दैनिक यूपी ब्यूरो
10/03/2016  :  21:15 HH:MM
मेरठ के नगर आयुक्त, उपाध्यक्ष एवं विकास प्राधिकरण के सचिव को किया अदालत में तलब
Total View  372

न्यायालय ने नगर में अवैध निर्माण हटाने का आदेश दिया था नेकिन आदेश का पालन नहीं किया गया। अदालत में सफाई दी गयी कि इस मामले में अपील विचाराधीन है।

इलाहाबाद
इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने संतोषजनक हलफनामा दाखिल न करने पर मेरठ के नगर आयुक्त , उपाध्यक्ष और विकास प्राधिकरण के सचिव को स्पष्टीकरण के साथ 31 मार्च को हाजिर होने का निर्देश दिया है। 
न्यायालय ने नगर में अवैध निर्माण हटाने का आदेश दिया था नेकिन आदेश का पालन नहीं किया गया। अदालत में सफाई दी गयी कि इस मामले में अपील विचाराधीन है। कोई स्थगनादेश न होने के बावजूद मकान ध्वस्त नहीं करने तथा न्यायालय से सही तथ्य छिपाने को उच्च न्यायालय ने गंभीरता से लिया है और कहा है कि क्यों न इनके खिलाफ अदालत के आदेश की अवहेलना करने के लिए अवमानना कार्यवाही के तहत दंडित किया जाए। न्यायालय ने कारण बताओ नोटिस जारी की है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3458660
 
     
Related Links :-
प्रदेश में अबतक 2680 एक्टिव केस, 3698 मरीज हुए स्वस्थ्य: प्रमुख सचिव स्वास्थ्य
कॉलेज-यूनिवर्सिटी के सिलेबस में यूपी सरकार करेगी बदलाव
यूपी सरकार का बड़ा फैसला: अब मॉल में भी खुलेंगी शराब की दुकानें
अम्फान तूफान का UP के किसी भी जिले पर नहीं होगा ज्यादा असर: मौसम विभाग
कांग्रेस विधायक ने की योगी सरकार की तारीफ
कांग्रेस विधायक ने की योगी सरकार की तारीफ
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की घोषणा पर जताया आभार*
कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सबका सहयोग जरूरी: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगरा, मेरठ और कानपुर में कोविड केयर की कमान वरिष्ठ अधिकारियों को सौंपी*
बाहरी राज्यों में फंसे यूपी के हर नागरिक को सुरक्षित घर लाना ही हमारी पहली प्राथमिकता : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ*
 
CopyRight 2016 DanikUp.com