊः उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शस्त्र लाइसेंस बनवाने पर लगी रोक हटा दी है। साथ ही शस्त्र लाइसेंस के लिए नई गाइडलाइन भी जारी की गई है।

इन नियमों के तहत होगी हथियार प्राप्ति

शासन की ओर से जिला मजिस्ट्रेट को आयुध नियमावली-2016 के प्रावधानों के अनुसार नए शस्त्र लाइसेंस जारी करने के निर्देश दिए गए हैं। नए नियमों में हर्ष फायरिंग करने पर शस्त्र लाइसेंस निरस्त करने का प्रावधान किया गया है। साल भर में शस्त्र लाइसेंस धारक एक समय में 100 कारतूस और एक वर्ष में अधिकतम 200 कारतूस खरीद सकता है। अब शस्त्र लाइसेंस के आवेदकों से फायरिंग कराकर उनका टेस्ट भी नहीं लिया जाएगा।

अपराध पीड़ित, वरासतन, व्यापारी-उद्यमी, बैंक-संस्थागत-वित्तीय संस्थाएं, विभिन्न विभागों के प्रवर्तन कार्य में लगे कर्मचारी, सैनिक-अर्द्धसैनिक बल-पुलिस बल के कर्मचारी के अलावा सांसद, विधायक और निशानेबाजों को वरीयता देने का प्रावधान किया गया है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   303130
 
     
Related Links :-
अखिलेश-जयंत की बैठक कल, खुलेगी गठबंधन की गांठ
राजभर ने भाजपा को दिया जीत का फार्मूला
शिवपाल यादव को मिली चाबी क्या खोलेगी किस्मत का ताला ?
अखिलेश-मायावती के गठबंधन के बाद क्या UP के मुसलमान रोकेंगे PM मोदी का विजय रथ?
भाजपा को हराने के लिए कांग्रेस से सहयोग को तैयार: शिवपाल यादव
यूपी 69000 शिक्षक भर्ती 2018: शिक्षामित्रों को लगा तगड़ा झटका
मैं ही मोदी हूं, मैं ही योगी हूं
इलाहाबाद का नाम बदलना अस्था व परम्परा के साथ खिलवाड़: अखिलेश
शिवपाल यादव को राज्य संपत्ति विभाग ने अलॉट किया नया बंगला, पहले हुआ करता था BSP कार्यालय
लखनऊ: ब्रह्मोस इंजीनियर निशांत को CJM कोर्ट ने 7 दिनों की पुलिस कस्टडी में भेजा
 
CopyRight 2016 DanikUp.com